ढाणी में लगी आग, परिवार सदस्य को बचाने के बाद खुद जिंदा जल गया
धोरीमन्ना (बाड़मेर)।
राजस्थान के बाड़मेर के धोरीमन्ना में शनिवार को  हिरकन थान के पास रहवासी ढाणी में आग लगने से एक युवक की मौत हो गई। आग लगने से पूरी ढाणी जल गई। हादसे के समय ढाणी में चार लोग थे। युवक उनको बचाने में लगा रहा। इसी बीच वह आग की चपेट में आ गया। 
धोरीमन्ना में हिरकन थान के पास हरिराम मेघवाल का परिवार रहता है। ढाणी में छत लकड़ियों से बंधी थी इनके घर में अचानक आग लग गई। हादसे के समय ढाणी के सभी सदस्य नींद में थे।उनका बेटा भाखराराम (31) हड़बड़ाकर उठा। उसने सब को जगाया। तब तक घर काफी जल चुका था और घर के सदस्यों को आग से बचाते हुए बाहर ले आया। इतनी देर में हल्ला मचने पर आस-पास के लोग वहां आ गए।लोग बाल्टियों में पानी भर कर आग बुझाने लगे। आग काफी भड़क चुकी थी इसलिए बुझाए नहीं बुझ रही थी। इसके बाद वह सामान लाने घर में गया तभी छत में लगी जलती लकड़ियां उस पर गिर गईं। सिर पर लगी चोट के कारण वह बेहोश हो गया और वहीं गिर गया।इससे वह आग की चपेट में आ गया और मिनटों में ही जल कर राख हो गया।
घरवालो  बचाने के बाद भाखरांम  ने गवाई जान
भाखराम ने हिम्मत दिखा कर घर वालों को बचा लिया।वह कुछ सामान भी बाहर ले आया, लेकिन खुद को नहीं बचा सका।भाखराम पर गिरी जलती लकड़ियों से उसकी जान चली गई। फिर वह जिंदा ही जल गया। 

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top