पूर्व सांसद चौधरी ने की मुख्य सचिव से मुलाकात, प्रतियोगी परिक्षाओं से साक्षात्कर चरण समाप्त किया जाये 
बाड़मेर 
सभी प्रकार की प्रतियोगी परिक्षाओं में साक्षात्कार चरण को समाप्त किया जाय। इस संबंध में पूर्व सांसद हरीष चौधरी ने राज्य के मुख्य सचिव ओ0 पी0 मीणा से मुलाकात कर मांग से अवगत कराया। पूर्व सांसद चौधरी ने बाड़मेर जैसलमेर जिलों का विषेश रूप से जिक्र करते हुए कहा कि इन जिलों के ग्रामीण क्षेत्रों के युवा काबिल व होषियार हैं लेकिन साक्षात्कार चरण में अन्य छात्रों के मुकाबले पिछड़ जाते हैं। लेकिन वर्श 2011 में स्कुल व्याख्याता एवं प्रधानाध्यापक परीक्षाओं में साक्षात्कार चरण समाप्त करने के बाद से इन जिलों के युवाओं का चयन में ग्राफ बढ़ा है। यही स्थिति अन्य कई क्षेत्रों की भी है। पूर्व सांसद चौधरी ने कहा कि अन्य प्रतियोगी परिक्षाओं से भी साक्षात्कार चरण को समाप्त किया जाय तो होनहार छात्रों को चयनित होने का मौका मिल सकेगा।
मुलाकात के दौरान पूर्व सांसद हरीष चौधरी ने राज्य में फैले हुए चिटफण्ड कम्पनियांे के कारोबार पर भी अंकुष लगाने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में चिटफण्ड कम्पनियांे निवेशकों को प्रलोभन देकर करोड़ों रूपये ऐंठ रही है। और कई कम्पनियों ने काम भी बंद कर दिया है। पूर्व सांसद ने काह कि इस तरह की कई छोटी बड़ी कम्पनियों बिना नियम कानून व बिना अनुमति के कार्य कर रही हैं। ये कम्पनियों किसी गांव या जिले तक सीमित नहीं है, और इन कम्पनियों ने हजारों लोगों को जाल में फांसकर आर्थिक नुकसान पहंुचाया है। पूर्व सांसद ने मांग करी की विशेष जांच दल गठित करवाकर इस तरह की चिटफण्ड कम्पनियों के विरूद्ध कार्रवाई करवाकर पीडि़तों का न्याय दिलाया जावे और साथ ही यह सुनिश्चित किया जावे की भविष्य में लोगों के साथ इस तरह की जालसाजी ना हो पायें।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top