बाड़मेर सेना भर्ती : बारिश के आठ घटे बाद कीचड़ में दौड़े युवा 
बाड़मेर.
राजस्थान के बाड़मेर ज़िला मुख्यालय पर चल रही सेना भर्ती रैली में मंगलवार को रात हुई बारिश युवाओं के लिए दुविधा बन गई। मंगलवार की रात हुई बरसात से स्टेडियम में पानी जमा रहा। बुधवार को सुबह यहां रैली के लिए पहुंचे युवा कीचड़ भरे मैदान में दौड़े। युवाओं में जज्बा था सेना में नौकरी पाने का। इसलिए जी जान से भर्ती प्रक्रिया में जुटे नजर आए। लेेकिन उनके लिए कीचड़ भरा ट्रैक खतरनाक हो गया। पानी भरे मैदान में दौड़ के दौरान कई बार युवा नीचे गिरते नजर आए। रैली प्रक्रिया के दौरान कीचड़ भरे मैदान को देख अभ्यर्थियों ने विरोध-प्रदर्शन शुरू किया। लेकिन सेना के अधिकारीयों ने किसी की नहीं सुनी। 
सेना भर्ती प्रक्रिया आयोजित कर सरकार देश की सीमाओ को सुरक्षित करने के लिए लाखो रुपए खर्च करके युवाओ को सेना में भर्ती होने के लिए प्रोत्साहित कर रही है। लेकिन बाड़मेर में आयोजित हो रही सेना भर्ती रैली में प्रशासन व सेना भर्ती रैली के आयोजको की ओर से की गई व्यवस्था को देखकर युवाओ का सेना भर्ती में शामिल होने से मोह भंग होता नजर आ रहा हैं। 
अव्यवस्थाएं हावी, कीचड़ में दौड़ अभ्यर्थी 
सेना भर्ती रैली में मंगलवार रात को बारिश के बाद मैदान में कीचड़ जमा होने से अव्यवस्थाए हावी हो गई। स्टेडियम में कीचड़ भर गया था जिसके कारण बुधवार को सेना भर्ती के लिए युवाओ को जिस ट्रेक पर दौडऩा था वहां पर पड़े कीचड़ के कारण दौडऩा तो क्या चलना भी मुश्किल था, ऐसे में आयोजको ने किसी बात की परवाह किए बिना ना तो मैदान से कीचड़ हटाया ना ही दौडऩे वाले ट्रैक को सही करवाया। अभ्यर्थियों के लिए उसी ट्रेक पर दौडऩे की व्यवस्था की जो कीचड़ से पूरी तरह सन्न गया था, ऐसे में युवाओ को उसी ट्रेक पर दौडऩा पड़ा लेकिन चन्द कदम दौड़ते ही कई लोग फि सल कर नीचे गिर गए और तय समय पर अपनी दौड़ को पूरा नहीं पाए ऐसे में आज होने वाली सेना भर्ती में अधिकांश अभ्यर्थी बाहर हो गए लेकिन आयोजको ने किसी बात की कोई परवाह नही की ट्रेक और मैदान में कीचड़ होने के बावजूद अभ्यर्थियो दौड़ाया गया। 
विरोध प्रदर्शन के साथ पहुंचे कलेक्टे्रट 
सेना भर्ती के दौरान मैदान में कीचड़ जमा होने से अभ्यर्थियों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। कुछ ही देर में जिला कलक्टर मौके पर पहुंचे उन्हौने सेना के अधिकारियों से बातचीत कर मामला शांत करवाया। 
अभ्यर्थियों का आरोप सरकार गंभीर नहीं 
सेना भर्ती रैली में आए अभ्यर्थियों ने आरोप लगाया कि एक तो सेना में हार्ड ड्यूटी दूसरी तरफ सेना भर्ती रैलियों में इस तरह की अव्यवस्थाएं फि र युवा सेना में क्यों जाए हालांकि सेना भर्ती रैली में अव्यवस्था का ये पहला मामला नहीं है, इससे पहले भी सेना भर्ती रैलियों में अव्यवस्थाओ की शिकायते आती रही है। लेकिन इस बात को लेकर न तो सरकार गंभीर है और ना ही सेना। 
ट्रैक पर उठाए सवाल
सेना भर्ती रैली के अंतिम दिन दौड़ पूरी न कर पाने वाले युवाओं ने दौड़ के लिए उपलब्ध ट्रैक पर भी सवाल उठाए। युवाओं का कहना था कि मंगलवार को हुई बारिश से चलते ट्रैक गीला होने के कारण उनका प्रदर्शन प्रभावित हुआ और वह समय पर दौड़ पूरी नहीं कर पाए। सैकड़ों युवा मैदान में कीचड़ होने से अपना भविष्य देश की सेवा करने में नहीं दे पाए हैं। लेकिन उधर, सेना के अधिकारियों के अनुसार रैली ट्रेक पर कोई अव्यवस्थाएं नहीं थी। सेना की दौड़ के लिए ट्रेक सही था। 
युवाओं को दिया अतिरिक्त समय 
जिला कलक्टर सुधीर कुमार शर्मा ने बताया की अभ्यर्थियों की शिकायत आई उसके बाद में खुद मौके पर पहुंचा। सेना के अधिकारियों से बातचीत की गई हैं। लेकिन कीचड़ के चलते मैदान खराब होने के कारण 30 सैकेंड का अतिरिक्त समय दिया गया हैं। 

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top