प्रत्येक घर में शौचालय का निर्माण एवं उपयोग सुनिष्चित करवाएंः शर्मा
बाड़मेर।
ग्राम पंचायत के प्रत्येक घर मंे शौचालय निर्माण एवं उसकी उपयोगिता सुनिष्चित करवाने को पहली प्राथकिता दी जाए। जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने शनिवार को जिला मुख्यालय पर कलेक्ट्रेट कांफ्रेस हाल में जिले मंे सितंबर माह तक प्रस्तावित ओडीएफ ग्राम पंचायतांे के सरपंचांे, ग्रामसेवकांे, उपखंड एवं विकास अधिकारियांे की समीक्षा बैठक के दौरान यह बात कही।
जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने कहा कि ग्राम पंचायतांे को खुले मंे शौच से मुक्त कराने के लिए विभागीय अधिकारियांे एवं कार्मिकांे के साथ जन प्रतिनिधियांे का सहयोग लिया जाए। उन्हांेने कहा कि ग्रामीणांे को उनके घर पर पहुंचकर शौचालय निर्माण करवाने के लिए प्रेरित किया जाए। उन्हांेने कहा कि यह अभियान केन्द्र एवं राज्य सरकार को महत्वाकंाक्षी अभियान है। इसको प्राथमिकता देते हुए प्रत्येक घर मंे शौचालय निर्माण एवं उसकी उपयोगिता सुनिष्चित करने के लिए वृहद स्तर पर प्रयास किए जाए। जिला कलक्टर शर्मा एवं जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल.नेहरा ने इस दौरान सितंबर माह तक ओडीएफ के लिए प्रस्तावित ग्राम पंचायतांे के सरपंचांे एवं ग्रामसेवकांे को ग्राम पंचायतवार व्यक्तिष अब तक हुई प्रगति पर चर्चा की। 
इस दौरान जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल.नेहरा ने कहा कि इस अभियान को सफल बनाने के लिए सबका सहयोग जरूरी है। उन्हांेने कहा कि अगर स्वच्छ भारत मिषन के तहत समन्वित प्रयास किए जाए तो प्रत्येक घर मंे शौचालय का निर्माण करवाकर उसकी उपयोगिता सुनिष्चित करना कोई बड़ा काम नहीं है। उन्हांेने कहा कि ग्रामीणांे को शौचालय के फायदांे से अवगत कराने के साथ उनके व्यवहार मंे परिवर्तन लाने का प्रयास किया जाए। उन्हांेने बताया कि प्रत्येक उपखंड मुख्यालय पर उपखंड अधिकारी को प्रभारी अधिकारी तथा संबंधित विकास अधिकारी को सह प्रभारी अधिकारी नियुक्त किया गया है। प्रत्येक ग्राम पंचायत पर नोडल अधिकारी भी नियुक्त कर इस अभियान मंे सभी जन प्रतिनिधियांे, विभागीय कार्मिकांे का सहयोग लेकर सक्रिय भागीदारी निभाने के निर्देष दिए गए है। इस दौरान जिला समन्वयक पुष्पेन्द्रसिंह सोढा ने कहा कि प्रस्तावित ओडीएफ ग्राम पंचायतांे मंे डीआरजी सदस्यांे का कैलेडर जारी कर दिया गया है। इसके तहत 19 से 30 सितंबर तक संबंधित ग्राम पंचायतांे मंे मोर्निग फालोअप, टिगरिंग तथा निगरानी कमेटियांे की ओर से जन जागरूकता का कार्य किया जाएगा। उन्हांेने कहा कि इस अभियान मंे अधिकाधिक लोगांे की भागीदारी सुनिष्चित करने का प्रयास किया जाए।
समीक्षा बैठक के दौरान प्रत्येक ग्राम पंचायत के प्रत्येक वार्ड मंे निगरानी कमेटी गठित करने के निर्देष दिए गए। इसमें ग्रामसेवक, पटवारी, राषन डीलर , एएनएम, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, साक्षरता प्रेरक, अध्यापक, वार्ड पंच एवं गणमान्य नागरिकांे को शामिल किया जाए।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top