बाड़मेर पुलिस की अनूठी पहल, सेवानिवृत जवानो का मिलेगा साथ
बाड़मेर।
जम्मू कश्मीर के उरी में हुए हमले के बाद हाई अलर्ट पर आई सरहद में सेना की बढ़ चुकी मुस्तेदी के बाद अब पुलिस ने भी गम्भीर कदम बढ़ाने शुरू कर दिए है।बाड़मेर पुलिस ने सरहदी थानों पर तैनात जवानों को अत्याधुनिक हथियारों को सिखाने के साथ साथ सेवानिवृत हो चुके सेना के जवानों की सूचि बनाई जा रही है जिससे किसी भी स्थिति में उनकी मदद ली जा सके।
भारत पाकिस्तान सरहद पर बसा राजस्थान टकटकी लगाए दिल्ली और जम्मू कश्मीर की तरफ देख रहा है।ये दोनों वही जगह है जिससे यहां लगती 1070 किलोमीटर लंबी सरहद पर क्या होगा,क्या नहीं यह तय होने वाला है। आम तौर पर शांत सरहद कहि जाने वाली राजस्थान की सरहद भी उरी में हुए हमलों के बाद हाई अलर्ट पर डाल दी गई है। गृह विभाग से मिले आदेशो के बाद सीमावर्ती इलाकों में विशेष चौकसी बरती जा रही है साथ ही सीमावर्ती थानों में तैनात जवानों को अत्याधुनिक हथियारों की तालीम भी शुरू कर दी गई है
पांच -पांच के ग्रुप में शुरू हुई ट्रेनिग के अलावा इलाके में सेवानिवृत हो चुके सेना,बीएसएफ और पेरामिल्ट्री सेना के अधिकारियो और जवानों की सूचियां भी तैयार की जा रही है।इन सूचियों के बन जाने के बाद किसी भी तरह के हालातों में इनकी मदद ली जा सके।बाड़मेर पुलिस अधीक्षक डॉक्टर गगनदिप सिंह सिंगला के मुताबित इन लोगो पुलिस मित्र मंडल नाम से बनने वाले संगठन से भी जोड़ा जाएगा।
सरहद पर तैनात सीमा सुरक्षा बल की चौकसी के अलावा पुलिस ने आम जनता से भी किसी भी संदिग्ध गतिविधि पर नजर रखने की अपील की जा रही है।बाड़मेर से लगती पाकिस्तान की 270 किलोमीटर पर तैनात थाने युद्ध सरीखी स्थिति से निपटने के लिए तैनात है इसके लिए बाड़मेर समय समय पर पुलिस सेना से संवाद कर रही है। भारत पाकिस्तान के बिगड़ चुके रिस्तो के बाद युद्ध होगा या नही यह आने वाला कल तय करेगा लेकिन सरहदी राजस्थान के थाने और पुलिस हर हालत से निपटने को तैयार है।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top