अब विद्यार्थी लिखेंगे खुले में शौच से मुक्ति जागरूकता के लिए अभिभावको को पत्र
बाड़मेर।
जिले में इस बार शिक्षक दिवस पर 2 लाख 23 हजार 568 विद्यार्थी स्वच्छ भारत मिशन से जुड़कर ग्रामीण इलाकांे मंे शौचालय निर्माण एवं उसकी उपयोगिता सुनिश्चित करने मंे महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। इसके लिए जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल.नेहरा ने शिक्षा विभाग के अधिकारियांे को निर्देशित किया है। जिले मंे यह पहला मौका होगा, जब वृहद स्तर पर बच्चे किसी अभियान मंे सक्रिय भूमिका निभाएंगे।
बाड़मेर जिले मंे 569 माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक विद्यालयांे के 1 लाख 48 हजार 431 एवं 5958 प्राथमिक तथा उच्च प्राथमिक विद्यालयांे के 75137 विद्यार्थी अपने परिजनांे को स्वच्छ भारत मिशन के तहत अपने घर मंे शौचालय निर्माण एवं उपयोग सुनिश्चित करने के लिए पत्र लिखेंगे। इस अभियान को 14458 शिक्षक अमलीजामा पहनाएंगे। जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल.नेहरा ने बताया कि जिला परिषद की ओर से स्वच्छ भारत मिशन मंे आमजन की भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए वृहद स्तर पर प्रयास किए जा रहे है। इसके तहत शिक्षक दिवस पर विद्यार्थियांे एवं अध्यापकांे की भागीदारी से आमजन को इस अभियान से जोड़ने की कवायद के तहत बाड़मेर जिले मंे यह नवाचार किया जाएगा। इसको लेकर वृहद स्तर पर कार्य योजना तैयार की गई है। शिक्षा विभाग की ओर से संबंधित संस्था प्रधानांे को इसकी क्रियान्विति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए है। उनके मुताबिक इससे ग्राम पंचायतांे को खुले मंे शौच से मुक्त करवाकर ओडीएफ घोषित करवाने के प्रयास को बल मिलेगा।
उन्हांेने बताया कि विद्यार्थी अपने परिजनांे को लिखे गए पर उनके हस्ताक्षर एवं टिप्पणी करवाने के उपरांत पुनः विद्यालय मंे जमा करवाएं। इस पत्र मंे यह भी अंकित करवाया जाएगा कि संबंधित विद्यार्थी के घर मंे शौचालय बना हुआ है अथवा नहीं। अगर शौचालय नहीं बना हुआ तो उस परिवार को संबंधित विद्य़ार्थी के अलावा संस्थान प्रधान, गणमान्य नागरिकांे एवं शिक्षकांे के जरिए इसका निर्माण करवाकर उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। इधर, जिला शिक्षा अधिकारी डी.डी.खींची ने एक आदेश जारी कर विद्यालयांे मंे प्रतिदिन प्रार्थना सभा के दौरान खुले मंे शौच से मुक्त अभियान के तहत विभिन्न गतिविधियां आयोजित करवाने के निर्देश दिए गए है। आदेश के मुताबिक शनिवारीय बाल सभा या अन्य अवसरांे पर लघु नाटिकाएं आयोजित कर खुले मंे शौच से होने वाली हानि एवं उससे बचाव के बारे मंे जानकारी दी जाए।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top