हमारे जवानों का बलिदान नहीं जाएगा बेकार, पाक को विश्व में अकेले रहने पर मजबूर कर देंगे: पीएम मोदी
कोझीकोड।
प्रघानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान के हुक्मरानों पर आतंकवादियों के आकाओं के इशारों पर नाचने का आरोप लगाते हुए शुक्रवार को उसे चेतावनी दी कि उरी हमले में 18 जवानों का बलिदान खाली नहीं जाएगा और पाकिस्तान को विश्व में अलग-थलग करके अकेले रहने को मजबूर कर दिया जाएगा। 
मोदी ने उत्तरी केरल के ऐतिहासिक शहर कोझिकोड में भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय परिषद की बैठक में हिस्सा लेने आए मोदी ने यहां एक जनसभा को संबोधित करते हुए पहली बार उरी के सैन्य शिविर पर सीमापार आतंकवादियों के हमले पर प्रतिक्रिया दी। 
उन्होंने भारत की धरती से पाकिस्तान की अवाम को संबोधित करते हुए कहा कि वे अपने हुक्मरानों से पूछें कि भारत और पाकिस्तान दोनों 1947 में आजाद हुए थे तो क्यों भारत सॉफ्टवेयर निर्यात करने के लिए जाना जाता है और पाकिस्तान आतंकवाद के निर्यात के लिए।
उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के हुक्मरान आतंकवादियों के आकाओं के लिखे भाषण पढ़ कर कश्मीर के गीत गा रहे हैं। आतंकवादियों के लिखे भाषण पढऩे वालों से दुनिया को कोई अपेक्षा नहीं है। इसलिए वह पाकिस्तान की अवाम से सीधी बात करना चाहते हैं। 
उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की अवाम को उनसे पूछना चाहिए कि वे पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर, गिलगित, सिंध, पख्तूनख्वा, बलूचिस्तान को संभाल नहीं पा रहे हैं तो क्यों कश्मीर की बात करके गुमराह कर रहे हैं। 
मोदी ने कहा कि पाकिस्तान की अवाम अपने हुक्मरानों से कहे कि घर में जो हैं, उन्हें तो ढंग से संभाल कर दिखाओ। उन्होंने कहा कि वह पाकिस्तान की अवाम को याद दिलाना चाहते हैं कि 1947 से पहले उनके पूर्वज और हमारे पूर्वज एक ही अखण्ड हिन्दुस्तान को प्रणाम करते थे। इसी मिट्टी को अपनी मिट्टी मानते थे। उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी हुक्मरानों ने अपने अवाम को गुमराह करने के लिए बार-बार कहा है कि वे हिन्दुस्तान से एक हजार साल लड़ेंगे। 
पाकिस्तानी की चुनौती स्वीकार करने को तैयार
उन्होंने कहा कि दिल्ली में बैठी सरकार उन पाकिस्तानी हुक्मरानों की चुनौती स्वीकार करने को तैयार है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की अवाम अगर आपको हिन्दुस्तान से लडऩा है तो आओ, हिम्मत है तो लड़ो और देखते हैं कि गरीबी को सबसे पहले कौन खत्म करता है। इस लड़ाई में कौन जीतता है, हिन्दुस्तान या पाकिस्तान। प्रधानमंत्री ने पाकिस्तान के नौजवानों को बेरोजगारी के खिलाफ, बालकों से अशिक्षा के खिलाफ और शिशुओं एवं सद्यप्रसूता माताओं की मृत्यु के खिलाफ जंग में भारत से मुकाबले करने का आह्वान किया और पाकिस्तान के नेताओं को साफ तौर पर चेतावनी दी कि उरी हमले में 18 जवानों की शहादत बेकार नहीं जाएगी। 
जवानों का बलिदान बेकार नहीं जाएगा
उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के हुक्मरान सुन लें, हमारे 18 जवानों का बलिदान बेकार नहीं जाएगा। उन्होंने कहा कि भारत पाकिस्तान को दुनिया में अलग थलग करने में सफल रहा है। उन्होंने कहा कि हम विश्व में आपको मजबूर कर देंगे, अकेले रहने के लिए। उन्होंने यह भी कहा कि वह दिन दूर नहीं है जब पाकिस्तान की अवाम पाकिस्तानी हुक्मरानों के आतंक के खिलाफ लड़ाई लडऩे सड़क पर आएगी।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top