लेखाकार लेखाकार प्रतियोगी पुनः परीक्षा 4 अक्टूबर को, निष्पक्ष एवं सुचारू रूप से सम्पन्न करवाने को पुख्ता प्रबन्ध
बाड़मेर ।
कनिष्ठ लेखाकार एवं तहसील राजस्व लेखाकार प्रतियोगी पुनः परीक्षा 2013 मंगलवार 4 अक्टूबर को प्रातः 10 बजे से दोपहर 12.30 बजे तक एवं दोपहर 2.30 बजे से सायं 5.00 बजे तक दो सत्र में जिला मुख्यालय पर आयोजित की जाएगी। जिले में निष्पक्ष एवं सुचारू रूप से सम्पन्न करवाने के लिए पुख्ता प्रबन्ध किये गये है।
शुक्रवार को अतिरिक्त जिला कलक्टर ओ.पी. बिश्नोई की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में परीक्षा को सुव्यवस्थित रूप से सम्पादित कराये जाने हेतु तैयारियों की समीक्षा की गई। इस अवसर पर अतिरिक्त जिला कलक्टर बिश्नोई ने कहा कि उक्त परीक्षा को निष्पक्ष एवं सुचारू रूप से सम्पन्न कराने के लिए आयोग से प्राप्त निर्देशों की पूर्ण पालना सुनिश्चित की जाए। उन्होने कहा कि परीक्षा के दोरान अभ्यार्थियों की अवांछनीय गतिविधियों पर विशेष नजर रखी जाए। उन्होने कहा कि अभ्यार्थियों के परीक्षा केन्द्र में प्रवेश से पूर्व उनकी पूर्ण तलाशी ली जाए ताकि परीक्षा के दौरान नकल पर अंकुश लग सकें। साथ ही गलत परीक्षार्थी प्रवेश नहीं हो सके इसके लिए अभ्यार्थी की फोटो एवं रोल नम्बर का पूर्ण सावधानी से मिलान करने के पश्चात् ही परीक्षा केन्द्र में प्रवेश दिया जाए।
अतिरिक्त जिला कलक्टर ने कहा कि यह परीक्षा दुबारा आयोजित की जा रही है इसलिए सभी की जिम्मेवारी बढ जाती है ऐसे में परीक्षा के दौरान पूर्ण सतर्कता बरती जाए। किसी प्रकार की कौताही पाये जाने पर सख्त कार्यवाही की जाएगी। उन्होने कहा कि परीक्षा के दौरान केन्द्राधीक्षक एवं पर्यवेक्षक के अलावा अन्य किसी को मोबाईल साथ लाने की अनुमति नहीं दी जाएगी। उन्होने बताया कि निर्धारित समय के 10 मिनट पश्चात् किसी भी परीक्षार्थी को प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी। उन्होने बताया कि अभ्यर्थी को प्रवेश पत्र के साथ एक फोटोयुक्त मूल पहचान पत्र साथ लाना आवश्यक होगा। उन्होने बताया कि प्रत्येक परीक्षा केन्द्र पर वीडियोग्राफर की व्यवस्था की गई है तथा परीक्षा संबंधी सम्पूर्ण गतिविधियों की वीडियोग्राफी करवाई जाएगी।
उन्होने बताया कि परीक्षा को सुचारू रूप से सम्पादित किये जाने हेतु जिला आबकारी अधिकारी मोहनलाल पूनिया, जिला शिक्षा अधिकारी मा0 गोरधनलाल सुथार एवं सहायक निदेशक आर्थिक एवं सांख्यिकी विभाग हीरालाल मालू को उप समन्वयक नियुक्त किया गया है। इसी प्रकार उपखण्ड अधिकारी रामसर रोहित कुमार, उपखण्ड अधिकारी बायतु अन्जूम ताहीर एवं उपखण्ड अधिकारी शिव चन्द्रभानसिंह भाटी के नेतृत्व में तीन सतर्कता दल बनाये गये है। सतर्कता दलों में पुलिस उप अधीक्षक के अलावा एक अन्य अधिकारी तैनात रहेंगे। इसी प्रकार परीक्षा के दोरान परीक्षार्थियों द्वारा अनुचित साधनों का प्रयोग एवं अनुचित लाभ प्राप्त करने के प्रयासों की रोकथाम के लिए विशेष जांच दलों का गठन किया गया है।
इस दौरान अतिरिक्त जिला पुलिस अधीक्षक रामेश्वर लाल ने कहा कि परीक्षा के दौरान केन्द्राधिक्षक की भूमिका महत्वपूर्ण होती है, ऐसे में उन्हे पूर्ण सतर्क रहते हुए गम्भीरता के साथ कार्य को अंजाम देना होगा। उन्होने बताया कि परीक्षा के दौरान पूर्ण सतर्कता बरती जाए तथा किसी प्रकार का सन्देह होने पर गहनता से चैक किया जाए। उन्होने बताया कि सफलतापूर्वक परीक्षा के आयोजन के लिए प्रत्येक परीक्षा केन्द्र पर माकुल पुलिस प्रबन्ध किए जाएगें। इसके अलावा मोबाईल एवं स्कवायर्ड टीम भी लगातार गश्त करेंगी। 
बैठक के दौरान दक्ष प्रशिक्षक डॉ. लक्ष्मीनारायण जोशी ने परीक्षा आयोजन, पेपर वितरण, पेपर संकलन, परीक्षा सामग्री पैकिंग करने समेत विभिन्न पहलुओं के बारे में पॉवर प्रजन्टेशन के जरिये विस्तार के साथ जानकारी कराई। बैठक में उप समन्वयक, केन्द्राधीक्षक, पर्यवेक्षक सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top