बाड़मेर अकाल राहत आरम्भ कर राहत दी जाये - पूर्व सांसद चौधरी 
बाड़मेर  
क्षेत्र की विकट स्थितियों को देखते हुए सरकार अकाल राहत गतिविधियों को शीघ्र आरम्भ करें। पूर्व सांसद हरीश चौधरी ने आज बाड़मेर जिले के सीमावर्ती क्षेत्रों का दौरा करने के सरकार से मांग की है कि क्षेत्र में मानसून नहीं आया है। पशुओं के लिए चारे पानी का भयंकर संकट है। उन्होंने कहा कि पूर्व में नाममात्र की शुरू की हुई चारे की व्यवस्था को भी प्रशासन ने बंद कर दिया है। पूर्व सांसद ने कहा कि क्षेत्र के लोगों के जीवन यापन का मुख्य आधार कृषि व पशुपालन है लेकिन बारिश के अभाव में दोनों ठप्प है।
पूर्व सांसद हरीश चौधरी ने कहा सरकार करोड़ों रूपये अनावश्यक कार्यक्रमों एवं प्रचार प्रसार पर खर्च कर रही है जबकि सीमावर्ती क्षेत्र के लोगों की कोई सुनवाई नहीं है। सरकार फसल बीमा योजनआों के दिखावे के नाम पर लोगों के हितों पर कुठाराघात कर रही है जो गलत है। पूर्व सांसद चैधरी ने मंगलवार को सीमावर्ती भंवार, नवातला बाखासर, गोहड़ का तला, गागरिया, गड़रा, भोजारिया सहित कई ग्राम पंचायतों का दौरा कर क्षेत्र की विकट स्थिति से रूबरू हुए। इस दौरान सांसद चौधरी को स्थानीय जन प्रतिनिधियांे और ग्रामीणों ने स्थानीय समस्याओं से अवगत कराया। पूर्व सांसद हरीश चौधरी ने दौरे में भंवार पूर्व सरपंच गुलाम हुसेन, झडपा सरंपच मुस्ताक, एकल में ठाकराराम भांभू, गोहड का तला में मेघाराम गढ़वीर, गडरारोड में पूर्व सरपंच रमेश चण्डक के यहां ग्रामीणों से मुलाकात की।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top