बाड़मेर। टीम ने ग्रामीणों को कहा खुले में शौच नहीं जाए, घर-घर शौचालय बनाएं
बाड़मेर।
स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण एवं डब्ल्यूएसपी के सहयोग से जिला स्तरीय संदर्भ समूह के प्रशिक्षण के दौरान विशाला एवं भादरेस मंे फील्ड विजिट के दौरान टिंगरिग एवं मोनेटरिंग फालोअप के माध्यम से समुदाय को खुले मंे शौच बंद करने के लिए समुदाय स्वचालित संपूर्ण स्वच्छता विधि से प्रेरित किया गया। साथ ही ग्राम स्तर पर एक-एक निगरानी दलांे का गठन किया गया। यह निगरानी समितियां प्रतिदिन खुले में शौच जाने वाले लोगो को इससे होने वाली बीमारियो  एवं महिलाआंे के सम्मान के लिए समुदाय को जागरूक कर ग्राम पंचायत को खुले मंे शौच से मुक्त करने के लिए प्रेरित करेंगे। इस दौरान आमजन ने यह निर्णय लिया कि वे अपनी ग्राम पंचायतांे को खुले मंे शौच से मुक्त करवाकर ओडीएफ ग्राम पंचायत घोषित करवाएंगे। जिला संदर्भ समूह के प्रशिक्षार्थियांे को फील्ड विजिट के दौरान समुदाय संचालित संपूर्ण स्वच्छता गतिविधियांे के टूल्स से अवगत कराया गया। इन टूल्स का उपयोग जिले की अन्य ग्राम पंचायतांे मंे डीआरजी के माध्यम से प्रभावी रूप से क्रियान्वित किया जाएगा। ताकि ग्रामीण स्वयं प्रेरित होकर शौचालयांे का निर्माण एवं उसका उपयोग कर अपनी ग्राम पंचायत को खुले मंे शौच से मुक्त बनाने मंे सक्रिय योगदान दे सके। इस दौरान विकास अधिकारी नवलाराम चौधरी, जिला परियोजना समन्वयक पुष्पेन्द्रसिंह सोढा, डब्ल्यूएसपी के चेतन अत्रे, रमेश अग्रवाल, प्रदीप श्रीवास्तव, पंचायत प्रसार अधिकारी ओंकारदान, ब्लाक मोटिवेटर गोविन्दसिंह, सरपंच दीपसिंह समेत आंगनबाड़ी कार्यकर्ताआंे एवं प्रेरकांे, तथा गणमान्य नागरिकांे ने कार्यक्रम मंे शिरकत की। इसी तरह राणीगांव ग्राम पंचायत मंे भी फील्ड विजिट के दौरान टिंगरिग एवं मोनेटरिंग फालोअप के माध्यम से समुदाय को खुले मंे शौच बंद करने के लिए समुदाय स्वचालित संपूर्ण स्वच्छता विधि से प्रेरित किया गया।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top