बाड़मेर पूजा को मिलेगी ब्लड कैंसर की दवाइयां, अनियमितता की होगी जांच
जिला कलक्टर सुधीर शर्मा की पहल पर जन सुनवाई में हुई अनशन खत्म करने घोषणा
बाड़मेर।
जिला मुख्यालय पर गुरूवार को अटल सेवा केन्द्र मंे आयोजित हुई जिला स्तरीय जन सुनवाई में कई प्रकरणांे का निस्तारण कर आमजन को राहत पहुंचाई गई। इस दौरान जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने ब्लड कैंसर से पीड़ित बालिका को स्थानीय स्तर पर उपचार एवं निःशुल्क दवाइयां उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। वहीं अनियमितता के एक मामले मंे कल्याणपुर विकास अधिकारी को पुलिस स्टेशन मंे एफआईआर दर्ज करवाने तथा टांका निर्माण से संबंधित अनियमितता के मामले मंे कमेटी से जांच कराकर एक सप्ताह मंे रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए।
अटल सेवा केन्द्र मंे जिला कलक्टर सुधीर शर्मा, पुलिस अधीक्षक डा.गगनदीप सिगला, चैहटन विधायक तरूणराय कागा, अतिरिक्त जिला कलक्टर ओ.पी.बिश्नोई समेत विभिन्न विभागीय अधिकारियांे की उपस्थिति मंे आयोजित हुई जन सुनवाई के दौरान आमजन की ओर से पेश किए गए परिवादांे का मौके पर निस्तारण किया गया। इस दौरान मिठड़ाउ निवासी इन्द्राराम पुत्र परसूराम ने जिला कलक्टर शर्मा के समक्ष फरियाद की कि उसकी पुत्री पूजा को ब्लड कैंसर हो रखा है। अगर स्थानीय स्तर पर उपचार के साथ निःशुल्क दवाइयां उपलब्ध हो जाए तो उसको खासी राहत मिल सकती है। जिला कलक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा.एस.के.बिष्ट को इस बालिका के उपचार एवं निःशुल्क दवाइयां उपलब्ध कराने के संबंधित यथासंभव सहयोग कराने के निर्देश दिए। उन्हांेने कहा कि इसके लिए उच्च स्तर से परामर्श लिया जाए, साथ ही यह पता लगाया जाए कि कौन-कौनसी दवाइयां उपलब्ध कराई जा सकती है। इस दौरान नरेगा कार्याें मंे अनियमितता संबंधित प्रकरण मंे अतिरिक्त जिला कार्यक्रम समन्वयक सुरेश कुमार दाधीच ने जिला कलक्टर को बताया कि जांच के लिए परियोजना अधिकारी लेखा, अधीक्षण एवं सहायक अभियंता की एक कमेटी गठित की गई है। जिला कलक्टर ने आगामी सात दिनांे मंे जांच रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। इस प्रकरण को लेकर जन सुनवाई मंे पहुंचे ग्रामीणांे से जिला कलक्टर ने अनुरोध किया कि वे अब अनशन समाप्त कर दें, इस मामले मंे जांच हो जाएगी। इस पर ग्रामीणांे ने जन सुनवाई मंे ही अनशन समाप्त करने की घोषणा की। इसी तरह अनियमितता के एक अन्य मामले मंे जिला कलक्टर शर्मा ने कल्याणपुर पंचायत समिति के विकास अधिकारी को संबंधित के खिलाफ पुलिस मंे प्रकरण दर्ज कराने के निर्देश दिए। जन सुनवाई के दौरान बाड़मेर उपखंड अधिकारी एच.आर.मेहरा, अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी डा.गुंजन सोनी, जिला सूचना एवं विज्ञान अधिकारी दिलीप जैन, आर्थिक एवं सांख्यिकी विभाग के सहायक निदेशक हीरालाल मालू, जिला रसद अधिकारी राकेश शर्मा, जिला परिवहन अधिकारी डी.डी.मेघानी, सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता जे.आर.जीनगर, डिस्काम के अधीक्षण अभियंता जी.आर.सिरवी, महिला एवं बाल विकास विभाग की उप निदेशक सती चैधरी, नगर परिषद आयुक्त श्रवण विश्नोई समेत विभिन्न विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।
जन सुनवाई के दौरान परिवादी जोगाराम ने एक निजी स्कूल की ओर से विद्यार्थियांे को अन्यंत्र प्रवेश के लिए स्थानातंरण प्रमाण पत्र नहीं दिए जा रहे है। इस पर जिला कलक्टर ने जिला शिक्षा अधिकारी को आवश्यक कार्रवाई करवाने के निर्देश दिए। इसी तरह उम्मेदाराम ने निर्धारित स्थान प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का निर्माण करवाने, बिठूजा मंे धुपाई कार्य बंद करवाने, नारायणदास सिंधी ने महावीर नगर मंे पूर्व मंे आवंटित भूखंड की जगह दूसरा भूखंड आवंटित करवाने, पचपदरा मंे अवैध शराब की बिक्री रूकवाने, शास्त्रीनगर मंे खुला नाला बंद करवाने, सरली निवासी भंवरीदेवी ने बीपीएल सूची मंे नाम जुड़वाने,शांति विश्नेाई ने महावीर नगर मंे सफाई व्यवस्था सुनिश्चित करवाने, वार्ड 23 मंे स्पीड ब्रेकर बनवाने, बलदेवनगर निवासी तेजाराम माचरा ने सुविधाएं उपलब्ध नहीं कराने के बावजूद विकास शुल्क की वसूली करने, नाथूराम ने पेंशन दिलवाने, शांति देवी ने रास्ता खुलवाने, बीजावल मंे सड़क मार्ग से रेत हटवाने, डांडियावास मंे आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के चयन की जांच करने, तनेराम नगर मंे अतिक्रमण हटवाने, तारातरा मठ मंे मनरेगा का बकाया भुगतान दिलवाने, मारूड़ी मंे अवैध खनन रूकवाने, तिलवाड़ा मंे डीडीटी का छिड़काव करवाने समेत विभिन्न समस्याआंे को लेकर परिवाद पेश किए गए।
मनरेगा के प्रकरणांे का मौके पर निस्तारणः जन सुनवाई के दौरान सनाउ निवासी पदमोदेवी ने मनरेगा का भुगतान जमा नहीं होने, कमला देवी ने आवास निर्माण करवाने समेत अन्य भुगतान संबंधित प्रकरण प्रस्तुत किए गए। इस दौरान अतिरिक्त जिला कार्यक्रम समन्वयक सुरेश कुमार दाधीच ने इनके प्रकरणांे का मौके पर निस्तारण करते हुए परिवादियांे को वस्तुस्थिति से अवगत कराया। पदमोदेवी समेत अन्य श्रमिकांे को उनके खाते मंे राशि जमा होने का विवरण भी उपलब्ध कराया गया।
जिला कलक्टर ने कहा समस्या नहीं सुलझे तो रात्रि चौपाल मंे आएः जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने एक अतिक्रमण के मामले मंे बाड़मेर तहसीलदार नानगाराम चैधरी को कार्रवाई करने के निर्देश दिए। उन्हांेने परिवादी से कहा कि अगर अतिक्रमण नहीं हटता है तो शुक्रवार 12 अगस्त को चवा मंे उनकी रात्रि चौपाल है, जहां पर आकर वे वस्तुस्थिति से अवगत करवाएं।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top