रामदेवरा मेले की व्यवस्थाओं को लेकर संभागीय आयुक्त रतन लाहोटी ने ली महत्वपूर्ण बैठक, श्रद्धालुओं को मिले बेहतर व्यवस्थाएं
जैसलमेर। 
जैसलमेर जिले में आगामी 03 सितंबर से प्रारंभ हो रहे 632 वें जग विख्यात बाबा रामदेवरा मेले की व्यवस्थाओं व पूर्व तैयारियों की समीक्षा के लिए संभागीय आयुक्त रतन लाहोटी ने रामदेवरा के ग्रामपंचायत सभागार में शुक्रवार को कलक्टर मातादीन शर्मा, जोधपुर जिला कलक्टर विष्णुचरण मलिक ,जोधपुर ग्रामीण पुलिस अधीक्षक हरेन्द्र कुमार, एसपी गौरव यादव , सहित अधिकारियों, जनप्रतिनिधियों व मेले से जुड़े विभिन्न पदाधिकारियों की बैठक ली और आवश्यक निर्देश दिए।
बैठक के दौरान उपनिदेषक स्थानीय निकाय जोधपुर हरिसिंह राठौड़ ,सरपंच रामदेवरा श्रीमती भूरीदेवी ,मेलाधिकारी एवं उपखण्ड अधिकारी पोकरण काषीराम चैहान, मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद नारायणसिंह चारण ,विकास अधिकारी टीकमाराम चैधरी के साथ ही अन्य सभी विभागों के अधिकारीगण और जनप्रतिनिधिगण मौजूद थेै।
संभागीय आयुक्त ने कहा कि मेले के दौरान कानून व्यवस्था चाक-चैबंद रहे तथा श्रद्धालुओं को बेहतरीन माहौल उपलब्ध हो और उन्हें यहां आकर अच्छा महसूस हो, इसके लिए जरूरी है कि मेले से जुड़े सभी अधिकारी एवं अन्य व्यक्ति आपसी समन्वय के साथ मिल-जुलकर काम करें। उन्होंने कहा कि मेले में जिला प्रशासन, पुलिस सहित सभी महत्वपूर्ण विभागों के साथ-साथ ग्राम पंचायत व मेला समिति की महत्वपूर्ण भूमिका है, इसलिए सभी सकारात्मक सोच व निष्ठा के साथ काम करते हुए मेले की व्यवस्थाओं को अंजाम दें।
संभागीय आयुक्त श्री लाहोटी कि इस बार बाबा रामदेव जी के मेले के दौरान आने वाले समस्त श्रृद्धालुओं को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करावें इसके लिए पुलिस एवं प्रषासनिक अधिकारीगण के साथ ही मेला समिति संपूर्ण व्यवस्थाएॅ समय रहते अभी से ही चाक-चैबन्द करदें। उन्होंने निर्देष दिए कि मेला व्यवस्थाओं से जुड़े सभी अधिकारीगण इस बार अगामी 19 अगस्त शुक्रवार से ही अपनी-अपनी सेवाएं प्रारंम्भ करना सुनिष्चित करावें। उन्होंने बैठक में मंदिर समिति को निर्देष दिए कि वे मंदिर परिसर और बाहर महत्वपूर्ण सी.सी.टीवी कैमरों की समुचित व्यवस्था कर दें।
उन्होंने पुलिस, परिवहन व रोडवेज अधिकारियों से कहा कि वे मेले के दौरान सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए हरसंभव इंतजाम करें तथा रिफ्लेक्टर आदि के लिए लोगों को जागरुक करें। उन्होंने सानिवि अधिकारी से कहा कि सड़क के दोनों तरफ पैदल यात्रियों के लिए बम्र्स सही कर दिए जाएं ताकि जातरु सड़क पर पैदल नहीं चलें और हादसों से बचा जा सके। उन्हांेने निर्देष दिए कि मुख्यमंत्री बजट घोषणा के अनुरुप पैदलयात्रियों की सुविधा के लिए ट्रेक निर्माण का कार्य तत्काल पूरा करवा दें।
उन्होंने डिस्काॅम एसई से कहा कि पेयजल सप्लाई के दौरान बिजली कटौती नहीं होनी चाहिए तथा बिजली के तार खुले व ढीले नहीं रहने चाहिए। मेला स्थल व यात्रा मार्ग में अंधेरा नहीं रहे। उन्होंने रोडवेज अधिकारियों से कहा कि मेले के दौरान समुचित संख्या में बसें लगाएं तथा यात्रियों को सुरक्षित सफर कराएं। समयपूर्वक आवश्यकता के मुताबिक अतिरिक्त बसें शुरू करवा दें। उन्होंने पुलिस व परिवहन अधिकारियों से कहा कि रोडवेज व प्राइवेट बसें अपनी नियत स्थानों पर ही रूकें, इसकी भी सुनिश्चितता की जानी चाहिए। रोडवेज अधिकारियों ने बताया कि मेले के दौरान जिन यात्रियों की जेब कट जाती है या रुपए आदि चोरी हो जाते हैं, उन्हें निगम की ओर से निःशुल्क यात्रा कराई जाती है ताकि वे अपने घर वापस लौट सकें। उन्होंने कहा कि मेले के दौरान साफ-सफाई की बढिया व्यवस्था होनी चाहिए। धर्मशाला संचालकों व दुकानदारों को भी पाबंद करें कि वे किसी प्रकार की गंदगी नहीं फैलाएं व कचरे का समुचित निस्तारण करें। उन्होने कहा कि रामसरोवर की व्यवस्थाएं भी समुचित होनी चाहिए तथा वहां लगातार अनाउंसमेंट होना चाहिए। महिलाओं के स्नान की पृथक से व्यवस्था रहनी चाहिए। संभागीय आयुक्त ने पेयजल, पशुपालन, आबकारी अधिकारियांे को भी समुचित व्यवस्थाओं के लिए निर्देशित किया।
उन्होंने कहा कि गोताखोरों की समुचित व्यवस्था मेले के दौरान रहनी चाहिए तथा सरकारी गोताखोरों के साथ-साथ प्राइवेट गोताखोरों के नंबर भी अधिकारी अपने पास रखें ताकि जरूरत के वक्त उनकी सहायता ली जा सके। उन्होने मेले के दौरान यात्रियों की पेयजल सुविधा के लिए आर.ओ.प्लान्ट से पीने के स्वच्छ जल की चोबीसों घंटे व्यवस्था उपलब्ध कराने के निर्देष दिए।
उन्होेंने कहा कि गांव में दुकानदारों सहित विभिन्न लोगों द्वारा किए गए अतिक्रमण को तत्काल हटाएं और रास्तों को समुचित चैड़ाई दें ताकि मेले के दौरान यात्रियों की वापसी के लिए भी मार्ग रह सके। उन्होंने कहा कि मेलों के दौरान ठेले किसी प्रकार नहीं रहने चाहिए। उन्होंने सीएमएचओ से कहा कि मेले के दौरान चिकित्सकों व दवाओं की समुचित उपलब्धता रखें तथा मेला स्थल के साथ-साथ सभी मार्गों पर समुचित एंबुलैंस तैनात रहनी चाहिए। मौसमी बीमारियों से बचाव के समुचित इंतजाम करें तथा खाद्य पदार्थों की गुणवत्ता के लिए नमूने लेकर कार्रवाई करें। किसी भी प्रकार की दुर्घटना होने पर पीड़ित को तत्काल राहत मिले, इसके लिए चिकित्साकर्मियों की समुचित व्यवस्था रहनी चाहिए।
जिला कलक्टर जोधपुर विष्णु चरण मलिक ने मेले के लिए की गई व्यवस्थाओं की सराहना करते हुए कहा कि रामदेवरा आने वाले श्रृद्धालुओं को आतिथ्य स्वीकार देते हुए उन्हें अच्छी व्यवस्थाएं और सुविधाए प्रदान करावें एवं मेले के दौरान जो भी स्वयंसेवी काम करने यहां आती है उनका इस बार पूरा-पूरा सहयोग लेवें।
जिला कलक्टर जैसलमेर मातादीन शर्मा ने मेले के दौरान की गई व्यवस्थाओं की गई व्यवस्थाओं की जानकारी देते हुउ कहा कि इस बार 19 अगस्त से ही मेला व्यवस्थाओं के लिए सभी प्रषासनिक व्यवस्थाए प्रदान कर दी जाएगी। उन्होने विष्वास दिलाया कि इस बार बेहतर सेवाए प्रदान कर यहां आने वाले मेलार्थियों को सुगमतापूर्वक दर्षन सुलभ कराने की व्यवस्था कराई जाएगी। उन्होंने बैठक में ग्रामपंचायत रामदेवरा को निर्देष प्रदान किए कि वे मेले में सफाई व्यवस्था पर विषेष ध्यान दे एवं पार्किग के समस्त प्रबंध बेहतरीन ढंग से सुव्यवस्थित करने को कहा। जिला कलक्टर शर्मा ने ग्रामपंचायत के वाषिंदों व जनप्रतिनिधियों से आग्रह किया कि वे मेला व्यवस्थाओं को सुचारु बनाए रखने के प्रति पूरा-पूरा सहयोग प्रदान करें। उन्होंने मेला व्यवस्थाओं से सम्बद्ध पदाधिकारियों को निर्देष दिए कि वे उन्हें सौंपे गए कार्यो को समय पर सुसम्पादित करावें।
जोधपुर के पुलिस अधीक्षक हेमेन्द्र कुमार ने बताया कि इस बार मेले में दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिए जोधपुर से रामदेवरा आने वाले पैदल यात्रियों की सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए हैण्ड रिफ्लैक्टर बैल्ट की समुचित व्यवस्था की जाएगी। वहीं ट्रेक्टर , जुगाड़ तथा साईकिल वालों को भी रिफ्लैक्टर स्टीक लगाई जाएगी। उन्होंने कानून एवं शांति व्यवस्था सुचारु बनाए रखने पर विषेष बल दिया।
पुलिस अधीक्षक गौरव यादव ने कानून व्यवस्था व शांति बनाए रखने के लिए की गई व्यवस्थाओं की जानकारी देते हुए कहा कि मेले के दौरान बैहतरीन ढंग से कानून व्यवस्था कायम किए जाने को लेकर पर्याप्त मात्रा में पुलिस बल तैनात किया जाएगा । वहीं यातायात एवं पर्किग स्थलों पर सुरक्षा के पुख्ता एवं कड़े प्रबंध किए जाएगें। उन्होंने कहा कि संपूर्ण मेला क्षे.त्र में हर घटना कर पैनी नजर रखने के लिए पुलिस द्वारा पूरी चैकसी बरती जाएगी। उन्होंने संदिग्ध लोगों ,जेबकतरों व भिखारियों के साथ-साथ होटल-ढाबों द्वारा जातरुओं को परेशान करने की घटनाओं पर नियंत्रण के लिए अभी से ही मोबाइल टीमें लगा दी गई हैं।
मेलाधिकारी रामदेवरा मेला तथा एसडीएम पोकरण काषीराम चैहान ने इस नवाचार के रुप में मेले के अवसर पर की गई व्यवस्थाओं के संबंध में विस्तार से जानकारी प्रदान कीं तथा बीडीओ पं.स. सांकड़ा पोकरण टीकमाराम चैधरी नेे बताया कि ग्राम पंचायत द्वारा इस बार तीन जौन के स्थान पर छह जौन में मेले में समुचित ढंग से सफाई व्यवस्था जीम दी जाएगी। प्रत्येक जौन के अन्तर्गत 50-50 सफाई कार्मिकगण लगाए जाने की उचित व्यवस्था की जाएगी।
बैठक में उप अधीक्षक पुलिस पोकरण नानकसिंह ने भी सुरक्षा व्यवस्था के लिए मेला के दौरान किए गए प्रबंधों पर प्रकाष डाला। पोकरण नगरपालिका के अध्यक्ष आनंदीलाल गुच्चीया ने केन्द्रीय विद्यालय में पढ़ने वाले बच्चों के लिए वैकल्पिक रास्ते की समुचित व्यवस्था करने की आवष्कता प्रतिपादित की। समाजसेवी नारायणसिंह तंवर रामदेवरा , उपसरपंच चुतरसिंह तंवर ने भी मेले के बेहतरीन ढंग से संचालन के बारे में सभी व्यवस्थाओं को लेकर सकारात्मक सुझाव पेष किए। बैठक में मेला व्यवस्थाओं से जुड़े अधिकारियों नेे अब तक की गई व्यवस्थाओं पर बिन्दुवार चर्चा की। बैठक में कई विभागों के अधिकारी, जनप्रतिनिधि, स्वयंसेवी संस्थाओं के पदाधिकारी व मेले से जुड़े लोग मौजूद थे।
संभागीय आयुक्त श्री लाहौटी ने बैठक के बाद मेला परिसर में घूमकर व्यवस्थाओं व जायजा लिया तथा मंदिर में जाकर बाबा रामसा पीर की समाधि का दर्शन कर धोक लगाई। मंदिर सेवा समिति की ओर से बाबा के पूजारी कमल छंगाणी ने उन्हें माल पहनाई तथा बाबा रामसा पीर की तस्वीर भेंट की गई। यह मेला आगामी 13 सितम्बर भादवासुदी एकादषी तक चलेगा

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top