परीक्षा आयोजन में केन्द्राधीक्षको की भूमिका महत्वपूर्णःबिश्नोई
प्राध्यापक स्कूल शिक्षा प्रतियोगी परीक्षा की तैयारियांे की समीक्षा कर दिए आवश्यक दिशा-निर्देश
बाड़मेर।
राजस्थान लोक सेवा आयोग के निर्देशानुसार प्राध्यापक स्कूल शिक्षा प्रतियोगी परीक्षा का 17 जुलाई से आयोजित होगी। इसमंे केन्द्राधीक्षकांे की महत्वपूर्ण भूमिका है। परीक्षा आयोजन के संबंध मंे दिए गए निर्देशांे की पालना सुनिश्चित करवाएं। इसमंे किसी तरह की कौताही के लिए केन्द्राधीक्षक स्वयं जिम्मेदार होंगे। अतिरिक्त जिला कलक्टर ओ.पी.बिश्नोई ने शुक्रवार को कलेक्ट्रेट कांफ्रेस हाल मंे प्राध्यापक स्कूल शिक्षा प्रतियोगी परीक्षा की तैयारियांे संबंधित समीक्षा बैठक के दौरान यह बात कही।
इस दौरान अतिरिक्त जिला कलक्टर ओ.पी.बिश्नोई ने कहा कि परीक्षा के दौरान अभ्यर्थियांे की अवांछनीय गतिविधियांे पर विशेष नजर रखी जाए। उन्हांेने कहा कि अभ्यर्थियांे के परीक्षा केन्द्र से पूर्व उनकी पूर्ण तलाशी ली जाए,ताकि परीक्षा के दौरान नकल पर अंकुश लग सके। इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विपिन शर्मा ने बताया कि सफलतापूर्वक परीक्षा आयोजन के लिए प्रत्येक परीक्षा केन्द्र पर माकूल सुरक्षा इंतजाम किए जाएंगे। उन्हांेने बताया कि 300 परीक्षाथार्थियांे वाले केन्द्रांे पर दो कांस्टेबल एवं इससे अधिक परीक्षाथार्थियांे वाले केन्द्रांे पर एक हेड कांस्टेबल एवं तीन कांस्टेबलांे को तैनात किया जाएगा। उन्हांेने बताया कि प्रत्येक परीक्षा केन्द्र पर एक महिला कांस्टेबल भी तैनात की जाएगी। इसके अलावा मोबाइल एवं स्कवायर्ड टीम भी लगातार गश्त करेगी।
समीक्षा बैठक के दौरान प्रशिक्षक डा.लक्ष्मीनारायण जोशी ने परीक्षा आयोजन, पेपर वितरण, पेपर संकलन, परीक्षा सामग्री पैकिंग करने समेत विविध पहलूआंे के बारे मंे विस्तार से जानकारी दी। उन्हांेने बताया कि परीक्षा शुरू होने से पूर्व 30 मिनट पूर्व प्रश्न पत्र का लिफाफा खोला जाना है। किसी भी परीक्षार्थी को परीक्षा शुरू होने के 10 मिनट उपरांत प्रवेश नहीं दिया जाएगा। उन्हांेने बताया कि प्रत्येक परीक्षा केन्द्र पर वीडियोग्राफी करवाई जानी है। इस दौरान केन्द्राधीक्षक एवं पर्यवेक्षक के अलावा कोई भी कार्मिक मोबाइल नहीं रख सकेगा। उन्हांेने बताया कि परीक्षा से संबंधित समस्त जानकारी नियंत्रण कक्षा 02982-220007 पर दी जानी है। साथ ही परीक्षा संबंधित सामग्री कार्मिक शाखा मंे जमा करवानी होगी। इस दौरान जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक कैलाशचन्द्र तिवाड़ी ने भी परीक्षा आयोजन के संबंध मंे जानकारी दी।
फोटो स्टेट मशीनें रहेगी बंदः 
प्राध्यापक स्कूल शिक्षा परीक्षा के दौरान परीक्षा केन्द्र के 500 मीटर के दायरे मंे आने वाली समस्त फोटो स्टेट मशीनें बंद रहेगी। इस दौरान जिला रसद अधिकारी एवं सहायक वाणिज्यिक अधिकारी के नेतृत्व मंे टीमें फोटो स्टेट मशीनांे का निरीक्षण करेगी।
चार सतर्कता दल गठितः 
प्राध्यापक स्कूल शिक्षा प्रतियोगिता परीक्षा के लिए चार सतर्कता दल बाड़मेर उपखंड अधिकारी एच.आर.मेहरा, बायतू उपखंड अधिकारी अंजूम ताहिम सम्मा, रामसर उपखंड अधिकारी रोहित कुमार के नेतृत्व मंे गठित किए गए है।
प्रत्येक विषय के लिए लाना होगा अलग प्रवेश पत्रः परीक्षार्थियांे को प्रत्येक विषय के लिए अलग-अगल प्रवेश पत्र डाउनलोड करना होगा। परीक्षा के दौरान ओरीजनल आईडी प्रुफ भी लाना होगा।
कितने पदांे पर होगी भर्तीः 
माध्यमिक शिक्षा विभाग में स्कूल व्याख्याता के 13 हजार 98 पदों पर भर्ती के लिए भर्ती परीक्षा 17 से 27 जुलाई तक सभी जिला मुख्यालयों पर एक हजार 500 से अधिक परीक्षा केन्द्रों पर होगी। प्रदेश मंे 19 विषयों के लिए 13 हजार 98 पदों पर होने वाली स्कूल व्याख्याता भर्ती परीक्षा के लिए 5 लाख 73 हजार 165 अभ्यर्थी परीक्षा देंगे। आयोग ने सभी जिलों में परीक्षा केन्द्र तय कर दिए हैं। परीक्षा केन्द्रों पर अभ्यर्थियों को मोबाइल उपकरण, इलेक्ट्रोनिक गैजेट, घड़ी सहित अन्य उपकरण ले जाने पर पाबंदी रहेगी।
यह रहेगा परीक्षा का कार्यक्रमः 
17 जुलाई को जिला मुख्यालय पर सुबह 11 से दोपहर 12.30 बजे तक सामाजिक अध्ययन एवं सामाजिक जागरुकता विषय की परीक्षा का आयोजन रखा गया है। इसी तरह 20 से 27 जुलाई तक विभिन्न विषयांे की प्रथम पारी मंे प्रातः 9 से 12 बजे एवं द्वितीय पारी मंे दोपहर 2 से शाम 5 बजे तक परीक्षा आयोजित होगी।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top