सरकार की गलत नीतियों के चलते जिले में सैकड़ो विद्यालय बंद- जैन
बाड़मेर 
राजस्थान की सरकार ने शिक्षा विभाग को प्रयोगशाला बना दिया है सरकार की जन विरोधी नीतियों के चलते प्रदेश के शिक्षा विभाग को सबसे निचले स्तर पर ला दिया है।
आज बाड़मेर जिले में सैकड़ो प्राथमिक एवम् उच्च प्राथमिक विद्यालयो पर ताले लग गए है ग्रामीण इलाको में छात्रो का भविष्य अंधकार में है।शिक्षकों की कमी के चलते आये दिन विद्यालयो के ताले लग रहे है कई जगह उच्च प्राथमिक विद्यालयो पर केवल एक ही अध्यापक लगे हुए है और छात्र संख्या 100 से ऊपर है।
स्टाफिंग पैटर्न के नाम पर कई विद्यालयो में पोस्ट से ज्यादा अध्यापक लगा दिए है तो कही बिल्कुल खाली कर दिए है।
सरकार की इस कार्यप्रणाली से आम जनता में भारी रोष है।
विधायक जैन ने इसको लेकर शिक्षा मंत्री को पत्र लिखकर सरकार से मांग की है कि सरकार ने पूर्व में सैकड़ो स्कूल समानीकरण के नाम पर बन्द कर दिए यहाँ तक की बालिका विद्यालय को भी बन्द कर दिया अब स्टाफिंग पैटर्न के नाम पर बन्द कर दिया गया है सीमावर्ती और पिछड़े जिले बाड़मेर में प्राथमिक शिक्षा व्यवस्था बिलकुल गड़बड़ा गई है उन्होंने सरकार से मांग की कि अति शीघ्र बन्द विद्यालयो को खोला जाये अन्यथा जिले में बड़ा जनआंदोलन होगा ।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top