युवा संस्कार योग शिविर के सम्मापन पर भावुक हुए कवि गोविन्द सारण
बाड़मेर 
पतंजलि योग समिति हरिद्वार इकाई बाड़मेर द्वारा कृष्णाभूमि छात्रावास में "युवा- संस्कार" सप्त दिवसीय निःशुल्क योग शिविर जो जिला योग प्रचारक पूनमा राम आर्य बाड़मेर के सानिध्य में हुआ, का आज श्रद्धेय स्वामीजी के आशीर्वाद से विधिवत रूप से समापन हुआ।
कृष्णाभूमि छात्रावास के प्रबंधक कवि एवम शिक्षाविद् गोविंद सारण ने सातों दिन में अलग अलग यौगिक क्रियाओं,मोटापा, मधुमेह,कमर दर्द के अलग अलग पैकेज ध्यान, प्राणायाम और पतंजलि के सटीक योग कर्म को करवाने पर अपने उदबोधन में योग प्रचारक आभार प्रकट किया।और शिविर समापन पर पूनमा राम आर्य का करना राम सियाग तारातरा ने तिलक लगाकर व भाई मनफूल ने साफा पहनाकर मारवाड़ी रश्म से अभिनन्दन किया।भाई गोविन्द सारण व छात्रावास स्टाफ व बच्चों ने योगी भाई पूनमा राम आर्य को योग के उत्कृष्ट प्रदर्शन व योग की ज्योति घर घर मारवाड़ के बाड़मेर जिले में जगाने पर प्रशस्ति पत्र देकर आभार व्यक्त किया ।समय समय पर आकर नियमित योग कक्षा को निर्देशित करने का आग्रह किया।इस पर पूनमा राम आर्य ने कहा युवा देश का भविष्य हैं आज से ये राष्ट्र सेवा सर्वोपरि सेवा के सिद्धान्त पर कार्य कर रहे हैं और नियमित योग का संकल्प लिया है।मैं जरूर आपके प्रांगण में योग के लिए किसी भी समय हाजिर हूँ। साथ ही पूनमाराम आर्य ने कहा बाड़मेर शहर में कृष्णाभूमि छात्रावास के छात्रों का अनुशासन,तेजस्वी विचार व उत्कृष्ट व्यवस्थाओं को देखकर गर्व होता है| गोविन्द सारण छात्रों के हित में सराहनीय कार्य कर रहे है|इस प्रकार शांति पाठ और भारत माँ के जयघोष के साथ पूरा सप्त दिवसीय योग शिविर समाप्त हुआ।योग शिविर के अंतिम क्षणों में भ्राता श्री गोविन्द सारण ने भावुक होते हुए कहा कि पूनमाराम जैसे अनमोल रत्न व भारत माँ के सच्चे सपूत से इस योग शिविर में छात्र योग दीक्षा लेकर धन्य हो गए| साथ ही सारण ने कहा कि आज राष्ट्र को ऐसे ही ऊर्जावान, देशभक्त योगी पुरुषों की आवश्यकता है, पूनमाराम आर्य ने योग शिक्षा व संस्कार निर्माण से राष्ट्र जागरण व राष्ट्र निर्माण का जो बीड़ा उठाया है,वह आज केवल उनका नहीं हम सब का है| आज से आप अकेले नहीं बल्कि छात्रावास के समस्त छात्र आपके साथ है| छात्रावास ऐसे कई युवाओं को संस्कारवान बनाकर राष्ट्र को समर्पित करेगा| मैं उनके बेहद आत्मिक प्रेम को समझ सकता हूँ।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top