बाड़मेर। कायाकल्प में सर्वश्रेष्ठ चिकित्सा केंद्रों को  मिलेगा  पुरस्कार 
बाड़मेर, 11 मई। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से संचालित कायाकल्प कार्यक्रम के तहत सर्वश्रेष्ठ कार्य करने वाले जिला अस्पताल व सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र को पुरस्कार से सम्माानित किया जायेगा। बुधवार को स्वास्थ्य भवन में कायाकल्प कार्यक्रम की जागरूकता बढ़ाने तथा स्वच्छ भारत अभियान को लेकर कार्यशाला आयोजित की गई। जिला कार्यक्रम प्रबंधक सचिन भार्गव ने बताया कि कार्यशाला में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य निदेशालय जयपुर से आये डाॅ.प्रदीप सिंह व विनोद राठौड़ ने कायाकल्प कार्यक्रम की उपयोगिता, महत्व व उददेश्यों के बारे में बिन्दूवार बताया। 
जिला अस्पताल व सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों का होगा कायाकल्प कायाकल्प कार्यक्रम में जिला चिकित्सालय सहित जिले के सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों का कायाकल्प किया जायेगा। डाॅ. प्रदीप सिंह ने बताया कि पूरे राज्य में सर्वश्रेष्ठ कार्य करने वाले जिला अस्पताल को 50 लाख रूपये तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र को 15 लाख रूपये राशि का पुरस्कार दिया जायेगा। आगामी चरणों में कायाकल्प कार्यक्रम में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों को भी शामिल किया जायेगा। उन्होंने बताया कि जिला अस्पताल एवं जिले के सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों का आंतरिक मूल्यांकन करके कार्ययोजना बनाकर विभिन्न चरणों को क्रियान्वित किया जायेगा। चिकित्सा संस्थानों के आंतरिक मूल्यांकन के तरीकों को विस्तार से बताया। चिकित्सा संस्थानों की निर्धारित कार्ययोजना के तहत साफ-सफाई व स्वच्छता, अस्पताल साज-सज्जा, कचरा प्रबंधन, संक्रमण रोकथाम, सहयोगी सेवाओं तथा स्वच्छता के महत्व के बारे में जानकारी दी। कार्यशाला में उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. बी.एस.गहलोत, आरसीएचओ डाॅ.पंकज खुराना, ब्लाॅक मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी बाड़मेर डाॅ. अर्जुनराम, चौहटन डाॅ.शंभूराम, बालोतरा डाॅ. खेतराम, शिव डाॅ. विकास ओलखा, सिवाना डाॅ शिवदत बोड़ा सहित जिले के सभी सीएचसी प्रभारी, जिला आशा समन्वयक राकेश भाटी, जिला नोडल अधिकारी श्री अनिल स्वामी मौजूद थे। 
आशा संवाद का तीसरा चरण 13 मई को
प्रदेश में आशाओं से सीधा संवाद स्थापित कर उनकी समस्या जानने के लिये आशा संवाद का तीसरा चरण 13 मई को दोहपर ढाई बजे से साढ़े 4 बजे तक होगा। जिला आशा समन्वयक श्री राकेश भाटी ने बताया आशा संवाद का प्रथम व द्वितीय चरण 28 अप्रेल को हुआ था। पहले व दूसरे चरण में बाड़मेर जिले की करीब एक हजार आशा सहयोगिनियों ने भाग लिया था। आशा संवाद में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री राजेन्द्र राठौड़ ने सभी आशा सहयोगिनियों की समस्या सुनी। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के मिशन निदेशक नवीन जैन ने आशा सहयोगिनी को भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत घर-घर जाकर सर्वे करने तथा लाभार्थी परिवार को योजना के निशुल्क उपचार की जानकारी देगी। जिले के सभी ब्लाॅक मुख्यालय  के अटल सेवा केन्द्रों पर विडियो काॅफ्रेसिंग के जरिये आशाओं से संवाद स्थापित होगा।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT © 2013-14. All Rights Reserved.
Top