ग्राम सभाओं में सीसीबी का लगेगा काउन्टर मोके पर खुलेंगे  खातें 
जयपुर।
ग्राम पंचायतों में आयोजित ग्राम सभाओं में केन्द्रीय सहकारी बैंकों के बीसी, पेक्स व लेम्प्स द्वारा काउन्टर लगाकर सेवाएं उपलब्ध कराई जाएगी। सहकारिता विभाग के प्रमुख शासन सचिव डॉ. ललित मेहरा ने गुरूवार को बताया कि 24 अप्रेल तक आयोजित ग्राम सभाओं में केन्द्रीय सहकारी बैंकाें के बीसी, पेक्स व लेम्प्स के काउन्टर लगाकर भामाशाह लाभार्थियों के खातें खोलने, पहले से खुले खातों की सीडिंग कराने के लिए लाभार्थियों से सहमति प्राप्त करने, पहले से खुले हुए खातों की केवाईसी पूरी कराने का कार्य किया जाएगा। डॉ. मेहरा ने बताया कि ग्राम सभाआें के दौरान भामाशाह लाभार्थियों को पेंशन का भुगतान, भामाशाह को-ब्राण्डेड रुपे कार्ड का वितरण आदि का कार्य किया जाएगा। सहकारी समितियों के रजिस्ट्रार डॉ. आर. वेेंकटेश्वरन ने बताया कि ग्राम सभाओं के दौरान सभी केन्द्रीय सहकारी बैंकों को अपने प्रतिनिधि को उपस्थित रखने को निर्देशित किया गया है। उन्होंने बताया कि इस दौरान सहकारी किसान कार्ड धारी काश्तकारों को खातें भी खोले जाएंगे। इसके साथ ही सहकीर बैंकों की ऋण व जमा योजनाओं की जानकारी दी जाएगी। उन्होंने बताया कि निर्णयानुसार क्षेतर्् में कार्यरत सभी ई मित्रें को बैंक का बीसी बनाया जाएगा। डॉ. वेंकटेश्वरन ने बताया कि विभाग के जिला प्रभारी अधिकारी जिलों में जाकर कम से कम 10 ग्राम सभाओं में जाकर निरीक्षण कर निर्धारित कार्य सुनिश्चित करवाएंगे। उन्होंने बताया कि बैंकों द्वारा ग्राम सभाओं में काउन्टर के माध्यम से किए जाने वाले कार्य की प्रगति रिपोर्ट प्रतिदिन अपेक्स बैंक को प्रेषित करेंगे। अपेक्स बैंक सूचना का विश्लेषण कर रजिस्ट्रार को उपलब्ध कराएंगे।तमिलनाडू, केरल और उपभोक्ता संघ के मसाले खास पसंद सहकारिता विभाग के अंबेडकर सर्कल पर चल रहे राष्ट्रीय सहकार मसाला मेले में तमिलनाडू की तीन स्टॉल पर उपलब्ध हल्दी, साबुत मिर्च केरल के मसाले और उपभोक्ता संघ के उपहार एगमार्क मसाले जयपुर वासियों द्वारा खास पंसद किए जा रहे है। सहकार मेले के बिक्री का आंकड़ा तीन दिन में ही 80 लाख को पार कर गया है। रजिस्ट्रार डॉ. आर. वेंकटेश्वरन ने बताया कि जयपुर में तमिलनाडू की 5 विपणन सहकारी समितियां हिस्सा लेने आई है। सहकार मेले में दक्षिण भारत की साबुत छोटी और गोल लाल मिर्च, इरोड की पिसी हुई हल्दी जयपुरवासियों द्वारा खास पसंद की जा रही हैंं। तमिलनाडू की सहकारी समिति की एक स्टॉल पर तो मसालों का पूरा स्टॉक ही खत्म हो चुका है। केरल के मसालों की जमकर खरीदारी हो रही है। राज्य की सहकारी समितियों के साथ ही अन्य प्रदेशों की सहकारी संस्थाएं लोगों का आकर्षित कर रही है। सहकारिता के विश्वास का ही परिणाम है कि मेले में तीन दिनों में 20-25 हजार जयपुरवासियों ने सहकार व्यापार मेले का अवलोकन कर कुछ न कुछ खरीददारी कर रहे हैं। सहकार मेले में कोटा व उदयपुर द्वारा गेहूं भी उपलब्ध कराया जा रहा है। शुक्रवार को सहकार मेले में मेवाड़ उत्सव, गुरुवार को बीकानेर के कलाकारों ने सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दी। शुक्रवार को मारवाड उत्सव मे का आयोजन उदयपुर संभाग द्वारा किया जाएगा। 

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top