मेवाड़ महोत्सव में आकर्षण का केन्द्र बने बाड़मेर के गेर नृतक  
बाड़मेर।
झीलों की नगरी उदयपुर में हो रहे विश्व विख्यात मेवाड़ महोत्सव-2016 में बाड़मेर के मोतीसरा गांव के गेरिए अपनी जत्था गेर नृत्य कला की शानदार प्रस्तुति देकर देशी- विदेशी मेहमानों का मन मोहित करके आकर्षण का केन्द्र बने हुए है.
उदयपुर पर्यटन विभाग उप निदेशक सुमिता सारोच ने बताया कि राजस्थान पर्यटन विभाग व उदयपुर जिला प्रशासन के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित इस भव्य समारोह में मोतीसरा(बाड़मेर) से आए तगाराम मेघवाल व उनके जत्था गेर नृतकों ने ढोल की थाप एवं थाली की मधुर टंकार से प्राचीन जगदीश मंदिर, गणगौर घाट तथा ऐतिहासिक गोगुन्दा शहर में गेर नृत्य करके विदेशियांे को भी अपने संग थिरकने के लिए मजबूर कर दिया।
चंग नृत्य एवं फाग गीतों ने मन मोहाः मोतीसरा से आए कलाकारों ने बाड़मेरी चंग नृत्य एवं फाग गीत गाकर महोत्सव में खास रंग जमाया.

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top