बाड़मेर कृषक परमार आरक्षण की मांग को लेकर निकाली वाहन रैली
बाड़मेर 28 फरवरी 2016 
कृषक परमार आरक्षण की मांग को लेकर प्रवीणसिंह, हिन्दूसिंह तामलोर, तनसिंह सणाऊ, हमीरसिंह केलनोर, बाबूसिंह महाबार, तनसिंह महाबार के नेतृत्व में वाहन रैली सुबह 12 बजे राणा रूपादे संस्थान सरदारपुरा से रवाना होकर तनसिंह सर्किल, गांधी चौक स्टेषन रोड़ से होते हुए अंहिसा, सर्किल, चौहटन रोड़ से गडरा चौराहा, अम्बेडकर सर्किल, नेशनल हाईवे, होती हुई शहीद चौराहा से आगे मल्लिनाथ सर्किल होते हुए जिला कलेक्ट्रेट बाड़मेर पहुंची । जहां पर युवाओं ने आरक्षण की मांग को लेकर आरक्षण की जंग लड़ेगें और राजपूत एकता जिंदाबाद गगनभेदी नारे लगाये। रैली के बाद महावीर पार्क के पीछे एक विषाल सभा का आयोजन हुआ। 
युवाओं को सम्बोधित करते हुए आरक्षण समिति के जिला संयोजक प्रवीणसिंह आगोर ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा सितम्बर 2013 में आरक्षण दिया गया था तथा राजनैतिक द्वेष भावना के कारण कृषक परमार राजपूतों को आरक्षण का लाभ नहीं मिल रहा है। गरीब तबके के लोगों को आरक्षण से वंचित किया जा रहा है जो कि हमारे युवाओं के साथ अन्याय हो रहा है युवा लोग इसे बर्दाष्त नहीं करेगें। समिति के जिला प्रभारी हिन्दुसिंह तामलोर ने बताया कि आज सभी लोगों ने मुख्यमंत्री राजस्थान सरकार के नाम उपखण्ड अधिकारी को ज्ञापन सौंपा गया और साथ में 24 घंटे का अल्टीमेंटम दिया गया अगर 29 तारीख को 5 बजे तक हमारी मांगे नहीं मानी जाती तो हम 1 मार्च को बाड़मेर बंद और जिला कलेक्ट्रेट के आगे महापड़ाव किया जायेगा। 
सभा को तनसिंह महाबार ने सम्बोधित करते हुए कहा कि कृषक परमारों को जो आरक्षण मिला हुआ है उसे लागू किया जाये। यह किसी मौखिक आदेष के कारण ओबीसी प्रमाण पत्र नहीं बनाये जा रहे है। समिति के तनसिंह सणाऊ ने कहा कि जो केन्द्र सरकार ने हमें अपना हक दिया उसको कुछ राजनैतिक द्वेष भावना के कारण हमारे कृषक परमार आरक्षण पर जानबूझकर रोक लगा रखी है। जिससे इनके बच्चे वंचित रह रहे है। जिला परिषद सदस्य सोहनसिंह भायल ने कहा कि यह आरक्षण एक समाज की सामूहिक लड़ाई है जो हमारे राजपूत समाज से जीते राजपूत प्रतिनिधि है उनको विधानसभा में हमारी इस जायज मंाग को उठाना चाहिए। और इसे तत्काल लागू करवाने के लिए राज्य सरकार पर प्रभाव डाला जाये। हुकमंिसह अजीत ने कहा कि ओबीसी आरक्षण पर रोक लगाकर सरकार ने राजपूतों के साथ घोर अन्याय किया जा रहा है। जो अभी सरकारी भर्ती हो रही है और आगे आने वाली भर्तीयों में हजारांे राजपूत युवा वंचित रह रहे है। पूर्व जिला परिषद सदस्य गणपतसिंह ताणू ने कहा कि समाज की इस लड़ाई सभी को अपनी राजनैतिक पार्टीया छोड़कर समाज का साथ देना चाहिए हमेंषा सर्वप्रथम समाज होता है। 
छात्रनेता लोकेन्द्रसिंह गोरडि़या ने कहा कि हमारी मांगे नहंी मानी तो बाड़मेर में उग्र आन्दोलन किया जायेगा जिसकी समस्त जिम्मेदारी जिला प्रषासन की होगी। सभा का मंच संचालन युवा नेता भोमसिंह बलाई ने किया। 
इस रैली में नरेन्द्रसिंह खारा, शैतानंिसह बिषाला, मोहनसिंह उण्डखा, समुन्द्रसिंह फोगेरा, प्रेमसिंह जैसिन्धर, हठैसिंह जैसिंधर, एडवोकेट छैलसिंह लूणू, नवलसिंह बलाई, उदयभानसिंह चैहटन, छोटूंिसह रेडाणा, मोहनसिंहं सेाढा, विक्रमसिंह कोटड़ा, नाराणसिंह महाबार, आनन्दसिंह सोढा, सवाईसिंह चूली, दुर्गादास राठौड़, लोकेन्द्रसिंह ढीमा, महेन्द्रसिंह रतरेड़ी, खीमसिंह नगर, छुगसिंह दुदवा, नरपतसिंह उमरलाई, विक्रमसिंह कोटड़ा, गजेन्द्र षिवकर, दातारसिंह आगोर, जसवंत सिंह इन्द्रोई, गुमानसिंह महाबार, अनिल सोनी मोहनसिंह गोरड़ीया, रावलसिंह जाजवा, नरेन्द्रसिंह राठौड़,कल्याणसिंह राणासर, महेन्द्रसिंह चूली सहित समाज के कई युवा एवं गणमान्य लोग उपस्थित रहे। समिति के जिला प्रभारी हिन्दूसिंह तामलोर ने सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top