विद्यालय समय परिवर्तन के विरोध सहित 12 सूत्रीय मांग पत्र एडीएम को सौंपा
बाड़मेर
राजस्थान षिक्षक संघ सियाराम जिला शाखा बाड़मेर द्वारा प्रान्तव्यापी कार्यक्रम के तहत षिक्षा, षिक्षार्थी एवं षिक्षकों से संबधित 12 सूत्रीय मांग पत्र मुख्यमंत्री के नाम अतिरिक्त जिला कलेक्टर, बाड़मेर के माध्यम से भिजवाया गया।जिला मंत्री मुकेष व्यास ने बताया कि जिलाध्यक्ष छगनसिंह लूणू के नेतृत्व में जिले भर से आए 400 से अधिक संख्या में षिक्षकों ने 12 सूत्रीय मांगपत्र मुख्यमंत्री महोदया के नाम प्रेषित किया जिसके तहत विद्यालय समय परिवर्तन का विरोध, सरकारी खजाने से वेतन प्राप्त करने वाले षिक्षक, कर्मचारी, अधिकारी, जनप्रतिनिधि एवं लोकसेवकों के बच्चे सरकारी विद्यालयों में अध्ययन करें इसके लिये सरकार द्वारा आदेष जारी किये जावे। षिक्षा में राजनैतिक हस्तक्षेप पूर्णतया बन्द हो तथा ‘‘षिक्षा नीति’’ राजनैतिक एवं वोट बैंक के आधार पर न होकर षिक्षा के हित में बनाई जावे। षिक्षा के अधिकार अधिनियम षिक्षा विभाग एवं माध्यमिक षिक्षा बोर्ड के मानदण्डानुसार कक्षा-कक्ष, वर्ग एवं विषयानुसार विद्यालयों में षिक्षक उपलब्ध कराये जावें। षिक्षा विभाग में निदेषालय स्तर तक प्रषासनिक अधिकारियों के स्थान पर षिक्षा विभाग के ही अधिकारी लगाये जावें तथा षिक्षा विभाग में एवं अन्य विभाग की अन्य योजनाओं में षिक्षा विभाग के अधिकारियों को ही नियुक्त किया जावे। साथ ही विद्यालयों में अन्य विभाग के अधिकारियों का हस्तक्षेप बंद किया जावे। वर्ष 2012 में नियुक्त षिक्षकों को दो वर्ष से अधिक समय होने पर वेतन स्थरीकरण एवं स्थायीकरण के आदेष जारी करने। षिक्षा के अधिकार अधिनियम में संषोधन करनें, विद्यालय में भौतिक संसाधन उपलब्ध करानें। प्रत्येक प्राथमिक विद्यालय में सहायक कर्मचारी एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों में सहायक कर्मचारी एवं शारीरिक षिक्षक नियुक्त किये जावे। स्पष्ट, स्थानी एवं पारदर्षी स्थानान्तरण नीति बनाई जावे। सरकारी व निजी विद्यालयों का पाठ्यक्रम, गणवेष, विद्यालय संचालन के समय में एकरूपता रखी जावे। बोर्ड परीक्षाओं में शत-प्रतिषत परिणाम देने वाले षिक्षकों को इच्छित स्थान पर स्थानान्तरण कराने। षिक्षकों के नियमित प्रषिक्षण एवं मूल्यांकन की व्यवस्था की जावे तथा छात्र प्रवेष की उम्र सरकारी विद्यालयों में कम की जावे तथा प्री-प्राईमरी कक्षाएं अंग्रेजी विषय सहित प्रारंभ की जावें, साथ ही अंग्रेजी माध्यम के विद्यालय ब्लाॅक स्तर पर विकसित किये जावें आदि विषयों पर मांग पत्र माननीय मुख्यमंत्री को प्रेषित किया गया। ज्ञापन प्रेषित करने के उपरान्त स्थानीय महावीर पार्क में बैठक का आयोजन किया गया जिसमें जिलाध्यक्ष छगनसिंह लूणू ने इस भीषण गर्मी में सहयोग के लिये समस्त षिक्षक साथियों का आभार व्यक्त किया तथा षिक्षक हितार्थ समस्या समाधान के लिये हमेषा तैयार हुं जिस भी षिक्षक को किसी भी प्रकार की समस्या हो संगठन के माध्यम से रखने का आह्वान किया तथा षिक्षकों को केन्द्र के समान वेतन भत्ते दिये जावे फिर समय सरकार चाहे जो रख हमारे षिक्षक तैयार हैं। जिलामंत्री मुकेष व्यास ने उपस्थित समस्त षिक्षकों का आभार व्यक्त किया तथा माननीय प्रदेषाध्यक्ष महोदय के आगामी माह की 5 से 15 जुलाई के मध्य बाड़मेर दौरे के बारे में जानकारी दी तथा आगामी रणनीति के बारे में आपको जल्द ही अवगत करा दिया जायेगा। उपरोक्त कार्यक्रम के दौरान मेताराम जयपाल, दामोदर आचार्य, महेन्द्र जैन, भागीरथसिंह, मलाराम चैधरी, दिनेष कुमार, नवीन खत्री, अभयसिंह रेडाणा, रतनसिंह सोढा, मगराज जांगिड़, अरूणकुमार, राजकमल, देवेन्द्र अवस्थी, गिरधरसिंह गरल, वीरसिंह मीठड़ा, हाकमसिंह महेचा, शैतानसिंह राजपुरोहित, मेहरसिंह, गजाराम लहुआ, उगमसिंह सुरा, संतोष कुमार गौड़, सवाईलाल दईया, किषनसिंह दांता, भगवानदास जैलिया, भगवानदास फुलवारिया, शेरसिंह मेड़तिया, रावतसिंह महेचा, हीरालाल सोनी, श्यामसुन्दर सोनी, प्रषान्त व्यास, गिरधारीलाल, नारायणसिंह राव सहित समस्त उपषाखाओं के ब्लाॅक अध्यक्ष, ब्लाॅक मंत्री सहित सैकड़ों की संख्या में राजस्थान षिक्षक संघ सियाराम से जुड़े कार्यकर्ता उपस्थित थे।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top