बाड़मेर राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम 14 नवम्बर को 
बाडमेर।
देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू की जयन्ती 14 नवम्बर से जिले में राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम प्रारम्भ किया जाएगा। कार्यक्रम की तैयारियों की जिला कलेक्टर मधुसूदन शर्मा ने गुरूवार को विस्तृत समीक्षा की। 
इस अवसर पर जिला कलेक्टर ने कहा कि यह भारत सरकार का महत्वपूर्ण राष्ट्रीय कार्यक्रम है इसलिए इसकी प्रभावी क्रियान्विती के लिए संबंधित विभाग व्यापक कार्य योजना बनाकर तैयारी कर ले तथा प्रत्येक कार्य निर्धारित समय पर पूर्ण कर लिया जाए। उन्होने बताया कि प्रत्येक विभाग की अपनी कार्य योजना के अनुरूप स्पष्ट रणनीति होनी चाहिए तथा इसे समयबद्ध तरीके से पूर्ण किया जाए। 
शर्मा ने बताया कि राष्ट्रीय महत्व के इस कार्यक्रम में सभी विभाग टीम भावना से कार्य करें तथा प्रत्येक कार्य टाईमलाईन के अनुरूप होना चाहिए। जिला कलैक्टर ने सख्त हिदायत दी कि अभियान से कोई भी बच्चा छुटना नहीं चाहिए। उन्होने बताया कि शिक्षा विभाग तथा महिला एवं बाल विकास विभाग से प्राप्त आंकडों के अनुरूप स्वास्थ्य विभाग सुक्ष्म योजना बनाए तथा उसके अनुरूप कार्यक्रम निर्धारित कर स्कूलों व आंगनवाडी केन्द्रों में चिकित्सा दल पहुंचे। साथ ही उक्त दिवस को अनुपस्थित रहने वाले बच्चों को कार्यक्रम में शामिल करने के लिए अलग से कार्ययोजना बनाई जाए। 
इस मौके पर अतिरिक्त जिला कलेक्टर हरभान मीणा ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग को आवश्यकता के अनुरूप अद्यतन जानकारी उपलब्ध करवाने के लिए संबंधित विभागों को निर्देशित किया जा चुका है। साथ ही निर्धारित प्रपत्रों में सूचनाएं प्राप्त होते ही विभाग द्वारा तैयार कार्य योजना से उक्त विभागों को भी अवगत करा दिया जाए ताकि संबंधित दिवस को आंगनवाडी तथा विद्यालय में बच्चों की जांच के लिए कार्मिक सजग रहें।
इससे पूर्व मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. सुनिल कुमार बिष्ट ने राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम की विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि कार्यक्रम का मुख्य लक्ष्य बाल विकास के चार विकारो को समय पर पहचान कर ईलाज करना है, यदि कोई बच्चा 30 चिन्हित बीमारियों मे से किसी से ग्रसित पाया गया तो ऐसे बच्चों को आवश्यकतानुसार आगे के उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, जिला अस्पताल या मेडिकल कालेज में रेफर किया जाता है, तो ऐसे में उन बच्चों को रेफर करने के लिए 104 जननी एक्सप्रेस या अन्य वाहन का उपयोग लिया जाएगा। ईलाज के लिए रैफरल व फोलोअप निःशुल्क प्राप्त होगा। साथ ही इस कार्यक्रम के तहत आवश्यक हुआ तो सर्जिकल ईलाज भी निःशुल्क किया जाएगा।
बैठक में उपखण्ड अधिकारी बाडमेर मुकेश चैधरी, गुडामालानी नाथूसिंह राठौड, चैहटन श्रवणसिंह राजावत एवं सिवाना श्रीमती गोमती शर्मा सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT © 2013-14. All Rights Reserved.
Top