Miscreants helps prisoner to escape, flee with police riflesसरेआम फायरिंग कर बंदी का छुड़ा ले गए बदमाश, राइफलें भी छीनी
सीकर। 
राजस्थान के सीकर में बुधवार को पेशी के बाद निजी बस में बीकानेर ले जाए जा रहे एक बंदी को हमलावर फायर कर छुड़ा ले गए। हमलावर स्कार्पियो गाड़ी में आए थे और बंदी बहादुरसिंह उर्फ पहलवान को छुड़ा ले गए। हमलावर साथ में सुरक्षा गार्ड की दो राइफलें भी छीन ले गए।घटना के बाद सुरक्षा गार्ड ने अन्य वाहन से हमलावरों के वाहन का पीछा किया। इस दौरान बंदी तो नहीं मिला लेकिन एक सरकारी राइफल जरूर मिल गई। हालांकि अभी इस बारे में अधिकृत तौर पर कुछ कहा नहीं गया है।
हवलदार गुमानाराम, सिपाही बाबूलाल, राजेन्द्र और प्रेमसुख बीकानेर पुलिस लाइन के हैं और ये मंगलवार को बंदी को सीकर की एक कोर्ट में पेशी के लिए ले गए थे। बुधवार सुबह अदालत में पेशी के बाद वे उसे निजी बस से बीकानेर वापस ला रहे थे। तभी रतनगढ क्षेत्र में बस का पीछा करती एक स्कार्पियो आई और गोली चलाई। तब चालक ने बस को रोक दिया। इस दौरान हथियार बंद लोग बस में चढ़े।
इन्होंने गार्ड की कनपटी पर हथियार लगा बहादुरसिंह को छुड़ा लिया और गार्ड के हाथों से दो सरकारी राइफल भी छीन ले गए। चूरू के बहादुर सिंह को हत्या के प्रयास के मामले में दस साल के कारावास की सजा सुनाई गई है। तब से वह बीकानेर के केन्द्रीय कारागृह में बंद है। उसके खिलाफ सीकर व जयपुर जिलों की अदालतों में भी मामले विचाराधीन हैं।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top