रेप के आरोपी मोदी के मंत्री निहालचंद का इस्तीफे से इनकार
नई दिल्ली: 
मेघवाल की बर्खास्तगी के लिए प्रधानमंत्री को लिखेंगे: महिला आयोगरेप में आरोपों में घिरे मोदी सरकार में रसायन और उर्वरक मंत्री निहालचंद पर इस्तीफे का दबाव बढ़ गया है. महिला कांग्रेस ने तो सड़क पर प्रदर्शन कर इस्तीफे की मांग शुरू कर दी है. लेकिन आरोपों के बाद पहली बार कैमरे पर आये निहालचंद ने इस्तीफे से साफ इनकार कर दिया है.
पीड़ित महिला इंसाफ की गुहार लगाने के लिए मोदी से 2 मिनट के लिए मिलना चाहती है.
निहालचंद मेघवाल को लेकर हो हल्ला मचा है, लेकिन वो मोदी सरकार में रसायन और उर्वरक राज्य मंत्री बने हुए हैं. रेप का ये मामला साल दो हजार ग्यारह का है. लेकिन पिछले दिनों कोर्ट ने जो समन जारी किया उसके बाद से निहालचंद की कुर्सी खतरे में हैं.
आरोपों को लेकर पहली बार कैमरे पर आए केंद्रीय मंत्री निहालचंद ने किसी सवाल का जवाब तो नहीं दिया लेकिन इतना जरूर कहा कि इस्तीफा नहीं देंगे.

आरोपों के घेरे में निहालचंद 
जिस पीड़ित महिला ने रेप का आरोप लगाया है उसकी शादी दिसंबर 2010 में हुई थी. शादी का वीडियो भी है जिसमें निहालचंद शरीक हुए थे. पीड़ित महिला के मुताबिक एक महीने बाद उसका पति उसे 2011 में गंगानगर से जयपुर लेकर गया था. पीड़ित के मुताबिक उसका पति उससे मारपीट करता था और जबरन नशे की गोलियां खाने पर मजबूर करता था.
आरोप है कि पीड़ित महिला का पति राजनीति में आना चाहता था इसलिए वो अपने घर पर तरह तरह के लोगों को बुलाया करता था. पीड़ित महिला का आरोप है कि कांग्रेस के बड़े नेता के करीबी से लेकर पुलिस के कई अधिकारियों ने उसका यौन शोषण किया और उसके पति ने रसूखदार लोगों की सीडी भी बनाई.
2011 में पुलिस ने केस दर्ज करने से मना किया तो महिला कोर्ट चली गई जहां से आदेश मिलने के बाद पति सहित कुल 17 लोगों पर बलात्कार का मामला दर्ज किया गया. आरोपियों में निहालचंद मेघवाल का भी नाम शामिल था. लेकिन दो साल की जांच के बाद पुलिस ने किसी को दोषी नहीं मानते हुए फाइनल रिपोर्ट लगा दी थी. पीड़ित महिला के मुताबिक निहालचंद के खिलाफ मामला वापस लेने के लिए लालच देने की कोशिश की.
तीन साल पुराने इस मामले को राजस्थान की एक सेशंस कोर्ट ने फिर से खोल दिया है. निहालचंद मेघवाल समेत 17 आरोपियों को 20 अगस्त को अपना पक्ष रखने के लिए कोर्ट में तलब भी किया गया है. यही वजह है कि विरोधियों ने निहालचंद के इस्तीफे की मांग तेज कर दी है.

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top