मोदी ने लंबे रोडशो के बाद वाराणसी से भरा पर्चा

बीजेपी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी आज अपना नामांकन दाखिल करने वाराणसी पहुंचे हैं। काशी में मोदी ने कहा, 'मैं काशी को प्रणाम करता हूं, मेरे मन में पहले यह विचार आया कि भाजपा ने मुझे यहां भेजा, फिर मैंने सोचा कि मैं काशी जा रहा हूं, पर अब मैं कहता हूं कि न मुझे भेजा गया और न ही मैं यहां आया, बल्कि मां गंगा ने मुझे यहां बुलाया।
Image Loadingउन्होंने कहा कि परमात्मा मुझे शक्ति दे कि मैं यहां के लोगों की सेवा करूं। मैं मां की गोद में वाराणसी में वापस आया हूं। उन्होंने कहा कि मैं शक्ति मिल के बुनकर भाइयों के लिए काम करूंगा। मां गंगा मुझे आर्शीवाद दें। उन्होंने कहा कि मैं यहां ऐसा काम करूंगा कि सारे विश्व में मां गंगा की और काशी की जय जयकार होगी।'
नामांकन दाखिल करने से पहले मोदी ने सुरक्षा घेरे में पार्टी कार्यककर्ताओं और समर्थकों के हुजूम के साथ रोड शो किया। यह रोड शो नदेसर से कचहरी इलाके तक हुआ। गाड़ी पर सवार नरेंद्र मोदी को मलदहिया से जिला मुख्यालय के बीच लगभग ढाई किलोमीटर की दूरी पूरा करने में ज्यादा वक्त लगा क्योंकि यात्रा मार्ग पर भारी जनसैलाब था।
भारी भीड़ के कारण मोदी का रोड शो धीरे-धीरे जिला मुख्यालय की तरफ बढ़ा। मोदी के वाहन को आगे बढ़ाने में पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी थी। उत्साही लोग भाजपा का झंडा और मोदी के नाम वाली टोपी पहनकर बीच सड़क पर हैं। नरेंद्र मोदी ने मिंट हाउस चौराहे पर स्वामी विवेकानंद की मूर्ति पर फूल अर्पित किये। इसके बाद मोदी उपस्थित लोगों को संबोधित करेंगे। यह रोड शो का अंतिम पड़ाव है। इसके बाद वह नामांकन करने जाएंगे।
मोदी के नामांकन के लिए जनसैलाब उमड़ा है। अमित शाह, मुखतार नक्वी, रविशंकर प्रसाद, लक्ष्मीकांत वाजपयी, आरएसएस के इंद्रेश कुमार साथ में हैं। मोदी ने बीएचयू के सिंहद्वार के पास मालवीय प्रतिमा पर पुष्पार्पण करके चारों तरफ जुटे हजारों लोगों को हाथ जोड़कर और पूरी तरह झुककर अभिवादन किया। काशीवासियों ने हर-हर महादेव का उदघोष कर उनका स्वागत किया।
चार घंटे की इस रोड शो का इंतजार बनारस की गलियों, घाट, शिक्षण संस्थानों से लेकर भगवान बुद्ध की तपोस्थली तक लोग बेसब्री से कर रहे थे। मोदी विशेष वायुयान से 24 अप्रैल को लालबहादुर शास्त्री एयरपोर्ट पहुंचे। वहां से हेलीकॉप्टर के जरिए बीएचयू के हेलीपैड उतरे। विद्यापीठ में लैडिंग के बाद सुरक्षा घेरे में कार से मलदहिया स्थित सरदार वल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा तक गए थे। यहां से मोदी खुली जीप में सवार होकर नामांकन स्थल को रवाना हुए।
काशी की गलियों में गुजरात के विकास की गाथा गा रहे मुस्लिम बंधुओं का दल नामाकंन जुलूस में सबसे आगे था। ढोल-मजीरा और शंख के साथ साधु-संतों की टोली थी तो कुर्ता पायजामा और गले में केसरिया दुपट्टा पहने युवकों का समूह। नमो ब्रैंड वाली साड़ियों में महिला कार्यकर्ता नजर आईं।
शहर के विभिन्न इलाकों में बसने वाले अन्य प्रांतों के कार्यकर्ता अपनी पारंपरिक वेशभूषा में नजर आए। मोदी के नामांकन को भव्य बनाने के लिए शहर के प्रतिष्ठित वकील, डॉक्टर, उद्यमी भी शामिल किए गए। भाजपा ने मलदहिया से लेकर मिंट हाउस तक कदम-कदम पर सड़क किनारे अपने उन कार्यकर्ताओं को टोली के रूप में खड़ा किया जो गुलाब की पंखुड़ियों से उन पर बारिश कर रहे थे।
मिंट हाउस पर भाजपा के पीएम उम्मीदवार का अपने आदर्श यानी स्वामी विवेकानंद से मिलन हुआ। मिंट हाउस पर विवेकानंद की मूर्ति पर माल्यार्पण के बाद कार्यकर्ताओं का आभार प्रकट कर मोदी काफिले के साथ अंबेडकर चौराहा पहुंचे। वहां डॉ. भीमराव अंबेडकर की मूर्ति पर माल्यार्पण के बाद नामांकन स्थल की ओर बढ़े।
‘ओसामा’ के चक्कर में करना पड़ा इंतजार: नामांकन दाखिल करने के लिए क्लेक्ट्रेट में मोदी को करीब आधा घंटा इंतजार भी करना पड़ा। मोदी से पहले नामांकन के लिए मेराज खालिद नूर नाम के निर्दलीय उम्मीदवार खड़े थे। मेराज वही शख्स हैं जो 2004 और 2009 के आम चुनावों में कुख्यात आतंकी ओसामा बिन लादेन जैसा चेहरा मोहरा बनाकर लालू प्रसाद यादव और रामविलास पासवान के साथ चुनाव प्रचार कर चुके हैं। नियमानुसार पहले आने वाले प्रत्याशी का नामांकन पहले होता है। इसके चलते मोदी को मजिस्ट्रेट कार्यालय के बाहर इंतजार करना पड़ा।
कांग्रेस ने आयोग से की शिकायत: कांग्रेस का आरोप है कि इस रोड शो को उन 117 लोकसभा सीटों के इलाकों में दिखाया गया, जहां छठे चरण का मतदान चल रहा था। इतना ही नहीं कई जगहों पर वाराणसी में बड़ी स्क्रीनें लगाकर मोदी के लाइन शो का प्रसारण किया गया। यह प्रचार है जबकि उन सीटों पर प्रचार पहले ही बंद हो चुका है। ऐसे में मोदी की इस हरकत को आचार संहिता का उल्लंघन माना जाए।
प्रस्तावक बने: जस्टिस गिरधर मालवीय, पंडित छन्नूलाल, गंगा सेवक वीरभद्र निषाद और बुनकर समाजसेवी अशोक मोदी की तरफ से प्रस्तावक बने।

मोदी के नामांकन का घटनाक्रम
10:28 बजे सुबह मोदी वाराणसी के बाबतपुर एयरपोर्ट पहुंचे
10:42 बजे बीएचयू में मदन मोहन मालवीय की मूर्ति पर माल्यार्पण किया
11:40 बजे दो घंटे की देरी से मलदहिया चौक से शुरू हुआ मोदी का रोड शो 
1:30 बजे दोपहर मोदी नामांकन भरने मजिस्ट्रेट ऑफिस के बाहर पहुंचे
2:15 बजे नामांकन प्रक्रिया पूरी करने के बाद मजिस्ट्रेट ऑफिस से बाहर निकले
2:50 बजे बाबतपुर एयरपोर्ट से विशेष विमान में बैठकर बिहार के लिए रवाना

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top