राणा क्लब ने जीता फाईनल मैच 
बाड़मेर 
स्थानीय रावणा राजपूत सभा भवन में जय भवानी नवयुवक मण्डल रावणा राजपूत समाज नगर युवा सभा द्वारा आयोजित शीतकालीन खेलकूद व क्रिकेट प्रतियोगिता का समापन समारोह बिसूका उपाध्यक्ष राजेन्द्रसिंह साखला सिरोही के मुख्य अतिथ्य व पिण्डवाड़ा नगरपालिका अध्यक्ष अचलसिंह वालीया, समाजसेवी दषरथसिंह भाटी, समाजसेवी पीरसिंह सेतराऊ जिला महांमंत्री ईष्वरसिंह जसोल, नगर अध्यक्ष रेवन्तसिंह राठौड़, युवा सरक्षक डाॅ. गोरधनसिंह सोढा जहरीला, युवा जिला अध्यक्ष सुरेन्द्रसिंह दईया के विषिष्ठ अतिथ्य में एवं जिलाध्यक्ष गोरधनसिंह राठौड़, की अध्यक्षता में रविवार को सम्पन्न हुआ।
नगर महामंत्री पृथ्वीसिंह पंवार ने बताया कि कार्यक्रम का शुभारम्भ मां सरस्वति की तस्वीर पर माला चढाकर दीप प्रज्ज्वलित कर मुख्य अतिथ्यों द्वारा किया गया। इसके बाद नगर युवा अध्यक्ष हरीसिंह राठौड़ द्वारा आये हुए अथितियों का स्वागत भाषण देकर व साफा और फुल मालाओं से स्वागत किया गया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विषिष्ठ अतिथि डाॅ. गोरधनसिंह सोढा ने कहा समाज को नषा प्रवृति से दूर रहना चाहिए नषे से शरीर का विनाष होता है। नगर अध्यक्ष रेवन्तसिंह राठौड़ ने कहा कि युवाओं को अनुषासन में रहते हुए खेल को खेल की भावना से खेलना चाहिए। विषिष्ठ अतिथि अचलसिंह वालीया ने कहा कि समाज को खेल के साथ-साथ बालिका षिक्षा पर भी जोर देना चाहिए जब तक समाज की महिलाएं षिक्षित नहीं होगी तब तक समाज तरक्की नहीं कर पायेगा। जिला महामंत्री ईष्वरसिंह चैहान ने कहा कि समय-समय पर खेलकुद व सामन्य ज्ञान की प्रतियोगी परीक्षाएं आयोजित होनी चाहिए जिससे युवाओं में नया जोष रहता है युवा समाज के रीढ की हड्डी है। मुख्य अतिथि राजेन्द्रसिंह सांखला ने कहा कि समाज को सबसे पहले षिक्षा पर जोर देना चाहिए क्योंकि तरक्की का सबसे पहला कदम षिक्षा है और उसके बाद हमे ंआर्थिक दृष्टि से सम्पन्न होना होगा। उच्च षिक्षा के लिए बच्चों की फीस ज्यादा होती है और आर्थिक दृष्टि से सम्पन्न नहीं होने के कारण हम हमारे बच्चों का भविष्य खराब कर देते है और राजनीति में आगे बढने के लिये सबसे पहले हमें हमारा संगठन मजबूत करना होगा, एक झण्डा और एक नेता होगा तभी हम मजबूत होगें। 

पंवार ने बताया कि क्रिकेट प्रतियोगिता का फाईनल मैच राणा क्लब बनाम श्री रावणा टाईगर फाॅर्स के मध्य रविवार सुबह खेला गया जिसमें राणा क्लब ने टाॅस जीतकर निर्धारित 16 आॅवर में पहले बल्लेबाजी करते हुए 144 रन बनाये जवाब में श्री रावणा टाईगर फाॅर्स निर्धारित 16 आॅवर में 106 रन पर ढेर हो गई। और फाईनल मैच 38 रन से राणा क्लब विजयी रही। जिसमें खुमानसिंह पंवार ने 32 रन व चार विकेट लेकर मैन आॅफ द मैच रहे। और क्रिके्रट प्रतियोगिता का मैन आॅफ द सीरिज पुरस्कार सवाईसिंह राठौड़ को दिया गया। जिन्होनेें 139 रन व छः विकेट लिये थे। क्रिके्रट प्रतियोगिता में अम्पायर की भूमिका भवानीसिंह मेपावत व छोटूंिसह पंवार एवं स्कोरर की भूमिका डाॅ. गोरधनसिंह सोढा ने निभाई। कैरम प्रतियोगिता का फाईनल मैच स्वरूपसिंह पंवार व गोपालसिंह गोहिल बनाम भरतसिंह दोहट की टीमों के मध्य खेला गया जिसमें स्वरूपसिंह पंवार की टीम 12 अंको से विजयी रही। उसके बाद खेलकुद प्रतियोगिताओं मे 400 मीटर दौड़ में स्वरूपसिंह प्रथम, सुरेषसिंह द्वितीय, द्वीपसिंह तृतीय स्थान रहे। बोरी रेस में धर्मसिंह प्रथम, कमलेषसिंह द्वितीय, दिनेषसिंह तृतीय स्थान पर रहे। स्लो साईकिल रेस में भरतसिंह दोहट प्रथम, ओमसिंह द्वितीय, स्वरूपसिंह गोगादे तृतीय रहे। 100 मीटर दौड़ में दीपसिंह दईया प्रथम, राजूसिंह दोहट द्वितीय, भरतसिंह दोहट तृतीय रहे। 50 मीटर दौड़ में दषरथसिंह गोहिल प्रथम, राहुलसिंह द्वितीय रहे। जलेबी रेस में राहुलसिंह राठौड़ प्रथम, जसवंतसिंह द्वितीय व अषोकसिंह तृतीय रहे। जलेबी रेस बालिका में कुमारी उर्मिला प्रथम, कुमारी शीतल द्वितीय, स्थान रही। सामन्य ज्ञान में तेजमालसिंह पृथम, भवानीसिंह लाखाणी द्वितीय, जसवंतसिंह सौलंकी तृतीय स्थान पर रहे। 
अंत में नगर युवा अध्यक्ष हरीसिंह राठौड़, भामाषाह ईष्वरसिंह चैहान, पीरसिंह सेतराऊ, सूर्यसिंह दईया, खीमसिंह राठौड़, हाकमसिंह राठौड़, आदि का स्मृति चिन्ह देेकर व साॅल ओढाकर स्वागत किया। कार्यक्रम का सफल संचालन नगर महामंत्री पृथ्वीसिंह पंवार ने किया। 
कार्यक्रम में हाकमसिंह राठौड़ षिव,महादेवसिंह पड़िहार, चन्द्रवीरसिंह तामलोर, अमोलकसिंह दईया, गजेन्द्रसिंह राठौड़, फरससिंह चैहान, दुष्यंतसिंह राठौड़, हिम्मतसिंह जैसलमेर, बाबूसिंह चैहान, पदमसिंह राठौड़, चुतरसिंह दोहट, दलपतसिंह धांधल, षिवदानसिंह सुरा, रमेषसिंह गडरारोड़, देवीसिंह राठौड़ प्रेमसिंह चैहान, देरावरसिंह ईन्दा शंकरसिंह परमार, उगमसिंह सौंलकी, शैतानसिंह राणा, गोपालसिंह गोहिल, सवाईसिंह सिणधरी, हाकमसिंह राठौड़, गजेन्द्रसिंह राठौड़, राजूसिंह राठौड़, बादलसिंह दईया, वीरसिंह राठौड़, देवेन्द्रसिंह कीटनोद, सांगसिंह भाटी, हाकमसिंह राठौड़, अमोलक सिंह दईया, रघुवीरसिंह राठौड़, मघसिंह डीगड़ा, हिन्दुसिंह तामलौर, स्वरूपसिंह पंवार, अषोकसिंह चैहान, जगदीषसिंह, आदि समाजबंधु मौजुद रहे। 

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top