विराट के आगे फिर झुका लक्ष्य, जीता भारतभारत की विराट जीत, 6 विकेटों से हराकर सीरीज में 2-2 की बराबरी 
नागपुर। शिखर धवन और विराट कोहली के शानदार शतकों की बदौलत टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया के 351 रनों के विशाल लक्ष्य को बौना साबित कर दिया। नागपुर में खेले गए छठे वन-डे मैच में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 6 विकेटों से हराकर सीरीज में 2-2 की बराबरी कर ली है। 
इससे पहले शिखर और रोहित शर्मा ने टीम इंडिया के लिए 178 रनों की शानदार साझेदारी कर टीम को मजबूत आधार दिया। अपने अर्धशतक के बाद रोहित शर्मा कुछ ज्यादा ही आक्रमक हो गए। रोहित ने तीन दमदार छक्के भी जड़े, लेकिन फिंच की गेंद को ब्राउंडी के पार उड़ाने के चक्कर में वे आउट हो गए। रोहित ने 89 गेंदों पर 79 रन बनाए, इसमें 7 चौके भी शामिल हैं। सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने शानदार शतक जड़ा, लेकिन शतक बनाने के बाद ही धवन को फॉक्नर ने बोल्ड कर दिया। धवन ने 102 गेंदों पर 100 रनों की शानदार पारी खेली। इसमें 11 चौके शामिल हैं। 
हालांकि मध्यक्रम के बल्लेबाज रैना और युवराज कुछ खास नहीं कर पाए। युवराज बिना खाता खोले जॉनसन की गेंद पर बोल्ड हो गए। 
इससे पहले खराब शुरूआत के बावजूद कंगारू टीम ने 6 विकेट के नुकसान पर 350 रन ठोक डाले। ऑस्ट्रेलियाई टीम के कप्तान जॉर्ज बैली और ऑलराउंडर शेन वाटसन ने ताबड़तोड़ शतक भारत को बैकफुट पर धकेल दिया। भारतीय गेंदबाज एक बार फिर कंगारू बल्लेबाजों के आगे पानी मांगते नजर आए। टीम में वापसी करने वाले लेग स्पिनर अमित मिश्रा ने 10 ओवर मे 78 रन लुटाए। भारत के लिए रविन्द्र जडेजा और अश्विन ने दो-दो विकेट लिए।

वाटसन और बैली का धमाका

इससे पहले टॉस हारकर पहले खेलने उतरी कंगारू टीम की शुरूआत खराब रही। अच्छी फॉर्म में चल रहे फिल ह्यूज 30 रन के टीम स्कोर पर भुवनेश्वर कुमार की गेंद पर विराट कोहली को कैच थमा बैठे। इसके बाद अश्विन ने एरोन फिंच को बोल्ड कर कंगारूओं को दूसरा झटका दिया। इसके बाद शेन वाटसन और कप्तान जॉर्ज बैली ने पारी को परवान चढ़ाया। दोनों ने भारत के स्पिन आक्रमण का बखूबी सामना किया। जमने के बाद दोनों ने हाथ खोलने शुरू किए और मैदान के चारों और शॉट जमाए।

वाटसन ने शमी के ओवर में लगातार तीन चौके जड़कर अपना शतक पूरा किया। अगली ही गेद पर वाटसन बोल्ड हो गए। वाटसन के आउट होने के बाद भी बैली ने अपने तेवर नरम नहीं किए और भारतीय गेंदबाजों की जमकर खबर ली। 

बैली का दूसरा शतक

बैली ने केवल 84 गेंद में अपने वनडे कॅरियर का दूसरा शतक जड़ा। बैली यहीं नहीं रूके और चौकों-छक्कों की बरसात जारी रखी। बैली ने वोग्स के साथ मिलकर पांचवे विकेट के लिए 80 रन जोड़े। बैली पांचवे विकेट के रूप में अंतिम ओवर में आउट हुए। विस्फोटक बल्लेबाज मैक्सवेल सस्ते में चलते बने। बैली ने 114 गेंद में 6 छक्के और 13 चौके जड़े। 

भारत के लिए करो या मरो

भारत को इस सीरिज में बने रहने के लिए ये मैच जीतना जरूरी है। अगर आज भारत हार जाता है तो वह सीरिज हार जाएगा। यहां जीतने पर अंतिम मैच तक सीरिज जीत का रोमांच खिंच जाएगा।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top