जयपुर में बम धमाकों की धमकी से हड़कंप 
bomb blast threatजयपुर। 
एसएमएस के गेट नंबर 6 पर एक व्यक्ति ने बम लगाया है, कभी भी बम फट सकता है। पुलिस कन्ट्रोल रूम (यादगार) में शुक्रवार दोपहर ढाई बजे 9571604333 मोबाइल नंबर से फोन आने के बाद एटीएस, पुलिस और बीडीएस टीम में हलचल मच गई।
फोन करने वाले ने एसएमएस स्टेडियम या फिर अस्पताल का नाम नहीं लिया। इस पर पुलिस ने दोनों ही जगह गेट नंबर छह व उसके आस-पास के क्षेत्र को खंगाला, लेकिन कहीं भी संदिग्ध वस्तु नहीं मिली।
पुलिस मोबाइल लोकेशन का पता करवाया तो फोन जयपुर से ही किया गया था। कोलकाता विस्फोट होने पर पुलिस ने इसे गंभीरता से लिया है। रात तक फोन करने वाला पकड़ा नहीं जा सका था।
जिसके नाम सिम वह मुम्बई में निकला
पुलिस ने बताया कि मोबाइल नंबर के आधार पर सिम जारी करने वाली कंपनी से आईडी निकलवाई, वह चूरू के बालेरी स्थित रतन चौक निवासी मनोज के नाम से निकली। चूरू पुलिस को सूचना दी गई। तस्दीक में सामने आया कि मनोज से मुम्बई में कूरियर कंपनी में काम करता है।
उसकी पहचान पत्र पर अलग-अलग जगह से चार सिम ली गई है। मोबाइल लोकेशन निकलवाई गई तो फोन करने वाले की लोकेशन एसएमएस अस्पताल के नजदीक ही आई। इस पर पुलिस ने लोकेशन के आधार पर संदिग्ध की तलाश शुरू कर दी।
डीसीपी पूर्व विकास कुमार के नेतृत्व में सभी टीम एसएमएस अस्पताल के चरक भवन वाले गेट पर पहुंची। यहां गेट के आस-पास और चरक भवन, ऑडिटोरियम के क्षेत्र को खंगाला, लेकिन कुछ नहीं मिला। उधर एसएमएस स्टेडियम में एकेडमी के सामने वाले गेट नंबर छह व स्टेडियम के अंदर और बाहर के हिस्से को खंगाला गया। यहां भी कुछ नहीं मिला। पुलिस फोन करने वाले की शरारत करने की आशंका जताई।



एसएमएस स्टेडियम में किक्रेट ग्राउंड में प्रवेश के लिए सुबह 9 से शाम 6 बजे तक गेट नंबर छह ही खुलता है। वहां तैनात गार्ड अनिल सैनी ने बताया कि बाहरी लोगों को इसी गेट से घुसने दिया जाता है। गेट बंद होने के बाद किसी को अंदर नहीं आने दिया जाता है। चौबीस घंटे गार्ड तैनात रहता है। वहीं एसएमएस अस्पताल में भी चरक भवन के पास गेट नंबर छह है। फोन करने वाले को पता है कि दोनों ही जगह गेट नंबर छह है।



जयपुर में अलर्ट

आतंकी यासीन भटकल की गिरफ्तारी और कोलकाता में विस्फोट के बाद जयपुर में अलर्ट जारी किया गया है। पुलिस के साथ सभी सुरक्षा एजेन्सियों को विशेष्ा निगरानी बरतने के लिए कहा गया है।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top