राजस्थानी महज़ भाषा नहीं हमारी पहचान हें 
बाड़मेर
अखिल भारतीय राजस्थानी भाषा मान्यता संघर्ष समिति बाड़मेर के तत्वाधान में चलाये जा रहे संकल्प हस्ताक्षर अभियान शुक्रवार को कलेक्टर परिसर के बाहर संचालित किया गया। संभाग उप पाटवी चन्दन सिंह भाटी ने बताया की राजस्थानी भाषा को मान्यता दिलाने के उद्देश्य से संचालित किये जा रहे राजस्थानी भाषा संकल्प हस्ताक्षर अभियान शुक्रवार को रमेश सिंह इन्दा और जीतेन्द्र फुलवरिया के नेतृत्व में चलाया गया। आज दिन भर थार वासियों के हस्ताक्षर करने की रेलम पेल रही। बाड़मेर वासियों ने राजस्थानी भाषा को मान्यता के लिए जोरदार उत्साह दिखाते हुए संकल्प बेनर पर हस्ताक्षर कर अभियान के प्रति अपना समर्थन जाहिर किया। राजस्थानी भाषा को अपनी पहचान बताने हुए युसूफ खान लोहार ने कहा की राजस्थानी भाषा हमारी पहचान हें इसे हम खोने नहीं देंगे ,उन्होंने कहा की राजस्थानी को मान्यता ना देकर सरकार भारी भूल कर रही हें ,उन्होंने कहा की बेहद सुरीली राजस्थानी भाषा ने भर में पहचान दिलाई हें। राजस्थानी के बिना राजस्थान का कोई अस्तित्व ही नहीं हें। समिति द्वारा पचास हज़ार हास्ताक्सर का लक्ष्य रखा हें। सोमवार को अभियान धोरीमन्ना में चलाया जाएगा।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top