एमएमयू वाहनांे की मासिक बैठक में सीएमएचओ ने दिए कार्मिकों को दिषा-निर्देष
बाडमेर। 
जिले में संचालित राष्ट्रीय मेडिकल मोबाइल यूनिट वाहनों के सभी कार्मिकों की मासिक बैठक शनिवार को जिला स्वास्थ्य भवन में आयोजित की गई। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. जितेंद्रसिंह की अध्यक्षता में आयोजित इस बैठक में आठों वाहनों के कार्यों की समीक्षा की गई और बेहतरीन कार्य के लिए कार्मिकों को आवष्यक दिषा-निर्देष दिए गए। बैठक को केयर्न अधिकारी यषवंत सिन्हा, डीपीएम विक्रमसिंह चम्पावत और जिला आईईसी समन्वयक विनोद बिष्नोई ने संबोधित किया।
सीएमएचओ डाॅ. सिंह ने बताया कि जिले के प्रत्येक ब्लाॅक पर एक-एक मेडिकल मोबाइन वाहन संचालित किया जा रहा है। जिनमें कोर्डिनेटर, चिकित्सक, फार्मासिस्ट, जीएनएम व हेल्पर आदि नियुक्त हैं। बैठक में उक्त सभी कार्मिक मौजूद थे, जिन्हें संबोधित करते हुए सीएमएचओ डाॅ. सिंह ने कहा कि मोबाइल वाहन के जरिए केवल गांव में जाकर दवाएं नहीं बांटनी, बल्कि ग्रामीणों को बेहतरीन स्वास्थ्य सुविधाएं व सेवाएं भी प्रदान करनी हैं। उन्होंने कहा कि जब तक आप ग्रामीणों से दिल से नहीं जुड़ंेगे, दवाएं असर नहीं करेंगी। क्योंकि आपका अच्छा व्यवहार और आपकी एक मुस्कान उनकी हजारों तकलीफों को कम कर सकती है। उन्होंने कहा कि जो कार्मिक अच्छा कार्य करेंगे उन्हें पुरस्कृत करेंगे, लेकिन कहीं लापरवाही मिली तो तुरंत प्रभाव से निलंबित भी कर दिया जाएगा। बैठक को संबोधित करते हुए केयर्न अधिकारी यषवंत सिन्हा ने कहा कि केयर्न ने सदैव ग्रामीणों के हित में कदम उठाएं हैं, खासकर स्वास्थ्य क्षेत्र में। उन्होंने कहा कि आगे भी स्वास्थ्य विभाग के साथ मिलकर जागरूकता व स्वास्थ्य क्षेत्र में हर संभव कोषिष कर ग्रामीणों को लाभान्वित किया जाएगा। डीपीएम विक्रमसिंह चम्पावत ने सभी कार्मिकों के कार्याें की समीक्षा करते हुए उन्हें समय पर रिपोर्टिंग व नियमित कार्य करने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि आकस्मिक निरीक्षण या टेलीफोनिक निरीक्षण के दौरान यदि कोई कार्मिक एक से अधिक बार अनुपस्थित मिला तो उसे निलंबित कर दिया जाएगा। उन्होंने कार्मिकों को प्रेरित करते हुए कहा कि उन्हें विभाग की ओर से हर सुविध दी जाएगी, लेकिन काम में किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाष्त नहीं की जाएगी। जिला आईईसी समन्वयक ने सभी ब्लाॅकों की प्रगति रिपोर्ट पेष की। उन्होंने कार्मिकों से कहा कि प्रत्येक शुक्रवार को साप्ताहिक रिपोर्ट जिलास्तर पर भिजवाएं ताकि वाहनों के द्वारा लाभान्वित हो रहे ग्रामीणों की रिपोर्ट की समीक्षा कर राज्यस्तर पर भी प्रस्तुत की जा सके। 

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top