रिफायनरी स्थान परिवर्तन षड्यंत्र, इसमें एक बड़े नेता का हाथ
बाड़मेर. 
बायतु विधायक कर्नल सोनाराम चौधरी ने रिफाइनरी की स्थापना को लेकर बनी असमंजस की स्थिति को खुला षड़यंत्र बताते हुए बड़े नेताओ की सोची समझी साजिश का आरोप लगाया। उन्होंने रिफाइनरी बायतु में और पेट्रो केमिकल हब पचपदरा में स्थापित करने की पैरवी है। ऎसा नहीं होने पर किसानों के साथ आंदोलन में खड़ा होने की चेतावनी भी दी है। 
कर्नल ने बयान जारी किया कि लीलाला के किसानों ने जमीन देने से कभी इंकार नहीं किया। संघर्ष समिति में जुड़े लोगों ने राजनीति की है। उन्होंने एक करोड़, पचास लाख और पंद्रह लाख मुआवजे की मांग ही नहीं की है। पुनर्वास की उचित मांगे वे चाहते हैं। 
जोधपुर ले जाने की साजिश
यह सब साजिश रिफाइनरी को जोधपुर के नजदीक ले जाने को रची जा रही है इसमें एक बड़े नेता का हाथ है। बायतु के निवासी होने के बावजूद कुछ अन्य विधायक, मंत्री और सांसद भी इस मामले में चुप बैठे है।
सौहार्दपूर्वक बात करे
लीलाला के ग्रामीणों व जनप्रतिनिधियों की समिति बनाकर राज्य सरकार सौहार्दपूर्ण बात करे तो सकारात्मक परिणाम आएंगे।
सरकार, प्रशासन और पार्टी भुगतेगी
कर्नल ने चेतावनी दी कि लीलाला से रिफाइनरी का स्थान परिवर्तित किया तो सरकार और प्रशासन इसका खामियाजा भुगतेंगे और आने वाले चुनावों में पार्टी को नुकसान होगा। लोग सड़क पर आएंगे और मजबूरन मैं भी साथ खड़ा रहूंगा।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top