मेट को हटाया,जेटीए को नोटिस
- नोखड़ा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मंे चिकित्सक एवं मेल नर्स लंबे समय से अनुपस्थित मिले। ग्रेवल सड़कांे की गुणवत्ता सुधारने के निर्देष।
बाड़मेर,30 जून। सिणधरी पंचायत समिति की सांजटा ग्राम पंचायत मंे महात्मा गांधी नरेगा योजनान्तर्गत चल रही ग्रेवल सड़कांे की आकस्मिक जांच के दौरान अनियमितताएं पाए जाने पर मेट को तत्काल हटा दिया गया। वहीं निरीक्षण मंे लापरवाही बरतने पर कनिष्ठ तकनीकी सहायक को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। निरीक्षण के दौरान श्रमिकांे को पांच-पांच के गु्रप मंे कार्य करवाने के निर्देष दिए गए। अतिरिक्त जिला कार्यक्रम समन्वयक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी एल.आर.गुगरवाल ने रविवार को सिणधरी पंचायत समिति की सांजटा एवं नोखड़ा ग्राम पंचायत मंे महात्मा गांधी नरेगा योजनान्तर्गत चल रहे कार्याें का आकस्मिक निरीक्षण किया।
ग्राम पंचायत सांजटा मंे ग्रेवल सड़क निर्माण सांजटा से बेरड़ो की ढाणी तक चल रहे कार्य पर नियोजित 102 मंे से 51 श्रमिक ही मौके पर मिले। यहां पांच-पांच के गु्रप मंे कार्य नहीं कराया जा रहा था। मौके पर मस्टररोल नहीं होने एवं अन्य अनियमितताएं बरतने पर मेट जोगाराम को तत्काल हटा दिया गया। वहीं कनिष्ठ तकनीकी सहायक बाबूलाल को इस कार्य का एक बार भी निरीक्षण नहीं करने एवं कार्य की गुणवत्ता सही नहीं होने की वजह से कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। इसी ग्राम पंचायत मंे ग्रेवल सड़क आबादी भूमि से विलेज तलिया तक चल रहे कार्य पर 83 मंे से 42 श्रमिक मौके पर मिले। मुख्य कार्यकारी अधिकारी एल.आर.गुगरवाल ने सहायक अभियंता सुमेरसिंह एवं अन्य कार्मिकांे को ग्रेवल सड़कांे की गुणवत्ता सुधारने एवं इनकी पटरी निर्माण भी कराने के निर्देष दिए। ग्राम पंचायत नोखड़ा मंे अपूर्ण ग्रेवल सड़क राषि नाडी से सांजटा संपर्क सड़क तक कार्य पर 95 मंे से 65 श्रमिक मौके पर मिले। नाइयो की नाडी खुदाई कार्य पर 59 मंे से 49 श्रमिक मौके पर मिले। यहां श्रमिकों को नाडी की पाल की दूसरी तरफ खोदी गई मिटटी डालने के निर्देष दिए गए, ताकि बारिष के दौरान मिटटी बहकर वापिस तालाब मंे नहीं आए। इसी तरह गुणेष नाडा खुदाई कार्य पर 65 मंे से 47 श्रमिक एवं गंवाई नाडी नोखड़ा खुदाई कार्य पर 62 मंे 60 श्रमिक उपस्थित मिले। इस दौरान सहायक अभियंता सुमेरसिंह, सरपंच वागाराम खत्री, ग्रामसेवक मुकनाराम, ग्राम रोजगार सहायक सुखदेव भी उपस्थित थे।

मुख्य कार्यकारी अधिकारी गुगरवाल ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र नोखड़ा का आकस्मिक निरीक्षण किया। इस दौरान डा.रामसिंह यादव 22 जून एवं पुरखाराम चैधरी मेल नर्स प्रथम 17 जून से अनुपस्थित पाए गए। उपस्थिति रजिस्टर मंे इनकी अनुपस्थिति इन्द्राज करते हुए इनके खिलाफ कार्यवाही के लिए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देष दिए गए। इस दौरान डा.राजेष गुर्जर ने बताया कि चिकित्सालय मंे जेएसवाई मंे निर्मित वार्ड को पिछले दो साल से हैड ओवर नहीं किया गया है। इसके अलावा अस्पताल की छत बारिष के दौरान टपकती है। इसकी वजह से स्टाफ एवं मरीजांे को खासी परेषानी होती है। इस पर सार्वजनिक निर्माण विभाग को अधिकारियांे को इस समस्या समाधान के लिए निर्देषित किया गया।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top