एक और भारतीय कैदी की पाक में हत्या! 
इस्लामाबाद। 
पाकिस्तान के लाहौर में गुरूवार को भारतीय कैदी जाकिर मुमताज की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। बताया जा रहा है कि दिल का दौरा पड़ने से भारतीय कैदी की मौत हुई। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बीमार पड़ने के बाद जाकिर को बुधवार को जिन्ना अस्पताल में भर्ती कराया गया। 
सूत्रों ने बताया कि 50 साल के जाकिर की संदिग्ध दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई। बताया गया है कि मौत की असली वजह पोस्टमार्टम के बाद ही सामने आएगी। अमृतसर निवासी जाकिर को अवैध तरीके से पाकिस्तान की सीमा में प्रवेश करने के आरोप में 3 अगस्त 2011 को गिरफ्तार किया गया था। उसे लाहौर की कोट लखपत जेल में भेजने से पहले शेखपुरा की जेल में रखा गया था। 
भारतीय नागरिक सरबजीत सिंह की हत्या के दो महीने बाद यह घटना सामने आई है। कोट लखपत जेल में ही सरबजीत सिंह पर हमला हुआ था। हमले में गंभीर रूप से घायल हुए सरबजीत को लाहौर के जिन्ना अस्पताल में भर्ती कराया गया था,जहां उसकी मौत हो गई थी। पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने सरबजीत को फांसी की सजा सुनाई थी। उसे लाहौर और फैसलाबाद में हुए बम धमाकों के मामले में दोषी करार दिया गया था।
बम धमाकों में 14 लोगों की मौत हुई थी। 28 अगस्त 1990 की रात सरबजीत को कसूर के नजदीक भारत-पाकिस्तान सीमा से पकड़ा गया था। उसे पाकिस्तान के बॉर्डर गार्डो ने गिरफ्तार किया था। पाकिस्तान का कहना था कि वह भारतीय खुफिया एजेंसी रॉ का जासूस था जबकि भारत इन आरोपों को सिरे से खारिज करता रहा। 
सरबजीत की हत्या के बाद दोनों देशों के रिश्तों में तनाव उत्पन्न हो गया था। सरबजीत की हत्या के बाद जम्मू की जेल में पाकिस्तानी कैदी सनाउल्लाह पर हमला हुआ था। उसे चंडीगढ़ के अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उसने दम तोड़ दिया था।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top