रिफाइनरी के पास बनेगा 300 बीघा में तलाब 

जयपुर। 
बाड़मेर जिले के पचपदरा में रिफाइनरी के पास ही 300 बीघा जमीन में तलाब बनेगा। इसके लिए जमीन ऎसे स्थान पर चिह्नित की गई है, जहां बरसाती पानी जमा हो। रिफाइनरी में किसी भी हादसे को देखते हुए तलाब इस तरह तैयार किया जाएगा, जिसमें हमेशा पानी लबालब रहे। इसी तरह रिफानरी की सुरक्षा को देखते हुए 3 से 4 किलोमीटर की दूरी पर कॉलोनी बसाई जाएगी। एचपीसीएल ने इसके लिए भी 700 बीघा जमीन का चिह्नीकरण कर लिया है। यह कॉलोनी सड़क नेटवर्क से इतनी दूर होगी, जिससे कुछ मिनट में ही रिफाइनरी तक पहुंचा जा सके।
जल्द होगा करार
रिफाइनरी के लिए जगह चिह्नित होने के बाद पेट्रोलियम विभाग व हिन्दुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लि. (एचपीसीएल) ने नई कम्पनी के गठन के लिए ज्वॉइंट वेंचर एग्रीमेंट की तैयारी शुरू कर दी है। यह एग्रीमेंट दो-तीन दिन के भीतर होगा। इसके साथ ही नई कम्पनी "एचपीसीएल राजस्थान रिफाइनरी लिमिटेड" काम करना शुरू कर देगी। पेट्रोलियम विभाग के जानकारों के मुताबिक एग्रीमेंट के लिए कागजी कार्रवाई लगभग पूरी हो चुकी है। रिफाइनरी में एचपीसीएल की 74 फीसदी तथा राजस्थान सरकार की 26 फीसदी हिस्सेदारी रहेगी। एग्रीमेंट में राज्य सरकार की ओर से दी जाने वाली अन्य सुविधाओं, राहत पैकेज सहित नियम व शर्ते तय होंगी। 
दूसरी बार चिह्नित हुई जमीन 
पेट्रोलियम विभाग के जानकारों के मुताबिक हाल ही चिह्नित जमीन से पहले पचपदरा में ही दूसरे स्थान पर जमीन चिह्नित की गई थी। लेकिन उस जमीन के कुछ हिस्से में हाल ही बरसात के दौरान पानी भरने और लगभग 15 फीसदी जमीन किसानों की आने के कारण जगह में बदलाव किया गया। अब चिह्नित जमीन ऊंचे स्थान पर है, जिससे बरसात का पानी नहीं भरेगा और करीब पूरी जमीन सरकारी है। 

उद्योग विभाग डीएलसी दर पर देगा जमीन
एचपीसीएल राजस्थान रिफाइनरी लिमिटेड को जमीन का कब्जा जल्द सौंपने के लिए स्टेट सॉल्ट डिपार्टमेंट ने डीडवाना में बैठने वाले मैनेजर से बाड़मेर जाकर शीघ्र जमीन राजस्व विभाग को हस्तांतरित करने को कहा है। राजस्व विभाग जमीन ट्रांसफर होने के बाद कलक्टर से जमीन का भू-उपयोग औद्योगिक श्रेणी में करके उद्योग विभाग को जमीन का कब्जा सौंपेगा। उद्योग विभाग रिफाइनरी के लिए जमीन डीएलसी दर पर एचपीसीएल राजस्थान रिफाइनरी लिमिटेड को आवंटित करेगा।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top