आत्मविश्वास से व्यक्तित्व निखारने की सीख दी 

बाड़मेर
एमबीसी राजकीय महिला महाविद्यालय में हिंदी परिषद की ओर से आयोजित हिंदी पखवाड़ा का समापन कलात्मक एवं रचनात्मक अंदाज में हुआ। समारोह में सृजनात्मक कार्यक्रम की धूम रही। आशुभाषण, मुहावरा, लोकोक्ति प्रतियोगिता के साथ बूझो तो जानें तथा लड़कियों के लिए ड्रेस कोड जैसे विषय पर वाद विवाद मुकाबलों में छात्राओं ने उत्साह से भाग लिया। 
कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे कालेज प्राचार्य प्रो.बैसिल फर्नांडिस ने छात्राओं का उत्साहवर्धन करते हुए कहा कि आज का प्रयास कल मजबूत आत्मविश्वास के साथ व्यक्तित्व को निखारेंगे। 
प्रो.फर्नांडिस ने कहा कि हिंदी में सृजनात्मक उड़ान देती है, हमें इसका अधिकाधिक प्रयोग करना चाहिए। कार्यक्रम में सबसे रोचक मुकाबला वाद विवाद रहा। इसमें व्यक्तिगत श्रेणी में वैशाली शर्मा को प्रथम, मैना को द्वितीय व मनीषा को तीसरा स्थान मिला। दल में मनीषा व मैना की जोड़ी प्रथम, प्रमिला व लीला को द्वितीय एवं पूजा व वैशाली को तीसरा स्थान मिला। 
इसी तरह आशुभाषण में कीर्तिका चौहान को प्रथम, वैशाली शर्मा को द्वितीय व सरस्वती तथा मैना शर्मा को तीसरा स्थान मिला। बूझो तो जाने मुकाबले में छात्राओं ने लोकोक्ति और मुहावरों की अनबूझ पहेली को इशारों से हल किया।सरस्वती दाधीच की जोड़ी को पहला स्थान मिला। व्यक्तित्व विकास में मातृभाषा अनमोल है विषय पर आयोजित भाषण में वैशाली को प्रथम, मंगली विश्नोई को द्वितीय एवं मनीषा शर्मा को तीसरा स्थान प्राप्त हुआ। वरिष्ठ कवि कन्हैयालाल वक्र, स्वामी कृष्ण व युवा कवयित्री रुपाली शर्मा ने निर्णायक के बतौर छात्राओं की प्रतिभाओं का अंकन कर उन्हें बेहतर प्रदर्शन के लिए मार्गदर्शन किया। संयोजक मुकेश पचौरी ने बताया कि विजयी छात्राओं को एक विशेष आयोजन में पुरस्कृत किया जाएगा। 

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top