बाड़मेर में अशोक गहलोत का शक्ति प्रदर्शन, गहलोत हुए पास 

बाड़मेर 
गुरुवार को राजस्थान में यु पी ए चेयरपर्सन सोनिया गाँधी के सामने अशोक गहलोत ने राजस्थान में होने वाले अगले साल विधानसभा चुनावो को देखते हुए बाड़मेर में अपना शक्ति प्रदर्शन किया इस विशाल सभा में डेढ़ लाख के करीब लोग शामिल हुए दरसल राजस्थान में पिछले कुछ समय से बार बार असंतुष्ट विधयाको के दवारा नेतृत्व परिवर्तन की माग की जा रही थी लेकिन राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने यह साबित कर दिया कि उनकी अगवाई में जो सरकार चल रही है उससे जनता बहूत खुश है 
राजस्थान में बार बार काग्रेस के असंतुष्टो विधयाको के द्वार दिल्ली में जा कर गहलोत को परिवर्तन की माग के बाद और करीब एक साल बाद कांग्रेस की मुखिया सोनिया गाँधी पहली बार राजस्थान के दौर पर आई पिछले करीब एक सप्ताह से है राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सहित कई मंत्री और विधायक इस विशाल सभा के लिए अपनी पूरी ताकात छोक दी थी गुरुवार को जब सुबह भीड़ जुटनी शरू हुई तो मानो लोगो सकडो लोगो के काफिले एक साथ आना शरू हुए और देखते ही देखते पूरा स्टेडियम पूरा खाचा खच भर गया और लोग इस भयंकर गर्मी में सोनिया गाँधी के भाषण सुनने के लिए बे सबरी से इन्तजार कर रहे थे स्टेडियम के खाचा खच भरने पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, मंत्रियो और विधयाको ने रहात की सास ली इस मोके पर सोनिया गाँधी ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की जमकर तारीफ की और उन सभी असंतुष्ट विधयाको नेतृत्व परिवर्तन की माग को मनो दर किनार ही कर दिया हो 
दरसल पिछले एक साल से राजस्थान में भवरी प्रकरण और गोपाल गढ़ दंगो को लेकर यह बात बार सामने आ रही थी कि राजस्थान के कांग्रेस के परम्परा गत वोटर कांग्रेस से दूर हो रहा है जिसके चलते आल कमान अशोक गहलोत के काम से संतुष्ट नहीं है लेकिन सोनिया के इस दौर ने इन सभी सवालो को माने एक तरह से ख़ारिज ही कर दिया हो और राजस्थान में अशोक गहलोत के काम से आल कमान पूरा संतुष्ट है इस मोके पर अशोक गहलोत ने अपने भाषण में कहा कि सरकार गरीबो के लिए कई योजनाए चल रही है जिसका फायदा राजस्थान कि जनता को हो रहा है 
सोनिया गांधी की यह सभा चुनाव से पहले का शक्तिप्रदर्शन बन कर साबित हुई हैं , राजनीतिक हलको में इस सभा को कम नहीं आँका जा रहा हैं वहीं दूसरी तरफ करीब डेढ़ लाख लोगो की भारी संख्या का यहाँ पहुंचना चुनाव से पहले की बड़ी तैयारी मानी जा रही हैं । लेकिन शक्ति प्रदर्शन के लिए बाड़मेर को चुना जाना अभी भी लोगो में जिज्ञासा का कारण बना हुआ हैं सोनिया गांधी ने अशोक गहलोत की सरकार के द्वारा राज्य में किये गए कार्यो और चलाई गई योजनाओं को भी जनता के सामने रखा और अगले साल होने वाले चुनाव तक कोई परिवर्तन होता नजर नहीं आ रहा है

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top