दक्षिण पश्चिम मानसून से संभावित बाढ  से बचाव को पुख्ता प्रबन्ध 

बाडमेर, 7 जून। जिले में आगामी दिनों में दक्षिणी पिश्चमी मानसून के आगमन पर संभावित अतिवृश्टि अथवा बा के हालात पैदा होने पर बचाव के पुख्ता प्रबन्ध किए गए है। जिला कलेक्टर डॉ. वीणा प्रधान ने गुरूवार को कलेक्ट्रेट सभागार में सहायता प्रबन्धों की विस्तृत समीक्षा की। इस अवसर पर जिला कलेक्टर ने अधिकारी को संभावित अतिवृश्टि से निपटने के लिए सभी आवश्यक तैयारियां समय से पूर्व पूर्ण करने के निर्देश ताकि ऐसी स्थिति उत्पन्न होने पर हालात से निपटा जा सकें। उन्होने बा के दौरान संचार व्यवस्थाओं को अति महत्वपूर्ण बताते हुए इसे सुचारू रखने के निर्देश दिए तथा अधिकारियों को महत्वपूर्ण टेलीफोन नम्बरों की सूची उपलब्ध रखने के निर्देश दिए। साथ ही जिला मुख्यालय समेत सभी उपखण्ड मुख्यालयों तथा जन सुविधाओं से जुडे प्रमुख विभागों में 15 जून से नियंत्रण कक्ष स्थापित करने तथा उनके दूरभाश नम्बर के व्यापक प्रचार के निर्देश दिए। जिला कलेक्टर डॉ. प्रधान ने विभागवार बा की स्थिति से निपटने के लिए की गई तैयारी की समीक्षा की तथा उपलब्ध संसाधनों को दुरस्त रखने के निर्देश दिए। बैठक में रेत के कट्टे, नाव, लाइफ जैकेट, तैराकों की सूची, रेपिड रेस्पोन्स दलों आदि पर विस्तृत चर्चा की गई। उन्होने वशार से पूर्व नालों की सफाई करवाने तथा विद्युत लाईनों को दुरस्त रखने के निर्देश दिए। जिला कलक्टर ने लूणी नदी के सभी पुलों व रपटों की सफाई के निर्देश दिए तथा यहां पर चेतावनी बोर्ड लगाने तथा पानी नापने के मीटर गेज लगाने की भी हिदायत दीं। उन्होंने बाड़मेर तथा बालोतरा में कच्ची बस्तियों तथा निचले इलाकों का चिन्हिकरण करने के निर्देश दिए। उन्होने बा की आंशका वाले सभी क्षेत्रों में रसद तथा चिकित्सा की पर्याप्त व्यवस्था की हिदायत दी। इस मौके पर उन्होने कहा कि बा बचाव तैयारियों के तहत मोटर बोटो का प्रशिक्षण के तौर पर संचालन कर उनको परख लिया जाए। उन्होने उपखण्ड अधिकारियों को तैराकों की सूची अपडेट रखने के निर्देश दिए। साथ ही उन्होने विभागवार बा बचाव के उपायों तथा संसाधनों की जानकारी ली। बैठक में मुख्य कार्यकारी अधिकारी एल.आर. गुगरवाल, अतिरिक्त जिला कलेक्टर अरूण पुरोहित, अतिरिक्त जिला पुलिस अधीक्षक रामसिंह मीणा, अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी रामस्वरूप मीणा समेत उपखण्ड अधिकारी, तहसीलदार तथा विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। 

अवैद्य खनन के विरूद्ध संयुक्त अभियान की समीक्षा 

बाडमेर, 
जिला कलेक्टर डॉ. वीणा प्रधान ने गुरूवार को जिले में अवैद्य खनन की रोकथाम के लिए खनिज विभाग, प्रशासन तथा पुलिस द्वारा चलाए जा रहे संयुक्त जांच अभियान की प्रगति की समीक्षा की। इस अवसर पर जिला कलेक्टर ने निर्देश दिए कि अभियान के दौरान माननीय उच्चतम न्यायालय के आदेशों की पालना सुनिश्चित की जाए तथा अवैद्य खनन किसी भी स्थिति में नहीं होने पाए। उन्होने बताया कि संयुक्त अभियान के लिए खनिज विभाग को नोडल विभाग बनाया गया है इसलिए वह सभी से समन्वय कर कार्य योजना के अनुसार अवैध खनन के खिलाफ पुख्ता कार्यवाही करें।बैठक में जिला कलेक्टर ने अवैध खनन की रोकथाम के लिए अधिकारियों को मुश्तैदी से कार्य करने के निर्देश देते हुए कहा कि राजकीय भूमि का अवैध खनन होने पर खनन विभाग के साथ साथ राजस्व प्रशासन भी अपनी कार्यवाही अमल में लाए। उन्होने खनन की गई सामग्री तथा उपकरणों की जब्तगी के साथ साथ पुलिस में मुकदमा दर्ज कराने को भी कहा। बैठक में अतिरिक्त जिला कलेक्टर अरूण पुरोहित समेत संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। 

राज.राज्य एवं अधीनस्थ संयुक्त प्रतियोगी(प्रारम्भिक) परीक्षा सुव्यवस्थित रूप से सम्पादित कराने के लिए पुख्ता प्रबन्ध 

बाडमेर, 7 जून। राजस्थान राज्य एवं अधीनस्थ संयुक्त प्रतियोगी (प्रारम्भिक) परीक्षा जिला मुख्यालय बाडमेर पर 14 जून को दो सत्रों में प्रातः 9.00 बजे से 11.00 बजे तक एवं दोपहर 2.00 बजे से 4.00 बजे तक आयोजित कराया जाना निश्चित किया गया है। जिला कलेक्टर डॉ. वीणा प्रधान ने एक आदेश जारी कर उक्त परीक्षा को सुव्यवस्थित ंग से सम्पादित कराने हेतु अतिरिक्त जिला कलेक्टर अरूण पुरोहित को समन्वयक एवं प्रधानाचार्य राउमावि बाछडाउ प्रेम प्रकाश व्यास को सहायक समन्वयक नियुक्त किया है। इसी प्रकार उपखण्ड अधिकारी बाडमेर सीआर देवासी, उपखण्ड अधिकारी शिव नखतदान बारहठ, उपखण्ड अधिकारी चौहटन राकेश कुमार, उपखण्ड अधिकारी गुडामालानी मु0 बाडमेर जीतेन्द्रसिंह नरूका एवं उपखण्ड अधिकारी बालोतरा कमलेश आबूसरिया को उप समन्वयक नियुक्त किया गया है। अनुचित साधनों का उपयोग एवं अनुचित लाभ प्राप्त करने के प्रयासों की रोकथाम हेतु पांच सतर्कता दल गठित किए गए है। साथ ही वाणिज्य कर अधिकारी बाडमेर एवं जिला रसद अधिकारी बाडमेर के नेतृत्व में विशोश जॉच दलों का गठन किया गया है। डॉ. प्रधान ने बताया कि परीक्षा से संबंधित विधिक जानकारी परीक्षार्थियों को उपलब्ध कराने हेतु जिला कलक्टर कार्यालय में दूरभाश नम्बर 02982 220007 पर दिनांक 12 से 13 जून तक प्रातः 9.30 से सायं 6.00 बजे तक एवं परीक्षा तिथि 14 जून को प्रातः 7.00 बजे से परीक्षा संबंधी सम्पूर्ण कार्यवाही सम्पन्न होने तक नियन्त्रण कक्ष की स्थापना की जाकर कार्मिकों को नियुक्त किया गया है। 
फोटो स्टेट मशीन व प्रतिलिपि करने के अन्य साधन रहेंगे प्रतिबन्धित 
जिला कलेक्टर डॉ. वीणा ने बताया कि परीक्षा को निश्पक्ष एवं सुचारू रूप से सम्पन्न करवाये जाने के लिए सार्वजनिक हित को मध्य नजर रखते हुए जिला मुख्यालय बाडमेर पर स्थित समस्त परीक्षा केन्द्रों पर व समस्त फोटो स्टेट व फैक्स करने की दुकानों एवं साईबर कैपे पर 14 जून को प्रातः 8.00 बजे से सायं 5.00 बजे तक फोटो स्टेट मशीन एवं प्रतिलिपि करने के अन्य साधनों को प्रतिबन्धित करने के आदेश जारी किए गए है।  

एन.ओ.सी. जारी कराने हेतु कार्यवाही के निर्देश 
बाडमेर,
जिला कलेक्टर डॉ. वीणा प्रधान की अध्यक्षता में जालीपा लिग्नाईट परियोजना संबंधी अवाप्त भूमि का कब्जा लेने, भवन तथा भूमि खाली करवाने आदि के कार्य के पर्यवेक्षण बाबत गठित कमेटी की बैठक गुरूवार को कांफ्रेन्स हॉल में आयोजित हुई। इस मौके पर जिला कलेक्टर ने भूमि अवाप्ति अधिनियम की धारा 11 (1) के प्रकरणों का भौतिक कब्जा लेने, कपूरडी की 10 ाणियों को खाली करवाने, हाईवे डायवर्जन के लिए ग्राम पंचायत भाडखा की एनओसी जारी कराने, बकाया म्यूटेशन भरे जाने सहित विभिन्न बिन्दुओं पर संबंधित अधिकारियों से विस्तार पूर्वक समीक्षा कर ाीध्र कार्यवाही के निर्देश दिए। बैठक में राजवेस्ट पॉवर लिमिटेड भादरेस द्वारा जालीपा लिग्नाईट परियोजना हेतु अवाप्ति की गई भूमि के 6 प्रकरणों में कब्जे लेने ोश होना बताया गया। उन्होने जिन जिन काश्तकारों को मुआवजा राशि का भुगतान कर भूमि का कब्जा व रेकर्ड में नामान्तरकरण आरएसएमएम के नाम दर्ज हो चुके है, की भूमियों की ट्रेन्चिंग पूर्ण कराने को कहा। साथ ही जालीपा परियोजना के अन्तर्गत आने वाली सरकारी परिसम्पतियों स्कुलों, बीएसएनएल टॉवर व सरकारी भूमियों के संबंध में संबंधित विभागों को एन.ओ.सी. जारी कराने हेतु ाीध्र कार्यवाही के निर्देश दिए बैठक में अतिरिक्त जिला कलेक्टर अरूण पुरोहित, उपखण्ड अधिकारी सी.आर. देवासी, राजवेस्ट पॉवर लिमिटेड के निदेशक अनिल सूद सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। 

अनाधिकृत रूप से संचालित इकाईयों को सीज करने के निर्देश 

बाडमेर, 
जिला कलेक्टर डॉ. वीणा प्रधान की अध्यक्षता में गुरूवार सायं औद्योगिक इकाईयों द्वारा लूनी नदी में रसायनिक पानी छोडे जाने की रोकथाम के संबंध में बैठक आयोजित हुई। इस अवसर पर जिला कलेक्टर डॉ. प्रधान ने सीईटीपी से जुडी ईकाईयों की कन्सन्ट टू आपरेट सूची, एवं जो ईकाईया सीईटीपी से जुडी हुई नहीं है, उसकी सूची ट्रस्ट को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। उन्होने प्रदूशण मण्डल को अनाधिकृत रूप से संचालित की जा रही ईकाईयों को ाीध्र सीज करने की कार्यवाही के निर्देश दिए। बैठक में बताया गया कि सीईटीपी ट्रस्ट बालोतरा, बिठुजा एवं जसोल में 40 प्रतिशत क्षमता का टेक्सटाइल उद्योग चलाने का निर्णय प्रशासन का न होकर स्वयं ट्रस्ट का है। जिला कलेक्टर ने सीईटीपी ट्रस्ट तथा प्रदूशण मण्डल द्वारा संयुक्त रूप से सर्वे कर ट्रस्ट की अनुमति से अधिक मशीनरी पाए जाने एवं उद्योग परिसर में बोरवेल, टयुबवेल पाए जाने पर उसे ाीध्र हटाने के निर्देश दिए। बालोतरा, बिठुजा एवं जसोल में लगभग सभी जल प्रदूशणकारी वस्त्र उद्योग के संचालन के संबंध में राज्य सरकार से मार्ग दशर्न हेतु पत्र लिखने के राजस्थान प्रदूशण मण्डल बालोतरा को निर्देश दिए गए। जिला कलेक्टर ने रात्रि में उद्योगों के संचालित किये जाने पर प्रदूशिर्त पानी को सीईटीपी के अतिरिक्त अन्य स्थान पर डालने की रोकथाम के लिए ट्रस्ट द्वारा निगरानी रखने के निर्देश दिए। इसी प्रकार बिठुजा क्षेत्र मे जो उद्योग सिमेन्ट की होदियों पर धुलाई का कार्य कर रहे है, उनको जीगर पर धुलाई करने के लिए पाबन्द करने के ट्रस्ट एवं प्रदूशण नियन्त्रण मण्डल को निर्देश दिए गए। उन्होने बारिश होने पर औद्योगिक इकाईयों से प्रदूशिर्त जल लूनी नदी में प्रवाहित न हो, इसकी सुनिश्चितता करने के ट्रस्ट को निर्देश दिए। बैठक में अतिरिक्त जिला कलेक्टर अरूण पुरोहित, उपखण्ड अधिकारी कमलेश आबूसरिया, सीईटीपी बालोतरा के अध्यक्ष रूपचन्द सालेचा, सीईटीपी जसोल के अध्यक्ष डूंगरचन्द सांलेचा, सीईटीपी बालोतरा के सदस्य सचिव जुगलकिशोर, सीईटीपी ट्रस्टी गनी मोहम्मद, लक्ष्मणराम चौधरी, सहायक पर्यावरण अभियन्ता राकेश कुमार धीगडा, क्षेत्रीय प्रबन्धक रीको एस.एन. रामदेव सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित थे। 

गोल्डन कटार सड़क सुरक्षा सप्ताह के अन्तर्गत दुपहिया वाहन रैली का आयोजन 

बाडमेर, 
जालीपा सैन्य छावनी में मनाये जा रहे गोल्डन कटार सड़क सुरक्षा सप्ताह के अन्तर्गत गुरूवार को दुपहिया वाहन रैली का आयोजन किया गया। जिला पुलिस अधीक्षक राहुल बारहट ने रैली कप्तान को हेलमेट प्रदान किया तत्पश्चात जालीपा सैन्य छावनी के स्टेशन कमाण्डर एवं पुलिस अधीक्षक ने हरी झण्डी दिखाकर रैली को रवाना किया। इस रैली में 65 मोटर साइकिल सवारों को कीर्ति मोटर्स के सौजन्य से 15 मोटर साइकिल उपलब्ध कराई गई। इस रैली का मुख्य उदे्श्य सुरक्षित समाज की आवधारणा प्राप्त करने के लिए सेना के चिरस्थायी संकल्प को मजबूत बनना तथा सैन्य परिवारों के साथसाथ स्थानीय नागरिकों में सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूक करना और सुरक्षित यातायात के बारे में अपनी जिम्मेदारी को समझाना है। यह रैली जालीपा सैनिक स्टेशन से प्रारम्भ होकर कलेक्ट्रेट परिसर से होते हुए रेल्वे स्टेशन एवं ाहर के विभिन्न इलाकों से निकली। इस दौरान जवानों द्वारा सड़क सुरक्षा से सम्बन्धी पेम्पलेट ड्राइवरों, राहगीर और बच्चों को बॉटी गई।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top