ग्राम कचहरी में जिंदा हुई मृत महिला 
सासाराम। 
बिहार में चौबीस वर्षो से जिन्दा होने का प्रमाणपत्र लेने के लिए दर-दर भटक रही महिला को ग्राम कचहरी में मिला जिन्दा होने का प्रमाण। मामला सूर्यपुरा थाना के बारून गांव का है। जहां के निवासी रामजन्म सिंह ने अपनी पत्नी अशर्फी देवी को मृत घोषित कर दूसरी शादी रचा ली थी। पहली पत्नी अशर्फी देवी को अपनी सम्पति से बेदखल करने के लिए सासाराम नगर परिषद से उसका मृत्यु प्रमाण पत्र भी बनवा डाली थी जिसके बाद से महिला खुद को जिंदा साबित करने के लिए दर-दर की ठोकरें खा रही थी। उसने थाना, कोर्ट के अलावे एसपी, डीएम तक का दरवाजा खटखटाया, लेकिन कहीं न्याय नहीं मिला। थक-हार कर उसने सूर्यपुरा पंचायत के ग्राम कचहरी में आवेदन किया। महिला सरपंच संध्या सिन्हा ने अशर्फी देवी को जिंदा होने का फैसला खचाखच भरी ग्राम कचहरी में सुनाया। ग्राम कचहरी में बीडीओ उदय प्रकाश, सीओ सत्येन्द्र सिंह, थानाध्यक्ष कमाल अख्तर व ग्रामीण जनता मौजूद थे।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top