जिनशासन विहार सेवा का प्रथम अधिवेशन कुशल वाटिका मे सम्पन्न
बाडमेर विधायक जैन व सभापति बोथरा ने की शिरकत
बाडमेर। 
जिनशासन विहार सेवा ग्रुप का प्रथम अधिवेशन शुक्रवार को कुशल वाटिका प्रांगण में प.पू.प्रवर्तिनी शशिप्रभा श्री जी म.सा. ,विहार सेवा ग्रुप प्रेरिका सौम्यगुणा श्री जी म.सा.आदि ठाणा की निश्रा में श्री जैन श्वेताम्बर खरतरगच्छ चातुर्मास समिति के तत्वाधान में जिनशासन विहार सेवा गु्रप की 15 शाखाओं का प्रथम अधिवेशन के कार्यक्रम का शुभारम्भ भगवान मुनिसुव्रत स्वामी के प्रतिमा के समक्ष द्वीप प्रज्जवलित कर व प.पू.प्रवर्तिनी शशिप्रभा श्री जी म.सा. के मंगलाचरण से शुरू हुआ।जिनशासन विहार सेवा गु्रप के संरक्षक रमेश कानासर व अध्यक्ष सुनिल छाजेड ने बताया कि विहार गु्रप के प्रथम अधिवेशन के द्वीप प्रज्जवलित के बाद सर्वप्रथम खरतरगचछ संघ चातुर्मास समिति के अध्यक्ष रतनलाल संखलेचा ने स्वागत भाषण देते हुए कहा कि युवा के ऐसे पुनित कार्य की सराहना करते हुए उन्हे आगे बढने के लिए प्रेरित किया गया।जिनशासन विहार सेवा गु्रप द्वारा चातुर्मास में चार माह धम्र,आराधना व साधु भगवन्तो की उपस्थिति में अपनी सेवाए दी।बाडमेर विधायक मेवाराम जैन ने उदबोधन देते हुए कहा कि युवाओ में प्रभुदर्शन तथा प्रवचन के प्रति जाग्रति बढी है।आज के आधुनिक समय मे युवाओ का धर्म के प्रति आगे बढना बहुत बडी उपलब्धि है।इय तरह ही विहार सेवा की तरह ग्रुप बनाने चाहिए और अपने समाज को आगंे बढाना चाहिए। जैन ने कहा कि साधु-साध्वीयो की सेवा करना ही सबसे बडा पुण्य है,तथा साधु-साध्वीयों के साथ विहार मे चलने से कर्मो की निर्जरा होती है।नगर परिषद संभापति लूणकरण बोथरा ने कहा कि वैयावच्च व शिक्षण ,साधु-साध्वीयों के किसी भी प्रकार की सेवा के लिए सहयोग हेतु तत्पर है।इस विहार सेवा ग्रुप के शासन के प्रति सेवा के लिए ऐसे युवा हमेशा तैयार रहे। बोथरा ने कहा कि साधु-साध्वीयो के लिए वैयावच्च के लिए नाकोडा से टस्ट मे अलग से व्यवस्था की गई है अगर नाकोडा टस्ट की और से वैयावच्च की कोई भी प्रकार की आवश्यकता हो तो हमें बताए और इसे हम जरूर सहयोग करेगे। जैन श्री संघ के अध्यक्ष सम्पतराज बोथरा ने कहा कि जिनशासन विहार सेवा गु्रप पुरे भारत भर का नेतृत्व करे इसमे हमार जैन श्री संघ का पूा सहयोग रहेगा। इस सराहनीय कार्य के लिए संघ आपके साथ है।अधिवेशन का सफल संचालन करने जयपुर से पधारे ज्योति कोठारी ने वैयावच्च का लाभ बताते हुए कहा कि इससे कर्मो की निर्जरा के साथ-साथ तीर्थकर नाम कर्म का बंधन होता है।उदाहरण हेतु उन्होने महावीर स्वामी भगवान की अन्तिम दंेशना भी बताई,जिसमें भगवान में गौतम स्वामी से वैयावच्च सम्बन्धी बात की।कोठारी ने विहार का विस्तार से वर्णन किया ।इसी कडी मे मालेगांव से शान्तिलाल छाजेड,ललित मालू,भरत छाजेड व सरिता मालू व कई वक्ताओं ने भी सम्बोधित किया। प.पू.साध्वी शशिप्रभा श्री म.सा. ने विहार सेवा ग्रुप को अधिवेशन की बधाई देते हुए त्याग,तप एवं वैयावच्च का महत्व बताया ।सभी को सप्त व्यसन त्याग करने को कहा।प्रवर्तिनी महोदया ने विहार सेवा गुप के कार्यो की प्रंशसा करते हुए धर्म लाभ दिया कि आन इस तरह ही जिनशासन की संेवा करते रहे और जिनशासन का नाम रोशपन करे।प.पू.विहार गुप प्रेरिका साध्वी सौम्यगुणा श्री ने विहार गुप को अपना उदबोधन व आशीर्वाद दिया।वसी मालाणी क्षे़त्र के विहार गुप को विशेष उदबोधन गुरूवर्या श्री द्वारा दिया गया। इस अधिवेशन में विहार सेवा ग्रुप के सदस्यो के बीच प्रतियोगिताए व प्रश्नोतरी का भी आयोजन हुआ।इसके बाद सभीविहार सेवा ग्रुप की शाखाओं के प्रतिनिधीयो द्वारा अपनी भावनाए जाहिर की गई।कार्यक्रम के मुख्य अतिथि बाडमेर विधायक मेवाराम जैन,नगर परिषद सभापति लूणकरण बोथरा,कार्यक्रम के मुख्य मार्ग दर्शक प्रखर वक्ता ज्योति कोठारी जयपुर,जैन श्री संघ अध्यक्ष सम्पतराज बोथरा,खरतरगच्छ चातुर्मास समिति रतनलाल संखलेचा,कुशल वाटिका निर्माण मंत्री शकरलाल धारीवाल, सहित विभिन्न संस्थाओं के अध्यक्षो का तिलक,माला,श्रीफल,साफा द्वारा व बाहर से पधारे 15 विहार सेवा ग्रुप के शाखओं के अध्यक्षो का मांेमेन्टो द्वारा अभिनन्दन किया गया।इस कार्यक्रम में बाडमेर,बालोतरा,चोहटन,धोरीमन्ना,गुडा,बाछडाउ,देवडा,भादरेश,विशाला,जिजनियाली,रणधा,हरसाणी,जैसलमेर आदि कई क्षेत्रो से विहार सेवा गुपो व राणामल देवडा,केवलचन्द छाजेड,पारसमल धारीवाल,पदमसिह चौधरी,ओमप्रकाश भन्साली,बाबूलाल संखलेचा,पवन छाजेड,रमेश धारीवाल,बाबूलाल छाजेड,मदन बोथरा,भूरचन्द स्टील,शान्तिलाल छाजेड,लूणकरण गोलेच्छा,शंकरलाल छाजेड,पुखराज म्याजलार,राजू वडेरा,पवन संखलेचा,कपिल मालू, आदि ने भाग लिया। कार्यक्रम के अन्त में धन्यवाद भाषण खरतरगच्छ चातुर्मास समिति के महामंत्री व विहार सेवा ग्रुप के संरक्षक केवलचन्द छाजेड ने दिया।इस कार्यक्रम सफल संचालन कुशल वाटिका ट्रस्टी कैलाश कोटडिया ने किया। 

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top