श्रीकृष्ण ने गोपियों के अनुरोध पर की माखन की चोरी 
बाड़मेर 
वृन्दावन धाम से पधारे बाल व्यास श्रीबांके बिहारी जी के द्वारा श्रीमद भागवत कथा का आयोजन श्री बाबा रामदेव मंदिर विष्णु कॉलोनी में बड़े ही धूम-धाम से साथ किया जा रहा है।
कथा के आज पांचवे दिन महाराज ने कथा में वकासुर वध, अधासुर वध, तृणावत वध, पूतना वध की सुन्दर कथा सुनाई एवं भगवान श्री कृष्ण की बाल लीलाओं का सुन्दर वर्णन किया। महाराज जी माखन चोरी की कथा सुनाते हुए बताया कि भगवान श्री कृष्ण ने गोपियों के अनुरोध पर माखन की चारी की। कृष्ण के घर नौ लाख गाये थी उनको माखन चुराने की कोई जरूरत नहीं थी पर ये तो पियों का प्रेम था इसलिए माखन चौर कहलाए। भगवान श्रीकृष्ण ने यशोदा मॉ को मांटी खाने के बहाने मुख में ब्रहमाण्ड का दर्शन कराया। मॉ समझ गयी कि ये बाल साधारण नही हैं ये परम वृहम का अवतार है। 
महाराज ने अपने प्रवचन में बताया कि भगवान श्रीकृष्ण ने गोवर्धन को इन्द्र देवता के कोप से बचाया एवं इन्द्र के अंहकार को नष्ट किया तथा गिर्राज की पूजा कराई एवं छप्पन भोग का प्रसाद वितरण किया। कल की कथा में भगवान श्री कृष्ण का विवाह कराया जायेगा एवं सुन्दर झांकी दिखाई जायेगी। 1601 रूपयें भेंट कर श्री भीकाराम विश्नोई चांडी व श्री जगदीश गिरी गोस्वामी जी ने आज की आरती का लाभ लिया। इस अवसर पर किशन बजरंगी, प्रेमाराम भादू, मेगाराम सारण, आर्यन विश्नोई ने आरती का लाभ उठाया तथा आयोजक श्यामलालजी माली, धनाराम माली, जोगपुरी पुजारी, श्रवण कुमार गौरा, मोटाराम सियोल, रेखाराम, सांवततमल माली ने प्रसादी का लाभ लिया।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top