आरक्षण से जातिवाद का जो जहर फैल रहा है उसे रोका जाये : भाटी 
छात्रसंघ अध्यक्षों एवं प्रतिभाओ का सम्मान समारोह हुआ आयोजित  
बाड़मेर 
आज भगवान महावीर टाउन हॉल में राजपूत समाज के छात्र संघ अध्यक्षों एवं स्कूल व्याख्याता में चयनित प्रतिभावों का सम्मान किया गया आज के कार्यक्रम के मुख्य अतिथि देवींिसह भाटी ने सम्बोधित करते हुए कहा कि आज की आरक्षण व्यवस्था भारत के भविष्य को बर्बाद कर रही है इस व्यवस्था का वापस पुर्नः मूल्याकंन करके न्यायोचित निर्धारण करना चाहिए। ताकि आज के समय आरक्षण के कारण जातिवाद का जो जहर फैल रहा है उसको रोका जा सके। देवीसिंह भाटी ने विष्वास दिलाया कि इस संबंध में वे राज्य सरकार और केन्द्र सरकार तक इस मुद्दे को ले जायेगें और इसका निपटारा करवायेगें। 
आज के कार्यक्रम के विषिष्ठ अतिथि करणसिंह उचीयाड़ा ने सम्बोधित करते हुए कहा कि आज के प्रतियोगिता के समय में कठिन मेहनत से ही सफल हुआ जा सकता है अपने लक्ष्य पर ध्यान केन्द्रित करके मेहनत करें और इन प्रतिभाओं से प्रेरणा लेकर आगे बढे। आज के कार्यक्रम के अति विषिष्ठ अतिथि आन्नदसिंह ने कहा कि जोधपुर छात्रसंघ चुनावों से यह प्रेरणा ली जा सकती र्है कि 36 कौम साथ लेकर चुनाव कैसे जीता जाए इसकी प्रेरणा इन चुनावों से ले सकते है। 
शिक्षाविद् कमलसिंह चूली ने सम्बोधित करते हुए युवाओं को कहा कि संस्कारवान एवं अनुषासित एंग से मेहनत कके अपने उद्देष्य मंे सफल हुआ जा सकता है। 
वरिष्ठ वकील स्वरूपसिंह भाटी ने कहा कि ईमानदारीपूर्वक प्रखर राजनीति करने की युवाओं को सलाह दी। तेजदान देषा ने संत ईष्वरदास के छंद सुनाकर सभा को मंत्रमुग्ध कर दिया। वरिष्ठ वकील रूपसिंह ने कहा कि देवींिसह भाटी के जीवन से प्रेरणा लेकर स्वच्छ राजनीति करने की अपील की। प्रवीणसिंह आगौर ने उद्बोधन करते हुए थार नगरी में सभी अतिथियों का स्वागत किया। तनसिंह चौहान द्वारा सभी अतिथियों एवं प्रतिभाओं को कुनाल सिंह भाटी एवं मयूरध्वजसिंह चौहान को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। 
आज के कार्यक्रम के अध्यक्ष रावल त्रिभुवन सिंह ने सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया। गया । भोमसिंह बलाई ने इस कार्यक्रम का मंच संचालन किया। इस अवसर पर ये भी उपस्थित रहे -सगतसिंह परो, हीरसिंह रणधा, हरिसिंह पूर्व विधायक, खुमाणसिंह सुवाला, वीरसिंह ताणू, मगूसिंह बिषाला, जोगेन्द्रसिंह रामसर, कमलसिंह राणीगांव, महावीरसिंह चूली, गिरधरसिंह कोटड़ा, मेजर पर्बतसिंह, मधूसिंह दांता, स्वरूपसिंह खारा, वकील मोहनसिंह सोढा, वकीलसिहं शौलसिंह, रेवंतंिसह, खेतंिसह भूरटिया, पहाड़सिंह चूली, प्रागसिंह रामसर, किषोरसिंह, बाबूसिंह महाबार, हिन्दूसिह तामलोर, हमीरसिंह केलनोर, नरपतसिंह दूधवा, तनसिंह सनाउ, मंगलसिंह आकोड़ा, तेजमालसिंह मगरा, कमलसिंह दूधवा, अचलसिंह गरल, कैलाष मेहता सहित कई गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top