बाड़मेर हौद की सफाई करते कार्मिक की डूबने से मौत
बाड़मेर.
राजस्थान बाड़मेर शहर के कारेली नाडी स्थित उच्च जलाशय में लेवल इंडिकेटर की रस्सी बांधने भीतर उतरे जलदायकर्मी की मौत हो गई। करीब अस्सी फीट ऊंचे जलाशय में हुए इस हादसे के दौरान मौके पर न तो अन्य कार्मिक था, न ही किसी अधिकारी की यहां पर उपस्थिति रही। हादसे के करीब पांच घण्टे बाद कार्मिक का शव उच्च जलाशय से निकालकर नीचे लाया गया।
जानकारी के अनुसार जलदाय विभाग का हेल्पर जुगताराम (52) पुत्र जेठाराम निवासी बनिया संधा धोरा बायतु भीमजी गुरुवार सुबह करीब ग्यारह बजे कारेली नाडी स्थित उच्च जलाशय पर चढ़ा। जलाशय के लेवल इंडिकेटर की टूटी हुई रस्सी बांधने के लिए वह उसका ढक्कन खोल एल्यूमिनियम की सीढ़ी से भीतर उतरा। 
इसके बाद भीतर क्या हुआ, यह किसी को पता नहीं चल पाया। काफी समय बीतने के बाद भी जब जुगताराम जलाशय से वापस नीचे नहीं आया तो यहां कार्यरत एक कार्मिक टोह लेने के लिए जलाशय के ऊपर गया। वहां उसने जुगताराम को जलाशय में पड़ा देखा और इसकी सूचना सहायक अभियंता सहित अन्य अधिकारियों को दी। 
सूचना मिलने सहायक अभियंता शहर महेश शर्मा यहां पर पहुंचे। सूचना मिलने पर पुलिस के दो जवान भी पहुंचे। बाद में पुलिस उप अधीक्षक ओमप्रकाश उज्ज्वल, कोतवाल भंवरलाल सीरवी भी घटनास्थल पर पहुंचे।

शव निकालने में लिया समय
उच्च जलाशय में जलदायकर्मी की मौत हो जाने के बाद पहले जलाशय का पानी निकाला गया, जो शहर भर में घरों में सप्लाई हो गया। फिर भी जलाशय के भीतर से शव निकालने व उसे नीचे लाने को लेकर उधेड़बुन चलती रही। 
शव को सीढिय़ों से नीचे लाना संभव नहीं था। इस दरम्यान परिजन का भी इंतजार रहा। बाद में कुछ जानकारों को बुलाया गया, जो जलाशय पर चढ़े। फिर जलाशय के भीतर प्रवेश कर शव बाहर निकाल रस्सियों से बांधकर बमुश्किल सीधे जमीन पर उतारा गया। करीब 3.45 बजे शव उच्च जलाशय से नीचे लाया गया।

मोर्चरी ले गए, किया पोस्टमार्टम
करीब चार बजे जुगताराम का शव राजकीय चिकित्सालय स्थित मोर्चरी लाया गया। यहां पर मेडिकल बोर्ड से शव का पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजन को सुपुर्द किया गया। हादसे के बाद घटनास्थल व राजकीय चिकित्सालय परिसर स्थित मोर्चरी में भीड़ रही।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top