हज यात्रा कर लौटे 35 हाजियो का किया इस्तकबाल
रेलवे स्टेशन पर हुई अमनो-अमान और खुशहाली की दुआएं
बाड़मेर। 
सेन्ट्रल हज कमेटी कि ओर से चयनित बाड़मेर शहर के सीमावर्ती इलाके से हज की मुक्कदस यात्रा कर मालाणी ट्रेन से लौटे हाजियों का मुस्लिम भाइयों ने जोरदार इस्तकबाल किया। हाजियों का पहला जत्था जैसे ही ट्रेन से उतरा यहां उनके रिश्तेदारों और मिलने वालों ने गले मिलकर इस्तकबाल करते हुए मुबारकबाद पेश की। हाजियों पर फूल बरसाये और माला पहनाकर खुशी जाहिर की। इस दौरान हाजियों की आँखों से खुशी के आँसू छलक पड़े।
हज ट्रेनर बच्चू खान कुम्हार ने बताया कि हाजियों के पहले जत्थे में 35 हाजी और हाजन हज की मुक्कदस यात्रा पूरी कर बाड़मेर पहुंचे। रेल्वें स्टेशन पर अलसुबह ही हाजियों के रिश्तेदार और मिलने वालों का हुजूम उमड़ पड़ा। लोग हाजियों का इस्तकबाल करने और मुबारकबाद देने के लिए अपने हाथों में मालाएं लेकर बेसब्री से इंतजार करते नजर आये। वतन लौटे हाजियों ने मांगी दुआएँ हज से लौटे हाजियों ने वतन वापसी पर देश की खुशहाली, अमनो अमान व आपसी भाईचारे की दुआएँ कर देश की तरक्की की कामना की।
ये रहे मौजूद
हज यात्रा करके लौटे हाजी नजीर ग्रुप बामणोर, हाजी ताजू खान ग्रुप तामलियार, हाजी शकूर खान ग्रुप कानासर, हाजी अब्दुल सत्तार ग्रुप बाड़मेर शहर, हाजी सुभार खान ग्रुप कानासर, हाजी अल्लाह बख्स ग्रुप बान्द्रा, हाजी खेरदीन ग्रुप कानासर का मुस्लिम इंतेजामिया कमेटी के सयुंक्त सचिव शाह मोहम्मद कोटवाल, सदस्य बरकत हुसैन, ऑल इंडिया कौमी एकता कमेटी के महामंत्री अबरार मोहम्मद, हज ट्रेनर बच्चू खान कुम्हार, सफी खान तामलियार, मौलाना मोहम्मद अली, हाजी सद्दीक, अब्दुल रहमान, नूर मोहम्मद, हाजी रमदान खान सहित कई मुस्लिम भाइयों ने मालाएं पहनाकर इस्तकबाल कर मुबारकबाद पेश की।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top