बाड़मेर स्कूली बच्चो को चतुर्वेदी ने बताए बाल अधिकार
बाड़मेर।
राजस्थान राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष श्रीमती मनन चतुर्वेदी ने बाड़मेर प्रवास के दौरान चैहटन कस्बे में विभिन्न विद्यालयांे मंे पहुंचकर विद्यार्थियांे को बाल अधिकारांे के बारे मंे विस्तार से बताया। उन्होंने इस दौरान आंगनबाड़ी केन्द्रों के बंद रहने एवं नियमित रूप से पोषाहार नहीं मिलने के मामलांे को गंभीरता से लेते हुए संबंधित विभागीय अधिकारियांे को आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए।
आयोग की अध्यक्ष श्रीमती मनन चतुर्वेदी ने बाल अधिकार संरक्षण आयोग की स्थापना, लैंगिक अपराधांे से बालकांे के संरक्षण अधिनियम 2012, आयोग की शक्तियांे, कार्य के बारे मंे जानकारी दी। उन्हांेने विद्यार्थियांे को उनके अधिकारांे शिक्षा, संरक्षण एवं स्वास्थ्य तथा पोषण के बारे मंे अवगत कराया। उन्हांेने इस दौरान उनकी शैक्षणिक स्थिति के बारे मंे जानकारी लेने के साथ शिक्षकांे को नियमित रूप से नैतिक शिक्षा भी पढाने के निर्देश दिए। श्रीमती मनन चतुर्वेदी ने बच्चों की शिक्षा, पोषण, चिकित्सा, सुरक्षा आदि विषयों को गंभीरता से लेने के निर्देश देते हुए कहा कि बाल श्रम व पलायन रोकने के लिए खास प्रयास करने के साथ ही यह भी जरूरी है कि बच्चों के लिए वोकेशनल प्रशिक्षण और इनके भविष्य को सँवारने की दिशा में भी ठोस काम किए जाएं। इसके लिए सकारात्मक चिन्तन के साथ बहुआयामी गतिविधियों का संचालन जरूरी है।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top