विद्यार्थियो के प्रोत्साहन के लिए बाड़मेर कलक्टर की अनूठी पहल
बच्चो ने पूछा कैसे बने कलक्टर, सफलता के लिए कैसे करें तैयारी
-जिला कलक्टर के आवास पर पहुंचे विद्यार्थियो ने कहा कि यहां आना उनके लिए वास्तव में ऐसा अनुभव है जिसकी कल्पना नहीं की जा सकती।
बाड़मेर।
दूधिया रोशनी.....जिला कलक्टर का आवास..... सबके चेहरे पर जिंदगी में कुछ कर गुजरने का जज्बा......विभिन्न प्रकार के प्रश्न पूछते हुए विद्यार्थी और जबाव देते जिला कलक्टर सुधीर शर्मा समेत विभिन्न प्रशासनिक अधिकारी। प्रत्येक प्रश्न का संतोषजनक जबाव और विद्यार्थियांे की जिज्ञासा शांत करने का प्रयास। कुछ ऐसा ही नजारा था सोमवार रात्रि मंे बाड़मेर जिला कलक्टर सुधीर शर्मा के आवास पर आयोजित फिफ्टी विलेजर्स के नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेस टेस्ट (नीट) मंे उत्तीर्ण विद्यार्थियांे के साथ स्नेह मिलन समारोह का। जिला कलक्टर सुधीर शर्मा की ओर से प्रतिभाशाली विद्यार्थियांे को प्रोत्साहित करने के लिए जिला मुख्यालय पर पहली मर्तबा इस तरह का आयोजन किया गया।
जिला कलक्टर सुधीर शर्मा, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल.नेहरा, अतिरिक्त जिला कलक्टर ओ.पी.बिश्नोई, उपखंड अधिकारी एच.आर.मेहरा, अतिरिक्त जिला कार्यक्रम समन्वयक सुरेश कुमार दाधीच, जिला सूचना एवं विज्ञान अधिकारी दिलीप जैन, कोषाधिकारी जसराज चौहान, जिला रसद अधिकारी राकेश शर्मा ने विद्यार्थियांे की प्रतियोगी परीक्षाआंे एवं जीवन के विविध पहलूआंे से जुड़ी जिज्ञासाआंे का सहज एवं सरल तरीके से समाधान किया। जरूरतमंद बच्चांे को शिक्षा विशेषकर चिकित्सकीय सेवा से जोड़ने के लिए बाड़मेर जिला मुख्यालय पर फिफ्टी विलेजर्स की ओर पिछले कुछ वर्षाें से प्रयास किए जा रहे है। इस बार आयोजित नीट परीक्षा मंे फिफ्टी विलेजर्स संस्थान के 28 विद्यार्थियांे का चयन हुआ। जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने इनको प्रोत्साहित करने के लिए अपने आवास पर स्नेह मिलन का आयोजन करने के साथ इनके साथ विशेष तौर पर डिनर भी लिया। इस दौरान विद्यार्थियांे ने जिला कलक्टर सुधीर शर्मा एवं अन्य प्रशासनिक अधिकारियांे से पूछा कि उनका कलक्टर एवं अन्य प्रशासनिक अधिकारियांे के पदांे पर किस तरह के चयन हुआ। उन्हांेने कहीं से कोचिंग ली अथवा किस तरह तैयारी की। इस पर जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने बताया कि उनके समय मंे कोचिंग का प्रचलन नहीं था। उन्हांेने अपने स्वयं के स्तर पर तैयारी करके सफलता हासिल की। उन्हांेने कहा कि प्रतियोगी परीक्षाआंे मंे सफलता के लिए नियमित रूप से अध्ययन करने के साथ महत्वपूर्ण बिन्दूआंे के नोटस बनाए। उन्हांेने कहा कि वर्तमान घटनाक्रम, समाचार पत्रांे के संपादकीय के साथ गुणवत्तायुक्त अध्ययन सामग्री का अध्ययन करें। उन्हांेने कहा कि विद्यार्थी चिकित्सा क्षेत्र से जुड़कर आमजन की सेवा कर सकते है। 
इस दौरान जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल.नेहरा ने कहा कि सफलता के लिए लगातार प्रयास जारी रखने चाहिए। उन्हांेने विभिन्न धार्मिक एवं हिन्दी साहित्य से जुड़े प्रकरणांे का उल्लेख करते हुए सफलता हासिल करने के विविध पहलूआंे से अवगत कराया। अतिरिक्त जिला कलक्टर ओ.पी.बिश्नोई ने कहा कि विद्यार्थियांे ने नीट के जरिए चिकित्सक के रूप मंे मानव सेवा करने का अवसर मिलेगा। उन्हांेने कहा कि प्रशासनिक अधिकारी का पद हो या चिकित्सक का, संपूर्ण उत्तरदायित्वांे को पूर्ण निष्ठा से साथ संपादित किया जाए। उन्हांेने प्रतियोगी परीक्षाआंे के बारे मंे विस्तार से जानकारी दी। इस दौरान कोषाधिकारी जसराज चौहान, अतिरिक्त जिला कार्यक्रम समन्वयक सुरेश कुमार दाधीच ने कहा कि प्रतियोगी परीक्षाआंे मंे सफल होने के लिए विद्यार्थियांे को सम सामयिक गतिविधियांे पर विशेष ध्यान देने के साथ संबंधित उच्च गुणवत्ता की पुस्तकांे के अध्ययन पर ध्यान देना होगा। उपखंड अधिकारी एच.आर.मेहरा ने कहा कि चिकित्सक के रूप से मानव सेवा के सपने को साकार करें। उन्हांेने कहा कि सही मायने मंे वहीं चिकित्सक है जो बिना किसी भेदभाव के आमजन का उपचार करता है। उन्हांेने विभिन्न उदाहरणांे के जरिए विद्यार्थियांे को जीवन मंे सफलता हासिल करने के लिए प्रोत्साहित किया।
जिला कलक्टर के आवास पर पहुंचे इन विद्यार्थी इस कार्यक्रम को लेकर बेहद उत्साहित नजर आए। उनका कहना था कि यहां आना उनके लिए वास्तव में ऐसा अनुभव है जिसकी कल्पना नहीं की जा सकती। इस दौरान फिफ्टी विलेजर्स संस्थान के डा.भरत सहारण, डा.ओमप्रकाश, डा.स्नेहा, रासीउमावि स्टेशन रोड. के प्रधानाचार्य चेनाराम चौधरी, जीयाराम बाना ने संस्थान की गतिविधियांे, इसकी स्थापना के बारे मंे विस्तार से जानकारी दी। इस कार्यक्रम मंे फिफ्टी विलेजर्स संस्थान के 70 विद्यार्थियांे ने शिरकत की। इस दौरान रसद विभाग के प्रवर्तन निरीक्षक कंवराराम, जिला कलक्टर के निजी सहायक सुमेरसिंह शेखावत भी मौजूद रहे। इस दौरान विद्यार्थियांे की ओर से विभिन्न सांस्कृतिक प्रस्तुतियां भी दी गई।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top