22वे दिन एडीएम और एएसपी ने ज्यूस पिलाकर तुड़वाया अनशन, महापड़ाव किया समाप्त 

पेट्रोल पम्प मामले में जांच बदली
बाड़मेर
सामाजिक कार्यकर्ता निखिल डे के बाड़मेर प्रवास व महापड़ाव मे शामिल होकर जिला कलेक्टर व जिला पुलिस अधीक्षक से मंगलवार को की गई वार्ता के बाद आन्दोलन मे नया मोड़ आया व प्रशासन ने भी इसे गम्भीरता से लेते हुए कलेक्ट्रेट के सामने दलितो का महापड़ाव 22 दिनो बाद समाप्त हुआ। 
बुधवार को सुबह प्रशासन से समझौता होने के बाद महापड़ाव स्थल पर अतिरिक्त जिला कलक्टर ओ.पी. विष्नोई और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रामेष्वरलाल मेघवाल ने अनषन पर बैठे मूलाराम गांधव और तांबलाराम सणाऊ को ज्यूस पिलाकर अनषन तुड़वाया। इससे एक दिन पहले मंगलवार की शाम को प्रशासन ने दलित अत्याचार निवारण समिति के प्रतिनिधि मंडल को वार्ता के लिए आमंत्रित किया जिस पर एक शिष्टमंडल प्रशासन से वार्ता के लिए एडीएम ओपी विश्नोई व एएसपी रामेश्वरलाल मेघवाल से मिला। शिष्टमंडल मे संयोजक उदाराम मेघवाल, सहसंयोजक लक्ष्मण बडेरा, वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता आदूराम मेघवाल, भूराराम भील, रामदास सांगेला, हरखाराम मेघवाल, सवाईराम मेघवाल, श्रवण चंदेल, मुलाराम पूनड़, पार्षद सोहन मंसुरिया छगनलाल मेघवाल शमिल हुए। प्रषासन और षिष्टमण्डल के बीच करीब एक घंटे तक वार्ता चली जिसमें समित के सभी मुद्धो पर सहमति बनी जिसमे प्रशासन से जुड़े तीन मुद्धे जो सनाउ मे प्रशासन द्वारा लगाया गया सरकारी जमीन का बोर्ड हटा दिया गया व धनाऊ मे विवादित भूखण्ड मे किया गया अतिक्रमण जब्त कर विवादित भू खण्ड को कुर्क करने का प्रशासन ने आश्वासन दिया। इस प्रकरण मे पूर्व मे नौ वाहन जब्त करने के आदेश के बाद सात वाहन जब्त कर लिए व दो वाहन जब्त करने शेष है जो जल्द जब्त करने की बात कही। एक और प्रकरण मे 6 मुल्जिम गिरफ्तार कर लिये एवं दूसरे प्रकरण मे अब तक 8 मुलजीम दोषी पाये है उसमे से 7 गिरफ्तार किये गये है तथा एक शेष है जिसका अनुसंधान जारी है और जो भी दोषी होगा उन्हे बकसा नही जायेगा। इसी प्रकार बावड़ीकला प्रकरण मे दोनो गंभीर प्रकरणो मे सभी मुलजीम गिरफ्तार किये जा चुके है और पूर्व मे सीआर नं.130/16 मे पुलिस ने एफआर लगाई थी जिस पर प्रषासन ने पुनः अनुसंधान शुरू करने की बात कही। सनाऊ के प्रकरण मे सुपारी देने व सुपारी लेने वाले मॉगीलाल महाजन व तनसिह को दोषी मानते हुए गिरफ्तारी के आदेश दिये जा चुके है। देदूसर प्रकरण मे एएसपी रामेश्वरलाल जॉच कर रहे है जबकि पुर्व जॉच अधिकारी विपिन शर्मा ने सभी मुल्जिमों को दोषी माना है। गुमाने का तला वाले प्रकरण मे चालान पेश किये जाने पर कुछ आपतियो दर्ज कराई जिस पर जॉच की जायेगी। वही केकूदेवी कालबैलिया के साथ दुष्कर्म व चार वर्षीय बालिका के साथ दुष्कर्म प्रकरण मे चालान पेश किये जा चुके है। हड़वा के मदन के साथ मारपीट मामले में छः मुलजीम गिरफ्तार कर लिये गये है। इसी प्रकार सीआर नम्बर 94/2016 कालूराम भील के पैट्रोल पम्प प्रकरण में समिति द्वारा जांच बदले की मांग की गई थी जिसे बदलकर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक को सौप दी गई है। 
बाकी बचे शेष प्रकरणो मे तेज गति से अनुसंधान हो रहा है व न्याय करने का भरोसा दिलाया व दलितो की जमीनो पर कब्जो के प्रकरणो मे उनको हक दिलाने के लिए पुरा भरोसा दिया गया है। वार्ता समझोते के बाद समाप्त हो गई और धरना स्थल पर बुधवार को जिले के प्रमुख दिलत जन प्रतिनिधियो की उपस्थिति मे एडीएम ओपी विश्नोई व एएसपी रामेश्रवरलाल मेघवाल आकर क्रमिक अनशन पर बैठे सनाऊ के पीडि़त तॉम्बलाराम व गॉधव के मूलाराम परिहार के जूस पिलाकर अनशन तुड़वाया। धरना स्थल पर एडीएम ओपी विश्नोई ने कहा कि जो प्रशासन के साथ समिति के पदाधिकारियो के साथ समझौता हुआ है उस पर प्रषासन आने वाले दिनों में खरा उतरेगा और प्रषासन से किसी भी समस्या के लिए कभी भी मिल कर फरियाद कर सकते है और पूरी ईमानदारी से न्याय मिलेगा। धरना स्थल पर एएसपी रामेश्वरलाल ने कहा कि पुलिस से सम्बन्धित काफी प्रकरणो मे कार्यवाही हो गई शेष बाकी प्रकरणो मे आरोपी गिरफ्तार कर लिये जायेगे। धरने को संबोधित करते हुए उदाराम मेघवाल ने कहा कि दलितो पर हुए शोषण, गम्भीर प्रकृति के अपराधियो व दुष्कर्म के व खातेदारी जमीनो पर कब्जा करने या भूखण्डो पर अतिक्रमण के सभी आरोपी समिति के आदोलन व जायज मॉगो के दर्जनो प्रकरणो को पुलिस ने कम समय मे निपटाया व सभी मुल्जिम व अपराधो को अंजाम देने मे काम लिये वाहनो को जब्त कर लिया है इसके लिये पुलिस प्रशासन का धन्यवाद ज्ञापित किया और आन्दोलन को तन मन व धन सहित सफल बनाने व टीम के रूप मे संगठित होकर संघर्ष मे सहयोग देने वालो को धन्यवाद देते हॅू। इसी अवसर पर सहसंयोजक लक्षमण बडेरा ने कहा की प्रशासन व पुलिस ने बड़ी गम्भीरता से दलितो के प्रकरणो मे सकारात्मक कार्यवाही की है एवं सभी बाहूबली अपराधियो के खिलाफ कार्यवाही करने की हिम्मत दिखाकर दलितों को न्याय दिलाया है वह काबिले तारिफ है और मै आषा करता हू कि भविष्य मे दलितो को कभी भी धरने पर बैठने की नौबत प्रशासन व पुलिस नही आने देगी ऐसी उम्मीद रखते है। इस मौके पर मेघवाल परिषद के मूलाराम मेघवाल, भील समाज अध्यक्ष भूराराम भील, जिला परिषद् सदस्य किसनलाल भील, रिटायर्ड थानेदार दुर्गाराम भील, मजदूर नेता रामदास सॉगेला, कॉग्रेस एससी विभाग अध्यक्ष श्रवण चंदेल, भाजपा नता सवाईराम मेघवाल, उपप्रधान कुटलाराम, आटी सरपचं रणजीतकुमार, मुलाराम पूनड़, पार्षद सोहन मंसुरिया, अर्जुन देवपाल, पचायत समिति सदस्य छगन मेघवाल, कॉग्रेस सेवादल के जिला अध्यक्ष नरसिगाराम बायतु, पुर्व सरपंच किसनाराम, प.स.सदस्य दलपत बालवा, कच्ची बस्ती पृकोष्ट के अध्यक्ष भैरूसिह फुलवारिया, पुर्व पार्षद मोहनलाल सोलंकी, वरिष्ठ समाजसेवी वगताराम मंसुरिया, चौलाराम मंसुरिया , मॉगाराम मंसुरिया, कालबेलिया समाज जिलाध्यक्ष मोडाराम, शिक्षाविद धर्माराम पंवार, आचार्य रूपाराम नामा, अचलाराम पंवार बायतु, किषनलाल गर्ग, कालुराम गर्ग, मोहनलाल गर्ग, ढुंढा पूर्व सरपंच बांकाराम नामा, गेमरारराम सनाऊ, रामाराम बामनिया, गोरखाराम कालबेलिया, शिवलाल बोस भीमडा, हरचंदराम सॉजटा, भंवरलाल पंवार, ताराराम पंवार माहबार, शिवलाल बोखा, गाजीराम गुमाने का तला, पुर्व पार्षद कालुराम भील, पेमाराम परमार, रिड़मलराम बालाच, शेराराम पन्नु जूना, टाभाराम, राधादेवी देदूसर, कुसटाराम जानसिह की बैरी, ओगड़राम, मथराराम आटी, चुतराराम मंसुरिया सोनाराम मंसुरिया, पूंजाराम पॉधी का निवाण, जोगाराम रोला, जोगाराम पंवार दुधवा, कबीराराम पंवार, कानाराम बालवा, नवाराम मंसुरिया, चॉपाराम मंसुरिया, पुनमाराम जसाई, ठाकराराम लीलड़, मदनलाल मंसुरिया, मागीलाल पॉचल, खीमाराम बोथिया, सागाराम, हजारीराम मंसुरिसा, केवलाराम रानीगॉव, ठाकराराम शंकराराम ढुंढा सहित बड़ी संख्या मे सामजिक कार्यकर्ता व जनप्रतिनिधी उपस्थित रहे। 

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top