विकास कार्याें में गुणवत्ता के साथ आमजन को राहत मिलेः गोयल
बाड़मेर जिला मुख्यालय पर ग्रामीण एवं पंचायतीराज मंत्री तथा प्रभारी मंत्री सुरेन्द्र गोयल ने विकास योजनाओ की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि विकास कार्याें में किसी तरह की अनियमितता बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
बाड़मेर, 16 अगस्त। विकास कार्याें मंे गुणवत्ता सुनिश्चित करने के साथ आमजन को राहत दिलाने के प्रयास किए जाए। अधिकारी एवं जन प्रतिनिधि आपसी सामजंस्य के जरिए बेहतरीन कार्य करें। राज्य सरकार की फ्लैगशीप योजनाआंे का प्रभावी रूप से क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जाए। बाड़मेर जिले के प्रभारी मंत्री सुरेन्द्र गोयल ने यह बात मंगलवार को कलेक्ट्रेट कांफ्रेस हाल मंे विभिन्न विभागांे की ओर से संचालित विकास योजनाआंे की प्रगति संबंधित समीक्षा बैठक के दौरान कही।
इस दौरान प्रभारी मंत्री सुरेन्द्र गोयल ने कहा कि जन प्रतिनिधि, अधिकारी एवं कार्मिक व्यक्तिगत रूचि लेकर स्वच्छ भारत मिशन मंे अधिकाधिक ग्राम पंचायतांे को खुले मंे शौच से मुक्त कराने का प्रयास करें। उन्हांेने कहा कि महात्मा गांधी नरेगा मंे नवाचार के साथ अधिकाधिक लोगांे को रोजगार दिलाया जाए। उन्हांेने कहा कि महात्मा गांधी नरेगा योजना मंे ग्रेवल रोड़ एवं स्थाई प्रवृति के पक्के कार्याें को प्राथमिकता देकर स्थाई परिसंपतियां सृजित की जाए। उन्हांेने पानी एवं बिजली के साथ अन्य विकास परियोजनाआंे की समीक्षा करते हुए अपेक्षित प्रगति लाने के निर्देश दिए। उन्हांेने कहा कि विकास कार्याें मंे गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाए। इसमंे किसी तरह की कौताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्हांेने जन प्रतिनिधियांे एवं अधिकारियांे को नियमित तौर से विकास कार्याें का निरीक्षण करके कमियां उजागर करने के निर्देश दिए। उन्हांेने कहा कि विकास कार्याें मंे अगर किसी तरह की अनियमितता पाई गई तो संबंधित अधिकारियांे के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्हांेने राजस्थान संपर्क पोर्टल दर्ज अधिकाधिक प्रकरणांे को निस्तारण कर आमजन को राहत पहुंचाने के निर्देश दिए।
बाड़मेर जिले के प्रभारी सचिव राजीवसिंह ठाकुर ने कहा कि विकास योजनाओं की राशि वास्तविक रूप से जरूरत होने एवं जन कल्याणकारी कार्याें पर ही व्यय की जानी चाहिए। उन्हांेने कहा कि अधूरे कार्याें को प्राथमिकता से पूर्ण करवाया जाए। उन्हांेने मनरेगा के तहत सामग्री एवं श्रम का अनुपात 60ः40 रखने के साथ बजट घोषणा मंे वर्णित कार्याें के साथ स्थाई प्रवृति के कार्य करवाने के निर्देश दिए। 
इस दौरान बाड़मेर-जैसलमेर सांसद कर्नल सोनाराम चौधरी ने विकास योजनाआंे से अधिकाधिक लोगांे को लाभांवित करवाने के लिए समन्वित प्रयास करने की जरूरत जताई। उन्हांेने कहा कि प्रत्येक घर मंे विद्युत उपलब्ध करवाने वाली महत्वाकांक्षी दीनदयाल विद्युतीकरण योजना के इस माह टेंडर होने की संभावना है। उन्हांेने कहा कि मई 2018 तक प्रत्येक घर मंे विद्युत कनेक्शन उपलब्ध करवाने की कार्य योजना तैयार की गई है। सांसद चौधरी ने इस दौरान विकास योजनाआंे की प्रगति की संबंधित अधिकारियांे से जानकारी ली। 
संसदीय सचिव लादूराम विश्नोई ने अलग-अलग पंचायत समितियांे मंे अलग-अलग प्रकार के टांकांे के निर्माण का मामला उठाया। उन्हांेने कहा कि सोलर पंप के कार्याें को प्राथमिकता से स्वीकृत कराने के साथ पेयजल परियोजनाआंे को निर्धारित समय पर पूरा करवाने का प्रयास किया जाए। बैठक के दौरान टांका निर्माण के मामले मंे जन प्रतिनिधियांे की ओर से एक ही डिजाइन तैयार करवाने तथा अधिकाधिक लोगांे को लाभांवित करवाने का मामला उठाया गया। इस पर प्रभारी मंत्री सुरेन्द्र गोयल एवं प्रभारी सचिव राजीवसिंह ठाकुर ने राज्य स्तर से एक टीम भिजवाने के उपरांत जांच करवाकर इसकी डिजाइन तय करने का भरोसा दिलाया। 
चौहटन विधायक तरूणराय कागा ने चौहटन क्षेत्र मंे मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के तहत परंपरागत जल संग्रहण कार्य करवाने की जरूरत जताई। विधायक कागा के साथ प्रधान कुंभाराम सेंवर ने चौहटन एवं सेड़वा क्षेत्र मंे मनरेगा मंे बेरियांे का निर्माण करवाने का मामला उठाया। उन्हांेने कहा कि इसके लिए राज्य स्तर से विशेष रियायत दिलाई जाए। इस दौरान चारागाह एवं ओरण-गोचर की भूमि पर हुए अतिक्रमणांे को चिन्हित करके उसकी सूची आगामी बैठक मंे उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए। बैठक के दौरान शिव विधायक मानवेन्द्रसिंह ने कहा कि लगातार अनियोजित रूप से हुई तालाबांे की खुदाई के कारण उनकी जल संग्रहण क्षमता प्रभावित हो गई है। उन्हांेने मनरेगा योजनान्तर्गत अन्य विकास कार्याें को डवटेल करवाने तथा जिले से बाहरी नियुक्त एएनएम के बाड़मेर जिले मंे स्थानांतरण करवाने की जरूरत जताई। बायतू विधायक कैलाश चौधरी ने बाड़मेर जिले मंे चारागाह की भूमि पर होने वाले अतिक्रमणांे एवं श्रम कल्याणकारी योजनाआंे की 50 हजार से अधिक की राशि श्रमिकांे के खाते मंे पेन कार्ड की जरूरत की वजह से जमा नहीं होने का मामला रखा।
सिवाना विधायक हमीरसिंह भायल ने पेयजल परियोजनाआंे को निर्धारित समयावधि मंे पूर्ण करवाने, लूणी नदी मंे औद्योगिक इकाइयांे का प्रदूषित पानी का बहाव रूकवाने, कृषि आदान संबंधित अनुदान जारी करवाने का मामला उठाया। 
बैठक के दौरान जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने जिले मंे विकास योजनाआंे के प्रभावी क्रियान्वयन एवं आमजन को राहत पहुंचाने के लिए दिए गए निर्देशांे की पालना करने का भरोसा दिलाया। जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल.नेहरा ने जिले मंे चल रही विभिन्न विकास योजनाआंे की प्रगति के बारे मंे विस्तार से जानकारी दी। इस दौरान अतिरिक्त जिला कार्यक्रम समन्वयक सुरेश कुमार दाधीच ने महात्मा गांधी नरेगा, अधीक्षण अभियंता जलग्रहण हीरालाल अहीर ने मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान, जलदाय विभाग के अधीक्षण अभियंता नेमाराम परिहार, शंकरलाल ने पेयजल परियोजनाआंे, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा.एस.के.एस.बिष्ठ ने चिकित्सा विभाग तथा जिला रसद अधिकारी राकेश शर्मा ने रसद विभाग की विभिन्न योजनाआंे की प्रगति से अवगत कराया। 
बैठक के दौरान सांसद कर्नल सोनाराम चौधरी, जिला प्रमुख श्रीमती प्रियंका मेघवाल, संसदीय सचिव लादूराम विश्नोई, शिव विधायक मानवेन्द्रसिंह, सिवाना विधायक हमीरसिंह भायल, चौहटन विधायक तरूणराय कागा, बायतू विधायक कैलाश चौधरी, पंचायत समितियांे के प्रधानांे के साथ विभिन्न विभागीय अधिकारी उपस्थित थे। इस दौरान जोधपुर एवं पाली जिले से आ रहे प्रदूषित पानी को रूकवाने, आपणी योजना आपणो विकास,नई ग्राम पंचायतांे का राजस्व रिकार्ड दुरस्त करवाने, कृषि अनुदान नहीं मिलने समेत विभिन्न मामलांे पर विचार-विमर्श किया गया।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top