बाड़मेर।  12वें दिन भी जारी रहा दलित महापड़ाव, मानव श्रृखला बनाकर किया विरोध प्रदर्शन 
बाड़मेर।
दलित उत्पीड़न व अत्याचारों के आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर दलित महापड़ाव लगातार 12वें दिन भी जारी रहा। दलित अत्याचार निवारण समिति बाड़मेर के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने जिला कलक्टर कार्यालय के आगे विरोध प्रदर्शन कर आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग की।
उदाराम मेघवाल के नेत्तव में जिला कलक्टर कार्यलय के उपर फहराते राष्ट्रीय ध्वज के सम्मुख मानव श्रंृखला बनाकर, गुण्डाराज जगलराज, सामन्तवांद से आजादी पाने तथा जय भीम के नारों के साथ जमकर नारेबाजी की तथा आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग की। 
अवकाश के दिन बड़ी भारी संख्सा में प्रदर्शनकारियों ने प्रदर्शन किया। इनको सम्बोधित करते हुये संयोजक उदाराम मेघवाल ने कहा कि पुलिस अपराधियों के विरुद्व धीमी व अपराधियों को बचाने हेतु पुलिस की लीपापोती वाली कार्यवाही कर रही है, जिससें बाड़मेर जिले के दलितों में भारी रोष व्याप्त है। जानलेवा हमले, सामुहिक दुष्कम, शोषण, उत्पीड़न जैसे गंभीर मामलों में पुलिस ने प्रभावी कार्यवाही नहीं की जिससें अपराधियों का हौसला बढ़ रहा है। भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष आदुराम मेघवाल ने कहा कि दलित व कमजोर वर्ग पर अत्याचार करने वालों को जिला प्रशासन द्वारा सख्त कार्यवाही करनी चाहिए। घायल व विकलांग दलित पीड़ितों के पुर्नवास हेतु आर्थिक सहायता की मांग भी की। मजदूर नेता लक्ष्मण बडेरा ने बताया कि सरकार की सामाजिक सांख बचाने में अधिकारी प्रभावी व सक्षम कार्यवाही करें।
जिले में अपराधों में बढ़ोतरी तथा पुलिस द्वारा आदतन अपराधियों के विरुद्व कमजोर कार्यवाही करना शर्मनाक है। भीमड़ा के संरपच जेठाराम कोडेचा ने कहा कि दलित असुरक्षित है जिम्मेदार अधिकारी अपना कतव्र्य निभाये। बाड़मेर पंचायत समिति के उप प्रधान कुटलाराम ने कहा कि दलितो पर हो रहे अत्याचारों से लगता है कि कानुन का राज स्थापित करने में सरकार नाकाम हो रही है। बसपा नेता चन्द्रप्रकाश कोडेचा ने कहा कि भाजपा की वसुधरा सरकार दलितों पर अत्याचार रोकने में विफल रही है। सरकार के विरुद्व पुरे जिलों में आन्दोलन फैलाया जायेगा। जिला मेघवाल परिषद के उपाध्यक्ष मुलाराम मेघवाल ने कहा कि प्रशासन के सामने 12 दिन से महापड़ाव देकर बेठे दलितों की अनदेखी करना अन्याय है। प्रदर्शन में पार्षद सोहनलाल, तगाराम खती, लुभाराम कोडेचा, हिराराम कोडेचा, श्रवण सेजु, सवाराम कोडेचा, हंजारीराम मन्सुरिया, प्रवीण बृजवाल, रसूल खां राजड़, शेराराम पन्नु, वगताराम मन्सुरिया, सुराराम, गाजीराम, राजुराम, भरत, ओमप्रकाश, पं.स.सदस्य प्रमिला, छगन मेगवाल, लाभुराम पंवार, कानाराम बालवा, टिकमाराम बालवा, जोगराजसिंह, टाउराम बोस, मुलाराम पुनड़, ताम्बलाराम, प्रतापाराम, मुलाराम, जगदीश पंवार, खेतेश कोचरा सहित कई लोग उपस्थित थें।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top