चुतरसिंह प्रकरण की जांच सीबीआई से कराने की मांग
बाड़मेर 
शिव से भाजपा विधायक मानवेन्द्रसिंह ने जैसलमेर पुलिस फायरिंग में एक युवक की मौत के मामलें की जांच सीबाआई से करवाने की पैरवी करते हुए कहा कि पुलिस के बयानों में विरोधाभास की स्थिति है। मुख्यमंत्री और गृहमंत्री को लिखे पत्र में मानवेन्द्रसिंह ने बताया कि घटना के बाद पुलिस अधिकारियों द्वारा उनकों दी गयी जानकारी और इस मामलें में दर्ज मुकदमें में वर्णित तथ्यों में जमीन आसमान का अंतर है। मानवेन्द्रसिंह ने कहा कि इस व्यवहार से मामलें में पुलिस का दोहरा चरित्र स्पष्ट झलकता है।
मानवेन्द्रसिंह ने लिखा कि उनकी जानकारी के अनुसार मृतक चुतरसिंह के विरूद्ध चोरी जैसे सामान्य प्रवृति के अपराधिक मामले दर्ज थे। घटना के दिन भी चुतरसिंह और उसके साथियों द्वारा पुलिस दल पर हमला किया गया हो या क्रास फायरिंग हुई हो, ऐसी कोई बात ना तो सामने आयी है और ना ही पुलिस द्वारा कोई ऐसी कोई जानकारी दी गयी है। पुलिस ने इस मामलें में चुतरसिंह और उसके साथियों के पास से कोई हथियार भी बरामद किया है। 
मानवेन्द्रसिंह ने लिखा कि उपरोक्त तथ्यों के आधार पर उक्त घटना में पुलिस द्वारा फायरिंग करना एक गैर जिम्मेदारना कृत्य है और हत्या का विषय बनता है। 
मानवेन्द्रसिंह ने मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में बताया वर्तमान माहौल में यह एक यक्ष प्रश्न है कि जब कानून के रक्षक ही हत्यारें बन जाए, तो आम नागरिक और लोक शांति का क्या होगा। उन्होनें कहा कि ऐसे संवेदनशील मामलों में पुलिस के आला अधिकारियों के गैर जिम्मेदाराना रवैयें के प्रदेश के शांतिपूर्ण और सौहार्दपूर्ण माहौल में तनाव की स्थितियां उत्पन्न हो गयी है। 
मानवेन्द्रसिंह ने पत्र में लिखा कि इस प्रकरण में पुलिस के दोहरे रवैये के कारण आम जनमानस इस प्रकरण की जांच की स्वतंत्र एंजेसी से करवाना चाहता है। ऐसे में जनभावनाओ को देखते हुए मामलें की जांच सीबीआई को सौंपी जाए।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top