ग्रामीणजन बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने तथा स्वच्छता बनाए रखने पर विषेष ध्यान दें -जिला कलक्टर शर्मा
जैसलमेर
जिला कलक्टर मातादीन शर्मा ने ग्रामीणों से आह्वान किया कि रात्रि चैपाल में अधिकारियों ने सरकार की विविध लाभदायी़ विकास एवं जन कल्याणकारी योजनााओं की जो जानकारी दी हैं, उसका वे भरपूर लाभ उठावें। उन्होंने कहा कि रात्रि चैपाल आयोजन के पीछे राज्य सरकार का उद्धेष्य है कि अधिकारी व ग्रामीण एक मंच पर बैठ कर गांव की समस्याओं का रुबरु समाधान करें। उन्होंने कहा कि यह चैपाल ग्रामीणों के घर बैठे गंगा आई समान है एवं उसका वे पूरा-पूरा लाभ ले तथा अपनी व्यक्तिगत व सार्वजनिक समस्याओं को रख कर उसका समाधान करावें। जिला कलक्टर ने रासला ग्रामवासियों को सहयोग की भावना रखते हुए सकारात्मक सोच बनाए रखते हुए बालिका षिक्षा बढ़ावा देने के साथ ही भारत स्वच्छ मिषन के तहत गांव के वातावरण को अत्यंत साफ-सुथरा बनाए रखने की अपील की। जिला कलक्टर ने रात्रि चैपाल में अनुपस्थित पाए गए कौषल विभाग के जिला स्तरीय अधिकारी को गंभीरता से लिया।
रासला रात्रि चैपाल के दौरान मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद नारायणसिंह चारण ,उपखण्ड अधिकारी फतेहगढ़ रणसिंह , तहसीलदार फतेहगढ़ तुलछाराम विष्नोई, विकास अधिकारी लादूराम विष्नोई , अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सज्जनसिंह , उपवन संरक्षक श्रीमती ख्याति माथुर , मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. एन.आर.नायक ,सरपंच ग्रामपंचायत रासला श्रीमती मूलीदेवी के साथ ही कई विभागों के जिला स्तरीय अधिकारीगण और अच्छी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।
जिला कलक्टर के समक्ष चैपाल में उपस्थित ग्रामीणजनों ने मुख्य रुप से पेयजल एवं वि़़द्युत संबंधी समस्याओं के बारे में प्रार्थना-पत्र पेष किए। इस पर जिला कलक्टर ने मौके पर ही संबंधित जलदाय और विद्युत विभाग के अधिकारीगण को निर्देषित किया कि वे इनके द्वारा प्रस्तुत की गई मूलभूत समस्याओं का तत्काल समाधान कर पालना रिपोर्ट शीघ्र पेष करें। गौरतलब हैं कि उन्होनें जिलाधिकारियों को गंभीरता से लेते हुए कहा कि सभी अधिकारीगण इस बात का खास ध्यान रखें कि चैपाल के दोरान जरुरमंद ग्रामीणों को केवल संक्षिप्त में उन सरकारी लाभदायी/जनोपयोगी योनाओं की जानकारी प्रदान करे जिनका उन्हें सीधे ही लाभ मिल सकें।
जिला कलक्टर शर्मा ने ग्रामपंचायत रासला में आयोजित चैपाल के दौरान ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए कहा कि वर्तमान में षिक्षा का अधिक सर्वोच्च स्थान है इसलिए हमें बालिकाओं को अधिकाधिक षिक्षा देने के लिए आगे आकर विद्यालयों में भेजना चाहिए क्यों की ये बालिकाएं आगे जाकर अपने घरों में अच्छी षिक्षित बहुए बन कर अपने बच्चों को षिक्षित एवं सुसंस्कार बना कर अपने देष व समाज को विकसित कर सकेगी। जिला कलक्टर ने बालिका षिक्षा को बढ़ावा दिये जाने पर विषेष जोर दिया।
जिला कलक्टर शर्मा ने ग्रामीणों को कहा कि वर्तमान युग क्म्प्यूटर का है तथा आजकल संपूर्ण कार्य आॅनलाईन के जरिए किया जा रहा है। उन्होंने भामाषाह कार्ड के महत्व के बारे में जानकारी देते हुए सभी ग्रामीणों को विषेष रुप से आधार व भामाषाह कार्ड अनिवार्य रुप से बनाने एवं उसका पंजीयन कराने के सथ बैंक में अपने-अपने खाते समय पर खुलवाने की अपील की एवं कहा कि अब सरकार की योजनाओं का लाभ तभी मिलेगा जब उनके भामाषाह कार्ड बने होगें। इसके साथ ही योजनाओं का सीधा पैसा भी भामाषाह के माध्यम से उनके खातों में सीधे जमा होगें। उन्होंने स्वच्छ भारत अभियान की चर्चा करते हुए सभी घरों में शौचालय बना कर उसका पूर्ण उपयोग करने तथा रासला को शीघ्र ही शतप्रतिषत खुले में शौचमुक्त पंचायत बनाने की नसीहत दी।
उन्होंने ग्रामीणों को विष्वास दिलाया और प्रसन्नता जाहिर की कि रासला ग्राम पंचायत के वाषिंदें जागरुक है जिन्होंने इस चैपाल में बढ़ च़ढ कर अधिकाधिक संख्या में अपनी समस्याएं रखी। उन्होने कहा कि जो भी प्रार्थना-पत्र समस्याओं के संबंध में दिया गया है, उनको जिला मुख्यालय पर राज. सम्पर्क पोर्टल में दर्ज कर संबंधित विभाग को आवष्यक कार्यवाही बाबत प्रेषित किए जाएगें एवं उनका निस्तारण नहीं होता तब तक इसकी प्रभावी माॅनेटरिंग की जाएगी। जिला कलक्टर ने ग्रामीणों को कहा कि यदि कोई जिला स्तरीय अधिकारी इन समस्याओं पर त्वरित कार्यवाही कर समाधान नहीं करता हैं तो वे जिला कलेक्ट्रेट कार्यालय आकर सीधे ही उनसे मिल सकता है।
रासला रात्री चैपाल के अवसर पर उपखण्ड अधिकारी फतेहगढ़ रणसिंह ने फोत हुए लालराम के मृत्यु संबंधी मामले को दृष्टिगत रखते हुए मौके पर पटवारी के माध्यम से म्यूटेषन में लेकर तत्काल पटवारी को उसका मृत्यु प्रमाण-पत्र तैयार करने के निर्देष दिए। उन्होनंे इस प्रकार के मामलों को पटवारी/ग्रामसेवक तथा सरपंच को व्यक्तिषः रुचि लेकर सकारात्मक सौच के साथ त्वरित गति से वंाछित प्रमाण-पत्र जारी कर निस्तारण करने को कहा। उन्होने ग्रामीणजनों को ग्रामपंचायत मुख्यालयों पर लग रहे ग्रामसभा षिविरों और आगामी 28 जुलाई से 31 जुलाई तक की अवधि के लिए लगाये जा रहे भामाषाह सुविधा एवं समाधान षिविर कार्यक्रमों का पूरा-पूरा लाभ उठाने को कहा।
चैपाल के दौरान पंचायत समिति सदस्य रासला भवानी शंकर शर्मा ने जिला कलक्टर के समक्ष राजकीय उच्च माध्यमिक वि़द्यालय रासला में व्याख्याता लगाने की मांग रखी तो जिला कलक्टर ने वहां उपस्थित जिला षिक्षाधिकारी प्रतापसिंह कसवा को व्याख्याता का पद शीघ्र भरने को कहा। ताकि शैक्षणिक कार्य प्रभावित नहीं हो। इसी तरह से रासला,अचला,कराड़ा ,सांवता, नया अचला, लाला तथा भोपा एवं आस पास के गांवों एवं ढांणियों से रात्रि चैपाल में पहुंचे ग्रामीणजनों दुर्जनंिसंह ,सोनाराम ,भंवरुराम मोतीसिंह ,भोमसिंह ,पदमसिंह वगैरह ने वि़द्युत वाॅल्टेज बढ़ाने ,प्रभावित पेयजल व्यवस्था को नियमित एवं सुचारु बनाए रखने के लिए खराब पड़ी जीएलआर ,पाईल लाईन तथा पुरानी टंकियों को ठीक कराने और मेहराजोत/अचलसिंह की ढांणी निवासी देवीसिंह,छबरसिंह,रुघनाथ्सिंह,गोपालसिंह भेरुसिंह ने विद्युत कनेक्षन सुविधा शीघ्र देने इत्यादि की समस्याओं बाबत में अपने-अपने प्रार्थना पत्र जिला कलक्टर को मौके पर दिए तो जिला कलक्टर ने इस संबंध में संबंधित विभागीय अधिकारियों को त्वरित कार्यवाही कर उन्हें राहत पहुंचाने के निर्देष प्रदान किए। जिला कलक्टर ने वि़द्युत विभाग के अभियंता को निर्देष दिए कि रासला में वाॅल्टेज की कमी को दृष्टिगत रखते हुए यहंां शीघ्र एक नया उच्चक्षमता का अच्छा ट्रांसफोर्मर लगाया जावें। अचलसिंह की ढांणी में हैण्डपंप लगाने तथा नया कराड़ा में जीएलआर में पर्याप्त पानी की जलापूर्ति करने के निर्देष दिए।
इस मौके पर जिला सांख्यिकी सहायक निदेषक डाॅ. बृजलाल मीणा ने जिले में संचालित भामाषाह योजना की ग्रामीणों को विस्कार जानकारी प्रदान की। उन्होने चैपाल में मौजूद लोगों को माईक्रो एटीम से धनराषि निकासी व्यवस्था की जानकारी दी तथा कहा कि अधिकाधिक ग्रामीणजन राषि इस मषीन से उठावे। उन्होंने भामाषाह एवं आधार का नामांकन समय पर करवाने का अनुरोध किया ताकि लाभार्भी को उनके हक का पेैसा उनके बैक खातों में जमा हो सकें। उन्होंने काॅ-आपरेटिव बैंक में खाते खुलवाने को कहा कि चूंकि उन्हें राज्य सरकार से मिलने वाली राषि सीधे ही उनके खातों में जमा हो जायें।
चैपाल के दौरान उपवन संरक्षक श्रीमती ख्याति माथुर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सज्जनसिंह, अधीक्षण अभियंता विद्युत एम.एल.जाट , पी.डब्ल्यू.डी एस.के.कालनी ,, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.एन.आर.नायक , संयुक्त निदेषक पषुपालन विभाग डाॅ0 मलखान सिंह मीणा ,जिला रसद अधिकारी औंकारसिंह कविया ,उपनिदेषक कृषि विस्तार राधेष्याम नारवाल , सहायक निदेषक सांख्यिकी डाॅ.बी.एल.मीणा , समाज कल्याण अधिकारी तुलछाराम चैधरी , उपनिदेषक,महिला एवं बाल विकास श्रीमती स्नेहलता चैहान , जिला षिक्षा अधिकारी प्रतापसिंह कसवा तथा महाप्रबन्धक जिला उद्योग केन्द्र सी.एम गुप्ता, जिला रोजगार एवं श्रम कल्याण अधिकारी भवानी प्रताप चारण ने अपने-अपने विभाग की योजनाओं की जानकारी ग्रामीणों को दी एवं इसका लाभ उठाने का आग्रह किया। सरपंच रासला श्रीमती मूलीदेवी ने विष्वास दिलाया कि आगामी दो माह में सभी घरों में शौचालय का निर्माण शीघ्र ही करने के प्रयास करेगे एवं उसका सदुपयोग कर पंचायत को शौचमुक्त करेगें। चैपाल के दौरान रात्री में रासला विद्यालय प्रांगण में स्वच्छ भारत मिषन के तहत खुले में शौच करने से होने वाले नुकसान तथा घर-घर में टाॅयलेट होने की महत्ता के बारे में गणपत जोषी द्वारा प्रोजेक्टर के माध्यम से ग्रामीणों को जानकारी प्रसारित कर लाभान्वित किया गया।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top