जैसलमेर में 'ऑपरेशन मुस्कान' के तहत 7 बच्चों को कराया गया मुक्त
जैसलमेर 
राजस्थान पुलिस ने ऑपरेशन मुस्कान द्वितीय के तहत मानव तस्करी रोधी यूनिट के साथ संयुक्त कार्रवाई करते हुए जैसलमेर से सात बच्चों को बालश्रम से मुक्त कराया।
पुलिस अधीक्षक जैसलमेर गौरव यादव ने बताया कि बालश्रम की रोकथाम और बालकों का संरक्षण, देखभाल तथा पुर्नवास के संबंध में यह कार्यवाही की गई. इसके तहत जैसलमेर में स्थित ढाबों, रेस्टोरेंट, मोटर गैराज, पत्थर काटने वाले कारखानों, मिष्ठान भंडारों, चाय की दुकानों पर बाल श्रमिकों की तलाश के दौरान सात बाल श्रमिकों को मुक्त कराया गया. इस संबंध में विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया गया है.
विश्व श्रम संगठन पर एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार आज भी विश्व में लगभग 16 करोड़ अस्सी लाख बच्चे बाल श्रमिक की जिंदगी जीने को मजबूर हैं. इनमें से आठ करोड़ पचास लाख बच्चे खतरनाक प्रवृति के कामों में संलिप्त हैं. हालांकि इस संख्या में कमी दर्ज की गई है. वर्ष 2000 में कुल बाल श्रमिकों की संख्या 24 करोड़ 60 लाख और खतरनाक कार्यो में शामिल बच्चों की संख्या 17 करोड़ 10 लाख थी. दुर्भाग्यपूर्ण है कि एशिया और प्रशांत देशों में आज भी सर्वाधिक बाल श्रम का इस्तेमाल किया जा रहा है। इन देशों में बाल श्रमिकों की संख्या लगभग सात करोड़ 80 लाख के करीब है.

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

 
HAFTE KI BAAT NEWS © 2013-14. All Rights Reserved.
Top